धरना देने पर केजरीवाल और उनके तीन मंत्रियों के खिलाफ केस दर्ज, भड़काऊ भाषण देने का आरोप

By: | Last Updated: Saturday, 25 January 2014 3:56 AM
धरना देने पर केजरीवाल और उनके तीन मंत्रियों के खिलाफ केस दर्ज, भड़काऊ भाषण देने का आरोप

नई दिल्ली: पुलिसवालों को हटाने के लिए धरना देने के मामले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनके तीन मंत्रियों मनीष सिसोदिया, सोमनाथ भारती और राखी बिड़ला के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. इन लोगों पर भीड़ को आगे बढ़ाने के लिए उकसाने और भड़काऊ भाषण देने के लिए कुल सात धाराओं में केस दर्ज किया गया है.

 

कल ही सुप्रीम कोर्ट ने ये कहते हुए दिल्ली पुलिस को फटकार लगाई थी कि धारा 144 न टूटे इसके लिए पुलिस ने क्या इंतजाम किए? दिल्ली पुलिस अपने जवाब में सबूत के तौर पर तमाम दस्तावेज और वीडियो फुटेज कोर्ट में पेश करेगी.

 

एबीपी न्यूज के पास मौजूद दस्तावेज के मुताबिक दिल्ली पुलिस ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उऩकी महिला मंत्री समेत चार मंत्रियो के खिलाफ सात आपराधिक धाराओॆं के तहत मुकदमा दर्ज किया है. पुलिस का यह भी कहना है कि केजरीवाल को धरने से एक दिन पुलिस ने उस इलाके में धारा 144 का हवाला देते हुए धरना ना देने को कहा था औऱ केजरीवाल ने उसपर विचार करने को भी कहा था.

 

एफआईआर के मुताबिक केजरीवाल को फिर धारा 144 का हवाला देते हुए धरना ना देने को कहा औऱ पुलिस ने अपनी गाडी में केजरीवाल को नार्थ ब्लाक स्थित गृहमंत्री के दफ्तर तक पहुचाने को कहा लेकिन केजरीवाल ने अपने समर्थको को साथ ले चलने की शर्त रख दी.

 

एफआईआऱ के मुताबिक वहा पर केजरीवाल के तीन सौ समर्थको के साथ उनके मंत्री मनीष सिसौदिया राखी बिरला सोमनाथ भारती आदि इकट्टा हो गए औऱ इन सभी नेताओं ने भीड को आगे बढने के लिए उकसाया. केजरीवाल ने उत्तेजक व भडकाऊ भाषण भी दिया.

 

एफआईआर में कहा गया है कि अरविंद केजरीवाल ने अपने समर्थको के साथ धारा 144 का उल्लघन किया औऱ चेतावनी देने के वावजूद पुलिस की जायज डयूटी में बाधा डालकर हाथापाई औऱ पुलिसकर्मियो को चोटे पहुंचा कर सात आपराधिक धाराओ के तहत अपराध किया.

 

सुप्रीम कोर्ट के नोटिस के जवाब में दिल्ली पुलिस ये तमाम दस्तावेज औऱ वीडियो फुटेज कोर्ट के सामने रखने जा रही है तब तक यह भी संभव है कि पुलिस इस मामले मे कुछ औऱ धाराएं भी शामिल कर दे.