थर्ड फ़्रंट का खुला पत्र देश के नाम

By: | Last Updated: Monday, 3 March 2014 11:45 AM

नमस्कार,

 

मैं “थर्ड (क्लास) फ़्रंट बोल रहा हूँ!

 

कुल मिला कर मैं एक राजनीतिक मज़ाक़ हूं जो पहली बार आपके साथ 1989 में हुआ था. तब हम/हमारे राज जी करप्शन के बोफ़ोर्स पर चढ़कर आप तक आये थे. इस बार घोड़ा सेक्यूलरिज़्म है और हमने अपने घोड़े पर मोदी के खिलाफ मुलायम को सवार किया है. क्योंकि गुजरात दंगे तो दंगे थे और जो मुज़फ़्फ़रनगर में हुआ वो हमारे ही तरह एक मज़ाक़ था! मैं सेक्यूलर हूं और इसे साबित करने के लिए बताता चलूं कि मेरे सेक्यूलरिज़्म की परिभाषा जुपिटर से ली गई है. उसी सेक्यूलरिज़्म की परिभाषा पर हम भारत में चुनाव लड़ेगें (in the name of democracy) और जैसे की इतिहास गवाह है आप हमें वोट भी देंगे!

 

मोदी, राहुल और केजरीवाल सारे महत्वाकांक्षी हैं और इन सबको प्रधानमंत्री बनना है और मुझे उन्हें ऐसा करने से रोकना हैं. मुझ पर भी पीएम पद की महत्वकांक्षा का शक मत करिएगा क्योंकि इसके पीछे मेरी मंशा बस उन्हें रोकने की है. मुझे प्रधानमंत्री नहीं बनना और ये मानने के लिए आपके पास दो कारण हैं- 1. हमारी पहली सरकार जो 1989-1991 तक थी उसके दो साल से भी कम के शासन में उस सरकार में महज़ दो ही प्रधानमंत्री बने! 2. हमारी दूसरी सरकार जो 1996-1998 तक थी उसके भी दो साल से कम के शासन में महज़ दो ही प्रधानमंत्री बने! दो प्रधानमंत्रियों के अपवाद को तोड़ते हुए इस बार आंकड़ा कुल 11 का है पर हम पर आप प्रधानमंत्री पद की महत्वकांक्षा का शक ना ही करें तो अच्छा होगा!

 

मेरे कॉमन मिनिमम प्रोग्राम की ख़ास बात ये है की ये बीजेपी और कांग्रेस के प्रोग्रामों की तरह ही कामन है, मिनिमम है और ये भी की ये एक प्रोग्राम है. और रंग चाहे लाल हो या हरा विचारधारा के स्तर पर हम कर्नाटक से कलकत्ता तक एक हैं और मैं वादा करता हूं कि मैं ग़रीब और वंचितो की लड़ाई लड़ूंगा. वैसे ही जैसे टाटा के लिए सिंगूर और नंदीग्राम में लड़ी थी, वैसे ही जैसे पास्को के लिए ओड़िसा में लड़ी थी, वैसे ही जैसे पता नहीं कैसे और किस-किस के लिए पर मैं लड़ूंगा ज़रूर!

 

मुझमें गठबंधन को बनाने और संभालने की दैवीय शक्ति है. जहां बीजेपी और कांग्रेस बाकी पार्टियों को गठबंधन में लाती हैं वहीं मैंने कभी बीजेपी तो कभी कांग्रेस को मेरे साथ गठबंधन में लाया है. बावजूद इसके आपके पास मुझे तीसरा मोर्चा मानने के तमाम कारण हैं और नहीं मानने का कोई कारण नहीं. पिछले दो बार की तरह इस बार भी मेरी लड़ाई बीजेपी, कांग्रेस और उन तमाम दलों के साथ है जो मेरे साथ नहीं है पर रिज़ल्ट आने के बाद मेरे मिजाज़ पर निर्भर करता है कि मैं साम्प्रदायिकता को रोकने के लिए बीजेपी का समर्थन लूं या नहीं, भ्रष्टाचार को रोकने के लिए कांग्रेस का समर्थन लूं या नहीं और भारत को विश्व शक्ति बनाने के लिए बाकी दलों से समर्थन लूं या नहीं. कुल मिला के मैं समर्थन चाहे जिस किसी का भी लूं पर हूं तो मैं थर्ड फ़्रंट ही!

 

और अंत में मैं आपको वादा करता हूं क्योंकि जैसे की आपको पता है कि देश वैकल्पिक आर्थिक नीति से नहीं वादों से चलता है. तो जैसे बीजेपी की आर्थिक नीति कांग्रेस से बिल्कुल अलग नहीं उसी तरह हमारे वादे किसी से अलग नहीं फिर भी मैं आपसे वादा करता हूं! आपको मेरे वादे पर इसलिए भी भरोसा होना चाहिए क्योंकि हमारा चाहे किसी चीज़ का रहा हो या नहीं लेकिन वादों का स्वर्णिम इतिहास रहा है!

 

अब आपको लग रहा होगा की 11 पार्टियों का बना थर्ड फ़्रंट आपको सिंगुलर मतलब एकवचन यानि मैं में क्यों चिट्ठी लिख रहा हुं? जी आप भारतीय राजनीति का वर्तमान और इतिहास दोनों उठा, बिठा, लिटा कर देख लीजिए आप यानि जनता हम में विश्वास नहीं करते. अंततः आपका विश्वास मैं में दिखता है और इसीलिए 1.2 ख़रब की आबादी में भी आपको बस मोदी और राहुल ही दिखाई देते हैं. अब हम ठहरे कुल मिला के ग्यारह और चिट्ठी अगर हम में हो तो कहीं आप (भारतीय जनता) ये ना समझ लें की मैं भारत के बड़ी आबादी का प्रतिनिधित्व करने की हिमाक़त कर रहा हुं और ऐसा करके भारतीय लोकतंत्र से मज़ाक़ करने की कोशिश कर रहा हुं और आप कंफ्यूज ना हो जाएं जो आप पहले से हैं, तो कुल मिला के 2014 के चुनावों में हम…माफ़ कीजिएगा मैं एक बार फ़िर से हाज़िर हुं आपके सामने एक और मज़ाक़ लेकर!

 

आपका, मेरे, कांग्रेस का, बीजेपी का, पाकिस्तान का, युगांडा आदि, इत्यादि का अपना-पराया, आया-गया-गुज़रा

थर्ड (क्लास) फ़्रंट

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: थर्ड फ़्रंट का खुला पत्र देश के नाम
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017