डीपी यादव के सामने अपना किला बचाने की चुनौती

डीपी यादव के सामने अपना किला बचाने की चुनौती

By: | Updated: 01 Mar 2012 08:33 AM


लखनऊ: बसपा
से निकाले गए पश्चिमी उत्तर
प्रदेश के बाहुबली नेता धर्म
पाल यादव उर्फ डीपी यादव
बदायूं जिले के सहसवान
विधानसभा सीट से अपनी पार्टी
राष्ट्रीय परिवर्तन दल से
चुनाव मैदान में हैं.

यादव-मुसलमान
बाहुल्य इस सीट पर यादव को
समाजवादी पार्टी और बसपा
उम्मीदवारों से बेहद कड़ी
टक्कर मिल रही है. 

यादव
ने सहसवान सीट पर पिछला चुनाव
2007 में ही बनाई अपनी पार्टी
रापद से लड़कर सपा उम्मीदवार
ओंकार सिंह यादव को 17 मतों से
हराया था. बाद में उन्होंने
बसपा में अपनी पार्टी का विलय
कर लिया था.

बसपा नेतृत्व
ने 2012 विधानसभा चुनाव से पहले
उन्हें सहसवान सीट से
प्रत्याशी घोषित किया, लेकिन
बाद में छवि सुधारने की कोशिश
में उनका टिकट काट दिया गया.
यादव ने सपा में ठौर तलाशने
की कोशिश की लेकिन वहां भी
निराशा हाथ लगने के बाद एक
बार फिर रापद से मैदान में
उतर गए.

दलबदल का इतिहास

यादव
का दलबदल का इतिहास रहा है. 1991
में सपा से विधायक चुनकर
मुलायम सिंह यादव की सरकार
में पंचायती राज मंत्री बने.
उसके बाद उन्होंने बुलंदशहर
से सपा प्रत्याशी के रूप में
1993 और 1996 में भी जीत दर्ज की. 

बाद
में साल 2002 में वह अल्प समय के
लिए भाजपा में भी शामिल हुए.
साल 2009 में उन्होंने बसपा के
टिकट पर बदायूं सीट पर लोकसभा
चुनाव भी लड़ा.

सहसवान
में समीकरण


सहसवान सीट
पर कुल 3.52 लाख मतदाता है.
जातिगत समीकरणों की बात करें
तो सबसे ज्यादा 80 हजार
मुसलमान, 62 यादव, 45 हजार दलित, 31
हजार वैश्य, 32 हजार मौर्य, 20
हजार ब्राह्मण, 20 हजार ठाकुर
मतदाता शामिल हैं. 

परिसीमन
से पहले यह सीट यादव बाहुल्य
हुआ करती थी लेकिन अब यहां
सबसे ज्यादा संख्या मुसलमान
मतदाताओं की हो गई है. इसे
देखते हुए भाजपा ने मुसलमान
उम्मीदवार आलम को तो बसपा ने
मीर हादी अली को मैदान में
उतार दिया. 

इलाके में
सवर्ण मतदाताओं की संख्या के
मद्देनजर कांग्रेस ने
ब्राह्मण जाति के योगेंद्र
कुमार गर्ग को चुनावी मैदान
में उतारा है. परिसीमन के बाद
बदली परिस्थितियों में एक
बार फिर यादव का मुख्य
मुकाबला सपा प्रत्याशी
ओंकार सिंह से ही माना जा रहा
है, जो यादव वोटों में
हिस्सेदारी के साथ अगर
मुसलमान वोटों में सेंधमारी
करने में कामयाब रहे तो यादव
का विधानसभा पहुंचने का सपना
चूर हो जाएगा.




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story सीजफायर उल्लंघन: भारत ने पाक डिप्टी हाई कमिश्नर को तलब कर जताया विरोध