दक्षिण अफ्रीका के कप्तान ग्रेम स्मिथ ने अतंरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा

By: | Last Updated: Tuesday, 4 March 2014 3:02 AM

केप टाउनः दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट टीम को नई ऊंचाईयों तक पहुंचाने वाले कप्तान ग्रीम स्मिथ ने अतंरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहने का फैसला कर लिया है. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली जा रही सीरीज का तीसरा और अंतिम टेस्ट उनका आखिरी टेस्ट होगा.

 

स्मिथ ने शुक्रवार को ही कहा था कि अभी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में उन्हें कुछ चीजें हासिल करनी हैं लेकिन वर्तमान श्रृंखला में एक और असफलता के बाद उन्होंने फैसला किया कि अब संन्यास लेने का समय आ गया है. तीसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद स्मिथ ने टीम मेंबर्स के साथ दक्षिण अफ्रीकी बोर्ड के अध्यक्ष को अपने इस फैसले से अवगत कराया. अफ्रीकी टीम के लिए स्मिथ का संन्यास दोहरे झटके से कम नहीं है. इससे पहले टीम के सबसे सफल खिलाड़ी जैक कैलिस ने भी टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कहा था.

 

उन्होंने कहा ‘‘यह मेरी जिंदगी का सबसे मुश्किल फैसला था. पिछले साल अप्रैल में टखने के ऑपरेशन के बाद मैं इस फैसले पर विचार कर रहा था. मेरे बच्चे छोटे हैं और मुझे लगता है कि न्यूलैंड्स में संन्यास लेना करियर का अंत करने का सबसे अच्छा स्थान है क्योंकि जब मैं 18 साल का था तब से इस स्थान को मैं अपना घर कहता रहा हूं. ’’

 

 

117 टेस्ट में अफ्रीका के लिए खेलने वाले स्मिथ ने टीम की जिम्मेदारी उस वक्त उठाई थी जब अफ्रीकी क्रिकेट परिवर्तन के दौर से गुजर रहा था. स्मिथ ने 109 टेस्ट में टीम की कमान संभाली जिसमें 53 टेस्ट जीतकर नया रिकॉर्ड भी बनाया.

 

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली जा रही टेस्ट सीरीज में खराब फॉर्म से जूझ रहे स्मिथ ने पिछले पांच पारियों में सिर्फ 42 रन बनाएं हैं. भले ही टीम सीरीज हारने का कगार पर है लेकिन स्मिथ को उम्मीद है कि मैच अभी भी हाथ से नहीं गया है और हम कुछ नया कर सकते हैं.

 

अपने संन्यास पर उन्होंने कहा ”मैं खुद को भाग्यशाली मानता हूं कि मैं इस बेहतरीन टीम का हिस्सा बना. मैं इस खास एहसास को हमेशा याद रखूंगा. आप सभी को तहे दिल से शुक्रिया.” इस फैसले पर चकित अफ्रीकी बोर्ड के अध्यक्ष हरून लोगार्ट ने स्मिथ की जमकर तारीफ करते हुए कहा कि ‘”उनका फैसला हमारे लिए चौंकाने वाला है लेकिन हमें उनके फैसले का सम्मान करना चाहिए. एक सेलेक्टर के रूप में मैंने उनपर भरोसा रखते हुए टीम का युवा कप्तान नियुक्त किया था और जानता था कि वह इसे हलके में नहीं लेंगे.”

 

बांग्लादेश के खिलाफ 2003 में पहली बार टीम की अगुवाई करके टेस्ट इतिहास के तीसरे सबसे युवा कप्तान बने स्मिथ ने कहा, ‘‘अब भी कुछ चीजें है जो मैं इस मैच में हासिल करना चाहता हूं. ’’  स्मिथ की अगुवाई में दक्षिण अफ्रीका टेस्ट क्रिकेट में नंबर एक टीम बनी. उनकी कप्तानी में दक्षिण अफ्रीका ने दो या इससे अधिक टेस्ट मैचों की 38 श्रृंखलाएं खेली जिनमें से 22 में उसे जीत और सात में हार मिली जबकि नौ मैच ड्रॉ रहे. उनकी अगुवाई में दक्षिण अफ्रीका ने इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया को उनकी सरजमीं पर हराया. स्मिथ ने 149 एकदिवसीय मैचों में भी दक्षिण अफ्रीका की कप्तानी की. इनमें से 92 मैचों में उनकी टीम जीती, 51 में उसे हार मिली, एक मैच टाई रहा जबकि पांच मैचों का परिणाम नहीं निकला. उन्होंने 2010 में वनडे टीम की कप्तानी छोड़ दी थी. वह 27 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में भी दक्षिण अफ्रीका के कप्तान रहे. इनमें से टीम को 18 में जीत और नौ में हार मिली थी

 

एक नजर स्मिथ के करियर पर

स्मिथ ने 22 साल की उम्र में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ केप टाउन में अपने क्रिकेट करियर की शुरूआत की थी. लंबे समय तक टेस्ट क्रिकेट में कप्तान रहने का रिकॉर्ड बनाने वाले स्मिथ ने 48.49 के औसत से 9262 रन बनाए जिसमें 27 शतक शामिल हैं.

वनडे क्रिकेट में 197 मैच खेलने वाले स्मिथ ने 37.98 के ऐसत से 6989 रन बनाए जिसमें 10 शतक शामिल हैं. 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: दक्षिण अफ्रीका के कप्तान ग्रेम स्मिथ ने अतंरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ????? ????? ?????? ???????
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017