नवरात्र से पहले बनारस बौराया: हर-हर मोदी के बाद अब 'या मोदी सर्वभूतेषु...!'

नवरात्र से पहले बनारस बौराया: हर-हर मोदी के बाद अब 'या मोदी सर्वभूतेषु...!'

By: | Updated: 28 Mar 2014 12:09 PM
वाराणसी: बीजेपी के पीएम कैंडीडेट नरेंद्र मोदी के समर्थकों ने एक बार फिर मोदी के हक में वैदिक मंत्रों के साथ छेड़छाड़ की है. नवरात्र से ठीक पहले देवी दुर्गा को समर्पित मंत्र को बदलकर मोदी के लिए नारा गढ़ दिया गया है. खबर है कि बीजेपी कार्यकर्ताओं ने दुर्गा सप्तशती के मंत्र को बदलकर 'या मोदी सर्वभूतेषु, राष्ट्ररूपेण संस्थित:, नमस्तस्यै, नमस्तस्यै, नमस्तस्यै, नमो नम:' गढ़ दिया है.

 

 दुर्गा सप्तशती का मूल मंत्र कुछ इस प्रकार है-'या देवी सर्वभूतेषु, मातृरूपेण संस्थित:, नमस्तस्यै, नमस्तस्यै, नमस्तस्यै, नमो नम:'.देवी दुर्गा की इस स्तुति का अर्थ है - 'सब स्थानों पर उपस्थित देवी इस संसार की जननी हैं, मैं उन्हें बार-बार नमन करता हूं.' 

 

देवी के इस मंत्र को बदलकर 'या मोदी सर्वभूतेषु, राष्ट्ररूपेण संस्थित:, नमस्तस्यै, नमस्तस्यै, नमस्तस्यै, नमो नम:' किए जाने से इसका अर्थ बदलकर कुछ इस तरह हो गया है - 'मोदी, जो सभी मनुष्यों के दिलों में राष्ट्र के रूप में रहते हैं, मैं उन्हें बार-बार नमन करता हूं.'

 

इससे पहले वाराणसी में 'हर-हर गंगे' को बदलकर 'हर-हर मोदी' नारा बनाए जाने पर भी विवाद हो चुका है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story पर्रिकर को मुंबई के अस्पताल से मिली छुट्टी, गोवा विधानसभा में किया बजट पेश