'नीच राजनीति' वाले बयान के लिए बीजेपी ने की प्रियंका से माफी की मांग, मोदी ने कहा-निचले वर्ग का होने के कारण लगाया आरोप

'नीच राजनीति' वाले बयान के लिए बीजेपी ने की प्रियंका से माफी की मांग, मोदी ने कहा-निचले वर्ग का होने के कारण लगाया आरोप

By: | Updated: 06 May 2014 11:26 AM
नई दिल्ली. प्रियंका के बीजेपी के पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी पर लगाए नीच राजनीति के आरोपों पर जहां बीजेपी भड़क गई है वहीं कांग्रेस इस पर सफाई दे रही है.

 

प्रियंका गांधी की नीच राजनीति वाले बयान को लेकर विवाद थम नहीं रहा है. प्रियंका के हमले के बाद बीजेपी हमले की मुद्रा में है. बीजेपी नेता अरुण जेटली ने प्रियंका से माफी मांगने की मांग की है. जेटली ने कहा है कि ये कांग्रेस के अहंकार का नतीजा है.

 

प्रियंका गांधी के मोदी पर नीच राजनीति के आरोपों के बाद मोदी ने पलटवार किया है. मोदी ने कहा है कि निचले वर्ग से आया हूं तो उनके लिए मेरी राजनीति नीच राजनीति ही होगी.

निचली जाति का हूं, इसलिए मुझ पर लगा 'नीच राजनीति' का आरोप: मोदी 

मोदी ने कहा है कि सामाजिक रूप से निचले वर्ग से आया हूं इसलिये मेरी राजनीति उन लोगों के लिये ‘नीच राजनीति’ ही होगी. हो सकता है कुछ लोगों को यह नजर नहीं आता हो पर निचली जातियों के त्याग, बलिदान और पुरुषार्थ की देश को इस ऊँचाई पर पहुँचाने में अहम भूमिका है.

 

इसी ‘नीच राजनीति’ की ऊंचाई पिछले 60 सालो के कुशासन और वोट बैंक की राजनीति से भारत को मुक्त कर ..भारत मां के कोटि कोटि जन के आंसू पोंछेगी. इसी ‘नीच राजनीति’ की ऊंचाई भारत मां को एक समृद्ध और शक्तिशाली राष्ट्र के रूप में विश्व में स्थान दिलाने की ताकत रखती है.

 

कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला ने कहा है कि बातों को तोड़ने मरोड़ने की बीजेपी की आदत है. नीच राजनीति का मतलब जाति से नहीं था. वहीं कांग्रेस के सहयोगी दलों का कहना है कि मोदी को पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को लेकर अपशब्द नहीं बोलने चाहिए थे.

 

मोदी ने सोमवार को जब अमेठी में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी पर हमला बोला तो प्रियंका गांधी ने जवाब में उन पर निचले स्तर की राजनीति करने का आरोप लगाया.

 

प्रियंका ने कहा था कि इन्होंने अमेठी की धरती पर मेरे शहीद पिता का अपमान किया है. अमेठी की जनता इस हरकत को कभी माफ नहीं करेगी. इनकी नीच राजनीति का जवाब मेरे बूथ कार्यकर्ता देंगे. अमेठी के एक-एक बूथ से जवाब आएगा.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story भारत में इस साल 50 करोड़ से ज्यादा हो जाएगी इंटरनेट यूजर्स की तादाद: रिपोर्ट