नवाज शरीफ के मोदी के शपथग्रहण समारोह में आने पर आज होगा फैसला: पाक

By: | Last Updated: Thursday, 22 May 2014 4:43 AM

नई दिल्ली:  पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता तसनीम असलम का कहना है कि नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने को लेकर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ आज फैसला ले लेंगे.

 

प्रवक्ता का कहना था कि अगर नवाज़ शरीफ नहीं गए तो शपथ ग्रहण समारोह में कोई न कोई उनका प्रतिनिधि जरूर शामिल होगा.

 

विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता ने इसके साथ ही यह भी कहा कि पाकिस्तान सम्मान के साथ बिना रोक टोक भारत से बातचीत जारी रखना चाहता है.

 

नवाज़ की पार्टी का रुख

 

इससे पहले, पाकिस्तान की सत्ताधारी पार्टी PML(N) के प्रवक्ता सिद्दीक उल फारुक ने एबीपी न्यूज़  से बातचीत में नवाज शरीफ के भारत आने के संकेत दिये.

 

26 तारीख को दिल्ली में नरेंद्र मोदी पीएम पद की शपथ लेंगे. नवाज शरीफ के पार्टी के प्रवक्ता ने एबीपी न्यूज से बातचीत में कहा है कि ऐसी कोई वजह नहीं है कि नवाज शरीफ भारत का न्योता कबूल न करें.

 

नवाज की पार्टी ने इस बात के संकेत दिये हैं कि नवाज शपथ ग्रहण में शामिल होंगे. मोदी के शपथ ग्रहण में शामिल होने के लिए सार्क देशों के तमाम प्रमुखों को न्योता भेजा गया है.

 

क्या रिश्ते सुधरेंगे?

 

सोमवार को होने जा रहे नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को न्योता भेजा गया है. सवाल ये है कि क्या मोदी के आने पर पाकिस्तान से रिश्ते सुधरेंगे?

 

दिल्ली में नरेंद्र मोदी की अगुवाई में एनडीए की सरकार बनने जा रही है और पाकिस्तान में नवाज शरीफ की सरकार है नवाज शरीफ को शपथ ग्रहण में आने का न्योता भेजा गया है .

 

इससे पहले नतीजों के बाद 16 मई को नवाज शरीफ ने फोन करके नरेंद्र मोदी को बधाई दी थी और पाकिस्तान आने का न्योता दिया था.

 

मोदी और पाकिस्तान के रिश्ते में तल्खी तब आ गई थी. जब मोदी से एक इंटरव्यू में दाऊद को लेकर सवाल पूछा गया था. मोदी गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे के पुराने बयान पर प्रतिक्रिया दे रहे थे . लेकिन ऐसे संकेत मिले कि मोदी सरकार बनाने के बाद दाऊद को पकड़ेंगे.

 

चुनाव बाद एक बार फिर दाऊद को पकड़ने की आवाज उठी है .गुजरात विधानसभा में मोदी के विदाई समारोह में विपक्ष के नेता शंकर सिंह वाघेला ने ये मांग उठाई .

 

पाकिस्तान और भारत के रिश्तों सालों से तल्खी है. समय समय पर ये तल्खी और तेज हो जाती है. पिछले साल जनवरी महीने में सीमा पर सैनिकों के सिर काटे जाने को मोदी ने चुनावी मुद्दा भी बनाया था. चुनावी सभाओं में मोदी इसका जिक्र भी करते थे. अब जब पूर्ण बहुमत वाली सरकार बन रही है तो सवाल ये है कि क्या दोनों देशों के रिश्ते सुधरेंगे ?

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: नवाज शरीफ के मोदी के शपथग्रहण समारोह में आने पर आज होगा फैसला: पाक
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017