धमाल मचाने को फेसबुक ने शुरू की नई ग्राफ सर्च सेवा

By: | Last Updated: Sunday, 21 July 2013 5:52 AM

नई दिल्ली: सोशल
नेटवर्किंग साइट फेसबुक ने
जुलाई महीने से अपनी ग्राफ
सर्च सेवा को उन्नत तौर पर
शुरू कर दिया है. जनवरी, 2013 में
फेसबुक ने ग्राफ सर्च की
शुरूआत की थी. एक तरह से ये
फेसबुक का गूगल सर्च है.

अब फेसबुक पर आप किसी नाम के
अलावा किसी को भी उसकी पसंद,
पहचान, शौक और फोटो से ढूंढ
सकते हैं. मसलन, मेरे मित्र जो
दिल्ली में रहते हैं (my friend who lives
in new delhi) या मेरे मित्र जो पोलो
खेलने के शौकीन हैं(friends who are playing
polo). ग्राफ सर्च की शुरुआत करते
वक्त फेसबुक ने जो बातें कहीं
थी, उनमें खास थी कि फेसबुक पर
खोज का दायरा बढ़ाना. फेसबुक
ने अब इसमें माइक्रोसॉफ्ट
बिंग को भी जोड़ लिया है, यानि
खोज के लिए ये सर्च इंजन भी
काम करेगा.

फेसबुक के सीईओ मार्क
जुकरबर्ग ने इस सेवा की
शुरुआत पर कहा था कि फेसबुक
के कई स्तंभ है, पहला
न्यूजफीड, दूसरी टाइमलाइन और
अब तीसरा होगा ग्राफ सर्च.

दरअसल खोज के दायरे को बाजार
के हिसाब से देखा जाए, तो ये
किसी भी मार्केटर के लिए बहुत
ही मुफीद हैं. कोई भी ये जानकर
कि आप क्या पहनना और खरीदना
पसंद करते हैं,  आपको संपर्क
कर सकता है. 3 अरब 20 करोड़
कमेंट्स हर दिन पाने वाले
फेसबुक पर किसी की पसंद और
नापसंदगी को अब आसानी से खोजा
जा सकता है.

फेसुबक ने कुछ साल पहले
मार्केटिंग पेज की शुरूआत की
और बाद में स्टूडियो और
डेवलेपर रिसोर्सेस सेवा भी
शुरु की. इसी जुलाई में
फेसबुक ने मार्केटिंग
पेजेज़ के लिए कई सरल उपाय
पेश किए. गूगल एडसेंस के बाद
ऑनलाइन रेवेन्यू पैदा करने
की ये कोशिश फेसबुक के लिए
बेहतर नतीजे दे सकती है. एक
तरह से फेसबुक पर आपकी
मौजदूगी उस मार्केटर के लिए
लाभ का सौदा हो गई है, जो आपतक
किसी तरह पहुंचना चाहता है.
ग्राफ सेवा उसके लिए मददगार
हो सकती है. फेसबुक की ग्राफ
सर्च सेवा के विस्तार ने हर
किसी को फेसबुक पर कुछ भी
खोजने की सुविधा तो दे दी है,
लेकिन इससे आपकी निजता
प्रभावित होगी, ऐसा साफ दिखता
है.

क्या फेसबुक की निजता इससे
खत्म होगी. फेसबुक की
प्राइवेसी सेटिंग कुछ हदतक
आपको अपने नेटवर्क तक सीमित
रखती है और अनचाहे लोगों को
आपकी प्रोफाइल तक नहीं
पहुंचने देती थी. जनवरी, 2013 के
बाद अगर आप फेसबुक पर किसी का
नाम खोजने के लिए जाते थे तो
ये आपके मित्र, मित्रों के
मित्र तक खोज लेता था. लेकिन
अब ये कहीं से भी फेसबुक पर उस
नाम के व्यक्ति को खोज सकता
है, जो इस सोशल नेटवर्किंग
साइट पर मौजदू हो. और इससे
आपको सुविधा और असुविधा
दोनों हो सकती है.

आज आप 5000 संपर्क फेसबुक पर बना
सकते हैं. यानि किसी खोज में
आपका नाम और प्रोफाइल में
शेयर की गई बातें अब ज्यादा
आसानी से खोजी जा सकती हैं.
नाम, शहर, व्यवसाय, शौक और पढ़ी
गई किताब तक से आपको अब खोजा
जा सकता है.   

फेसबुक विश्व की सबसे बड़ी
सोशल नेटवर्क सेवा है. 2004 में
इसे मार्क जुकरबर्ग ने अपने
कुछ हार्वर्ड साथियों के साथ
शुरू किया था. 2008 तक फेसबुक
इस्तेमाल करने वालों की
संख्या 10 करोड़ थी जो मार्च 2013
तक 1 अरब 11 करोड़ हो गई. 2012 में
फेसबुक ने अपने आप को शेयर
बाजार में लिस्ट किया, और
इसका आज इसका बाजार मूल्य 104
अरब डॉलर हो गया. मोबाइल पर
मार्च 2013 तक 68 करोड़ लोग
फेसबुक करते थे. भारत में
फेसबुक के आठ करोड़ के करीब
यूजर्स हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: धमाल मचाने को फेसबुक ने शुरू की नई ग्राफ सर्च सेवा
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017