नरेंद्र मोदी को लेकर मुसलमानों में खौफ, वाजपेयी जैसे हैं राजनाथ: कल्बे जव्वाद

नरेंद्र मोदी को लेकर मुसलमानों में खौफ, वाजपेयी जैसे हैं राजनाथ: कल्बे जव्वाद

By: | Updated: 16 Apr 2014 04:38 AM

लखनऊ: प्रतिष्ठित शिया उलमा मौलाना कल्बे जव्वाद का कहना है कि बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी को लेकर मुसलमानों में कुछ खौफ है, लेकिन बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथ सिंह की छवि वैसी ही बन रही है जैसी पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी की थी.

 

परसों रात को लखनऊ में बीजेपी अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने धर्मगुरु कल्बे जव्वाद से मुलाकात की थी. अटकलें लग रही है कि वोट के लिए राजनाथ ने धर्मगुरु से मिले थे. इस मुलाकात के बाद कल कल्बे जव्वाद ने पत्रकारों से कहा कि राजनाथ सिंह में वाजपेयी की छवि है लेकिन मुसलमानों को नरेंद्र मोदी से डर लगता है.

 

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और लखनऊ लोकसभा सीट से राजनाथ सिंह की उनसे कल रात हुई मुलाकात के बारे में मौलाना जव्वाद ने कहा, "इस मुलाकात को हम राजनीतिक नहीं मानेंगे. हमसे उनकी इससे पहले भी मुलाकातें होती रही हैं. इससे पहले जब वह प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे तो वह हमसे मिलते रहे. ईद की नमाज रही तो मुबारकबाद देने आते रहे. इस तरह से देखें तो हमारे पहले से ही संबंध रहे हैं यह मुलाकात सियासी नहीं है व्यक्तिगत है.’’

 

इस सवाल पर कि उन्होंने जिस तरह कांग्रेस के खिलाफ बयान दिया है क्या बीजेपी के पक्ष में बयान देंगे, जव्वाद ने कहा, "हम तो किसी भी दल के पक्ष में बयान जारी करने का इरादा नहीं रखते. जो बातें राजनाथ ने हमसे कहीं वह हम अपने समुदाय के सामने रखेंगे.’’

 

उन्होंने कहा, "हमारी तरफ से कोई जबरदस्ती नहीं है जो भी मिलने आ रहे हैं हम अपने समुदाय के सामने सबकी बात रखेंगे वे जिसे वोट करना चाहते हैं करें. ’’

 

बीजेपी के पक्ष में कोई फतवा जारी करने के इरादे के बारें में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, "फतवा राजनीतिक नहीं होता है, हमेशा शरीयत का होता है."

 

सोनिया गांधी से बुखारी की मुलाकात और राजनाथ सिंह से उनकी मुलाकात के अंतर के बारे में सवाल होने पर उन्होंने कहा , "पहला फर्क तो यही है कि बुखारी सोनिया से मिलने गये थे और राजनाथ खुद हमारे पास आये." इस सवाल पर कि यह बाजपेयी का शहर है और क्या उसी तरह का समर्थन बीजेपी के राष्टीय अध्यक्ष और यहां के उम्मीदवार राजनाथ सिंह को भी मिलेगा, उन्होंने कहा, "राजनाथ की छवि वैसी ही बन रही है जैसी बाजपेयी की थी. वह उसी स्तर पर पहुंच रहे हैं.’’

 

 

मोदी के बारे में सवाल पर मौलाना जव्वाद ने हंसते हुए कहा,’’ मोदी के मामले में मुसलमानों को कुछ खौफ है मुसलमानों को डर महसूस होता है और उनको लगता है कि इस लिहाज से राजनाथ उनसे बेहतर साबित होंगे.’’

 

मौलाना जव्वाद ने कहा ,’’उनसे (बीजेपी) पहले खतरा लगता था कि उनकी हुकुमत बनी तो यह हो जायेगा वह हो जायेगा लेकिन जमीनी हकीकत यह है कि पाकिस्तान से सबसे अच्छे ताल्लुकात तब बने, जब वाजपेयी विदेश मंत्री थे.’’

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story केजरीवाल सरकार का फैसला, दिल्ली में राशन के लिए आधार कार्ड नहीं होगा अनिवार्य