नरेंद्र मोदी को क्लीन चिट से बीजेपी खेमे में खुशी

नरेंद्र मोदी को क्लीन चिट से बीजेपी खेमे में खुशी

By: | Updated: 10 Apr 2012 06:23 AM


नई दिल्ली: गुजरात
दंगों की जांच कर रही एसआईटी
की रिपोरिट सामने आ गई है. इस
रिपोर्ट में नरेंद्र मोदी को
क्लीन चिट दिए जाने के बाद
बीजेपी ने खुशी का इजहार
किया.




वहीं दूसरी ओर इस पूरे केस से
जुड़ी रहीं तीस्ता सीतलवाड़
ने इस पर गहरी निराशा जाहिर
की.




कांग्रेस ने इस मामले पर
बीजेपी पर हमला बोला. एहसान
जाफरी के बेटे तनवीर जाफरी और
विधवा जाकिया जाफरी ने भी इस
रिपोर्ट पर निराशा जताई. 

तरुण
विजय (बीजेपी)


बीजेपी
सांसद तरुण विजय ने
कहा,"सत्यमेव जयते...जिन लोगों
ने सत्य की हत्या करने का
प्रयास किया था वे असफल हो गए
हैं. मोदी शताब्दी के सत्य के
लिए संघर्ष करने वाले नेता के
रूप में उभर कर सामने आए हैं."

उन्होंने
कहा," मीडिया का एक बड़ा वर्ग
जिस प्रकार से विचहंटिंग में
शामिल हुआ वह भी भर्तसना के
योग्य है..तीस्ता सीतलवाड और
मीडिया का एक वर्ग झूठ को
जिताना चाहता है"

तरुण
विजय ने स्टार न्यूज़
संवाददाता विजय विद्रोही से
बात करते हुए कहा कि," नरेंद्र
मोदी सच्चाई के बड़े फरिश्ते
के रूप में ऊभर कर सामने
आएंगे."

रविशंकर प्रसाद
(बीजेपी)


बीजेपी के
वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद
ने कहा कि गुलबर्ग सोसायटी
में जो दुर्भाग्यपूर्ण
दुर्घटना हुई थी उसमें एहसान
जाफरी की पत्नी जाकिया जाफरी
की ओर से नरेंद्र मोदी पर भी
अभियोग चलाने की मांग की गई
थी.

उन्होंने कहा
कि,"एसआईटी का गठण सुप्रीम
कोर्ट के आदेश से हुआ था
जिसमें गुजरात सरकार की कोई
भूमिका नहीं रही है. एसआईटी
की रिपोर्ट ने हमें बहुत
संतोष दिया है."

तीस्ता
सीतलवाड़ (स���माजिक
कार्यकर्ता)


सामाजिक
कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड़
ने कहा कि," यह हमारे लिए बहुत
बड़ा डिसअपॉइंटमेंट है..अब ये
संघर्ष और लंबा होगा. सुबूतों
के बावजूद अगर एसआईटी को लगता
है कि कोई सुबूत नहीं है तो ये
हमारे लिए बड़ी निराशा है."

उन्होंने
कहा कि,"अगली तारीख दस मई की
है...जून जुलाई से पहले हम अपना
ऑर्गुमेंट नहीं रख पाएंगे."

तनवीर
जाफरी (एहसान जाफरी के बेटे)


एहसान
जाफरी के बेटे तनवीर जाफरी ने
कहा कि कोर्ट से हमें रिपोर्ट
की कॉपी दी जाएगी. उन्होंने
कहा कि कोर्ट ने मोदी को
क्लीन चिट नहीं दी है.

उन्होंने
कहा कि रिपोर्ट मिलने से हमें
बहुत खुशी हुई है. पिछले दस
साल से हम लोग लड़ रहे हैं. इस
कंप्लेन को छह बरस हो चुके
हैं. सुप्रीम कोर्ट के आदेश
को भी छह महीने से ज्यादा हो
चुके हैं."




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story एसआईटी ने तीन घंटे तक की पूछताछ, आजम खान ने यूपी सरकार को कहा 'शुक्रिया'