दलजीत सिंह के बीजेपी ज्वाइन करने पर बीजेपी और कांग्रेस नेताओं की प्रतिक्रिया

By: | Last Updated: Saturday, 26 April 2014 8:31 AM
दलजीत सिंह के बीजेपी ज्वाइन करने पर बीजेपी और कांग्रेस नेताओं की प्रतिक्रिया

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के भाई दलजीत सिंह कोहली के बीजेपी में शामिल होने पर बड़ा विवाद खड़ा हो गया है. एक तरफ कांग्रेस ने इस फैसले पर हैरानी जताई है तो वहीं, बीजेपी का कहना है कि उनके पास गांधी परिवार पहले से ही था, अब मनमोहन का परिवार भी है फिर इसमें परेशानी क्या है.

 

कांग्रेस नेता, मीम अफजल-

‘दूसरे भाई के बेटे, भतीजे ने भी कुछ कहा है, उसको भी देखने की जरूरत है और ऐसी कोई नई बात नहीं है. भारतीय जनता पार्टी इस तरह की हरकतें करके उसे प्बलिसाइज कर रही हैं. बहुत सारे लोग बहुत सारी पार्टियों में काम करते हैं, ये तो पॉलिटिकल आदमी ही नहीं है जिन्होंने ज्वाइन किया है. और ये तो खुद उनके अपने सगे भतीजे है, जो ये बात कह रहे हैं कि कोई डील हुई है. तो आप समझ सकते हैं कि डील कैसी हुई होगी.’

 

 

बीजेपी नेता, रामेश्वर चौरसिया

‘ये तो एक होड़ मची ही हुई है ना सबको विश्वास हो गया है, इस देश की जनता को विश्वास हो गया है कि मोदी ही इस देश को बचा सकते हैं, चाहे मंहगाई हो, भ्रष्टाचार हो, आतंकवाद हो. तो प्रधानमंत्री के भाई तो आज आए, लेकिन गांधी परिवार के लोग तो पहले से हमारे पास हैं दो-दो सांसद. इसलिए आने का सिलसिला चलता रहता है.’

 

 

कांग्रेस नेता, शकील अहमद

‘प्रधानमंत्री कार्यालय ने भी कहा है कि वे अचंभित हैं और आज उनके दूसरे भाई का भी बयान निकला है. मैने पढ़ा है, आज अख़बारों में निकला है कि हमलोग चार भाई और छह बहने हैं. सिवाए उनके सभी कांग्रेस के समर्थक हैं. तो स्वाभाविक रूप से हर व्यक्ति स्वतंत्र है. उसकी अपनी सोच हो सकती है, कहीं कोई जा सकता है. उसी पार्टी में शामिल होता है, जिसमें उसे लगता है कि मुझे कुछ फायदा होने वाला है, मेरा भविष्य सुधरने वाला है.’

 

 

बीजेपी नेता, मुख़्तार नक़वी

‘इस समय सुशासन का जो महासंग्राम चल रहा है और कांग्रेस पार्टी के खिलाफ क्रोध की क्रांति है उसका असर चौतरफा दिखाई पड़ रहा है और समाज के सभी हिस्से के लोग, समाज के सभी वर्गों के लोग आज उसमें हिस्सेदारी, भागेदारी कर रहे हैं. इसलिए उन्होंने जो ज्वाइन किया वो भी निश्चित तौर से स्वागत योग्य है और उसके अलावा भी आप देखें तो एक के बाद एक लोग भारतीय जनता पार्टी के साथ आ रहे हैं. लोग नरेंद्र मोदी के सुशासन के इस महासंग्राम के हिस्सेदार, भागीदार बन रहे हैं. ये तो स्वागत योग्य है और निश्चित तौर से इसका प्रभाव जमीन पर साफ तौर से दिखाई पड़ रहा है.’