नाराज किसानों को मनाने की कोशिश करेंगे जयराम

नाराज किसानों को मनाने की कोशिश करेंगे जयराम

By: | Updated: 19 Oct 2012 09:01 PM


नई
दिल्‍ली:
भूमि अधिग्रहण बिल
को मंत्रियों का समूह आज
अंतिम रूप दे सकता है. सरकार
की कोशिश है कि इस बिल को संसद
के शीतकालीन सत्र में पेश कर
दिया जाए.

किसान बिल के
मसौदे से खुश नहीं है. इसी
मुद्दे पर विरोध कर रहे किसान
आज ग्रामीण विकास मंत्री
जयराम रमेश से मुलाकात
करेंगे.

सरकार जमीन
अधिग्रहण बिल को संसद के इस
शीतकालीन सत्र में पास कराने
के लिए कमर कस चुकी है, लेकिन
किसनों के विरोध प्रदर्शन को
देखते हुए जल्दबाजी में कोई
भी फैसला नहीं लेना चाहती है.


यही वजह है कि ग्रामीण
विकास मंत्री जयराम रमेश एक
बार फिर किसानों से मिलकर
उनकी समस्याएं सुनेंगे.

दरअसल,
किसानों ने शुक्रवार को
दिल्ली के इंडिया गेट और
जयराम रमेश के घर के बाहर
पोस्टर-बैनर के साथ
विरोध-प्रदर्शन किया था.

विरोध-प्रदर्शन
के बीच किसानों का दल जयराम
रमेश से मिला भी था, लेकिन
इसके बावजूद किसान सरकार के
इस फैसले से खुश नहीं थे.

खास
बात ये है कि भूमि सुधार बिल
पर मंत्रियों के समूह ने अपनी
सहमति की मुहर लगा दी है.

इस
बिल के मुताबिक पहले जमीन
अधिग्रहण के लिए जमीन से
जुड़े 80 फीसदी लोगों की सहमति
जरूरी होती थी, लेकिन अब
तैयार किए गए बिल के मसौदे के
मुताबिक दो तिहाई यानी की 66
फीसदी लोगों की ही सहमति
जरूरी होगी.

इस बिल कि खास
बात ये है कि सरकार जिस जमीन
का अधिग्रहण करेगी उस भूमि के
लिए किसानों को बाजार भाव से
दोगुनी कीमत दी जाएगी.





फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story संजय निरूपम ने तोगड़िया के आरोपों की जांच की मांग की