नवीन जिंदल ने जी न्‍यूज़ पर लगाए गंभीर आरोप

नवीन जिंदल ने जी न्‍यूज़ पर लगाए गंभीर आरोप

By: | Updated: 25 Oct 2012 05:09 AM


नई
दिल्‍ली:
कांग्रेस सांसद और
देश के बड़े उद्योगपति नवीन
जिंदल
ने जी न्यूज चैनल पर
कोयला घोटाले की खबर न चलाने
के एवज में 100 करोड़ की
रंगदारी मांगने का आरोप
लगाया है.
 
दिल्ली में
प्रेस कॉन्फ्रेंस में नवीन
जिंदल ने जी न्यूज के
संपादकों के साथ बातचीत का टेप
जारी किया.





इस वीडियो में जी न्‍यूज़ के मैनेजिंग
एडिटर सुधीर चौधरी
और जी
बिजनेस के संपादक समीर
आहलूवालिया को जिंदल के
अधिकारियों के साथ बातचीत
करते हुए दिखाया गया है,
जिसमें वे पैसों और कोयला
घोटाले पर चर्चा कर रहे हैं.




उधर, जी न्यूज ने अपने चैनल पर
कहा है कि खबर रुकवाने के लिए
जिंदल ये हथकंडा अपना रहे हैं

गौरतलब
है कि 1.86 लाख करोड़ के कोयला
घोटला में जिंदल की कंपनी का
भी नाम आया था.

नवीन
जिंदल
ने आज प्रेस
कॉन्‍फ्रेंस कर कहा कि जब
कोयला घोटाले को लेकर उनकी
कंपनी की खबर जी न्‍यूज़ पर
दिखाई गई तो उन्‍होंने चैनल
से जिंदल ग्रुप का भी पक्ष
लेने के लिए कहा. 

जिंदल
के मुताबिक उनकी कंपनी के
कर्मचारी ने 10 सितंबर को जी
बिजनेस के संपादक समीर
आहलू‍वालिया
से मुलाकात की
जिसमें आहलूवालिया ने 20
करोड़ रुपये मांगे. पढ़ें
स्टिंग ऑपरेशन के मुख्‍य अंश






जिंदल ने कहा, 'पहली मुलाकात
में समीर आहलूवालिया ने 20
करोड़ रुपये मांगे और इस रकम
को पांच-पांच करोड़ रुपये की
किश्‍त के रूप में चार साल तक
चुकाने के लिए कहा.'




नवीन
जिंदल
ने कहा,  '12 सितंबर को
दफ्तर में जब मैनेजमेंट को ये
सारी बातें पता चलीं तो हमें
बहुत धक्‍का पहुंचा.  हमारी
कंपनी पिछले 40 सालों से
बिजनेस में और मीडिया ने कभी
हम पर इस तरह दबाव बनाने की
कोशिश नहीं की.  हमारी टीम ने
तय किया कि हम इस किसी के दबाव
में नहीं आएंगे.'




जिंदल ने कहा कि उनकी टीम ने
फैसला लिया कि वे सच को सामने
लाएंगे और सबूत जुटाने के लिए
अगली बैठक में छिपे हुए
कैमरों का सहारा लिया जाएगा.

नवीन
जिंदल ने कहा कि उन्‍होंने जी
न्‍यूज़ के साथ 13, 17 और 20 सितंबर
को भी मुलाकात की और इस दौरान
जी
न्‍यूज़
ने 20 करोड़ की रकम
को बढ़ाकर सीधे 100 करोड़ कर
दिया.

जिंदल के मुताबिक,
'जी न्‍यूज़ ने यह कहते हुए
रकम बढ़ा दी कि उन्‍होंने 20
करोड़ नहीं बल्कि 100 करोड़ ही
मांगे थे, लेकिन पहली मुलाकात
में कॉफी शॉप में शोर ज्‍यादा
होने के कारण सुनने में गलती
हुई होगी.'





जिंदल के मुताबिक,  '13 सितंबर
से बातचीत के दौरान जी
न्‍यूज़ और जी बिज़नेस को
भरोसा होने लगा था कि हम
उन्‍हें पैसे दे देंगे और
उन्‍होंने अपने चैनल में
हमारी कंपनी के खिलाफ खबरें
दिखानी बंद कर दीं. लेकिन 19
सितंबर को उन्‍हें ये साफ हो
गया था कि हम पैसे नहीं देंगे
और इसके बाद चैनल ने 24 सितंबर
से वापस हमारे खिलाफ खबरें
दिखानी वापस शुरू कर दीं.'




इस वीडियो को न्यूज चैनलों के
संपादकों की संस्था बीईए में
भी दिखाया गया था, जिसे
दिल्‍ली पुलिस को सौंप दिया
गया है.




नवीन जिंदल के आरोप पर जी
न्यूज ने अपना पक्ष रखा है. 
जिंदल की प्रेस कॉन्‍फ्रेंस
के तुरंत बाद सुधीर चौधरी और
समीर आहलूवालिया ने अपने
चैनल पर आकर कुछ कागज दिखाते
हुए जिंदल के साथ हुए कॉन्‍ट्रैक्‍ट 
दावा किया.




जी न्यूज ने कहा है,  'ये वो
कॉन्ट्रेक्ट है जिसे हम
चाहते थे कि नवीन जिंदल साइन
करें. वो 100 करोड़ का
कॉन्ट्रेक्ट साइन करने को
तैयार भी थे. अब नवीन जिंदल
चाह रहे हैं कि वो पूरी
तस्वीर का रुख बदल दें और
आरोप जी न्यूज पर लगा दें. जी
न्यूज
पर हम लगातार मुहिम
चलाए हुए हैं. हम 1.86 करोड़ के
घोटाले में खुलासे कर रहे
हैं. नवीन जिंदल चाहते थे कि
उनके खिलाफ खबर रुक जाए.. जो
तस्वीरें उन्होंने दिखाई
उनसे छेड़छाड़ की गई है.'
 
एबीपी
न्यूज ने टेप की सच्चाई और जी
न्‍यूज़ के दावों की अभी तक
जांच नहीं की है.






जिंदल
के स्टिंग ऑपरेशन की मुख्‍य
बातें






http://www.youtube.com/watch?v=WFhfPn95hKg&feature=youtu.be



फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story सरकार और राजनीतिक पार्टियों को कोर्ट के मौजूदा संकट से दूर रहना चाहिए: पीएम मोदी