नागालैंड में दोपहर 2 बजे तक 60 फीसदी तो मणिपुर में भी 50 फीसदी से अधिक मतदान

नागालैंड में दोपहर 2 बजे तक 60 फीसदी तो मणिपुर में भी 50 फीसदी से अधिक मतदान

By: | Updated: 09 Apr 2014 11:15 AM
कोहिमा. नागालैंड की एकमात्र लोकसभा सीट के लिए बुधवार सुबह मतदान शुरू हुआ. साफ मौसम की वजह से अपराह्न दो बजे तक यहां 60 फीसदी से अधिक मतदान दर्ज किया गया है. निर्वाचन आयोग के अधिकारी ने बताया कि म्यांमार की सीमा से लगे इस राज्य में किसी तरह की अप्रिय घटना की खबर नहीं है.

 

अधिकारी ने बताया, "कुछ जगहों से ईवीएम में गड़बड़ी की सूचना मिली. हालांकि, इंजीनियरों ने तत्काल ईवीएम ठीक कर दिए या नए लगा दिए और मतदान पहले की तरह सुचारु रूप से चलने लगा."

 

उन्होंने कहा, "साफ मौसम की वजह से मतदाता मतदान केंद्रों पर जल्दी पहुंच गए. नए एवं महिला मतदाताओं में मतदान को लेकर ज्यादा उत्साह देखा गया."

 

सुरक्षा कारणों की वजह से मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ जो शाम चार बजे तक जारी रहेगा.

 

नागालैंड में नागा पीपुल्स फ्रंट (एनपीएफ) नीत डेमोक्रेटिक अलायंस ऑफ नागालैंड (डीएएन) की सरकार है.

 

राज्य की एकमात्र लोकसभा सीट के लिए 1,182,903 मतदाता 2,059 केंद्रों पर अपने मताधिकार का प्रयोग कर रहे हैं.

 

यहां मुख्यमंत्री नेफियु रियो का मुकाबला कांग्रेस उम्मीदवार के.वी.पुसा से है. रियो का नागा पीपुल्स फ्रंट, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) का हिस्सा है.

 

इस सीट से तीन उम्मीदवारों में सोशलिस्ट पार्टी (इंडिया) के टिकट से अखेई अचुमी भी शामिल हैं.

 

निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा के लिए केंद्रीय अर्ध सैनिक बलों की तीस कंपनियां तैनात की गई हैं. केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) और असम राइफल्स के साथ राज्य सशस्त्र बल के जवानों को भी तैनात किया गया है.

 

मतदान के लिए 12,000 सुरक्षाकर्मियों की तैनाती और चार केंद्रीय पर्यवेक्षकों की नियुक्ति की गई है.

 

 

मणिपुर में 50 फीसदी से अधिक मतदान 

 

इम्फाल. मणिपुर की दो लोकसभा सीटों में से एक पर बुधवार को मतदान कराया जा रहा है. अपराह्न दो बजे तक 50 फीसदी से अधिक मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. पुलिस और निर्वाचन आयोग के अधिकारियों ने बताया कि मतदान 1,406 केंद्रों पर शांतिपूर्ण तरीके से कराए जा रहे हैं.

 

मतदान अधिकारियों ने संवाददाताओं से कहा, "अब तक बाहरी मणिपुर सीट पर 50 फीसदी से अधिक मतदान हुए हैं. किसी तरह की अप्रिय घटना की खबर नहीं हैं."

 

उन्होंने कहा, "सुबह सात बजे मतदान शुरू होने से काफी पहले मतदान केंद्रों पर लंबी कतार देखी गई, जो पारंपरिक पोशाक पहने हुए थे. मतदान शाम चार बजे तक चलेगी."

 

मतदान सभी पांच पहाड़ी जिलों- उथकुस, सेनापति, चंदेल, तमेंगलांग और चुराचंदपुर में कराए जा रहे हैं.

 

बाहरी मणिपुर सीट पर चुनाव के लिए 1,406 मतदान केंद्र बनाए गए हैं. कुल 9,11,699 मतदाता उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला करेंगे, जिनमें 4,63,068 महिला मतदाता हैं. भीतरी मणिपुर सीट के लिए मतदान 17 अप्रैल को कराए जाएंगे.

 

सत्तारूढ़ कांग्रेस ने मौजूदा सांसद थांग्सो बैट, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने गैंगमुमई कमई, तृणमूल कांग्रेस ने किम गैंग्टे और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (रांकापा) ने चुंगखोकई दौउंगेल को इस सीट से उम्मीदवार बनाया है.

 

51 वर्षीय किम गैंग्टे मणिपुर से पहली महिला सांसद हैं. वह 1998 में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) के टिकट पर सांसद बनी थीं.

 

इस बार का मुख्य मुद्दा सशस्त्र बल विशेष शक्तियां अधिनियम 1958 को हटाना और विकास है.

 

भाजपा नेता नरेंद्र मोदी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने चुनाव से पूर्व राज्य में रैलियां की है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story मुंबई: डॉक्टरों की निगरानी में हैं गोवा के सीएम पर्रिकर, हालत सामान्य