नीतीश का एलान, दलित नेता जीतन राम मांझी होंगे बिहार के अगले सीएम

By: | Last Updated: Monday, 19 May 2014 12:51 PM

पटना: दो दिन तक चले ज़ोरदार सियासी खींचतान के बाद बिहार में नए सीएम के नाम का एलान हो गया है. नीतीश कुमार ने शाम 6.30 बजे राज्यपाल डी वाई पाटिल से मुलाकात के बाद मीडिया से बात करते हुए कहा कि जीतन राम मांझी जेडीयू विधायक दल के नेता चुने गए हैं.

 

नीतीश ने कहा कि उन्होंने राज्यपाल से मुलाकात करके फिर से सरकार बनाने का दावा पेश किया है. उन्होंने मीडिया से कहा कि जेडीयू को बहुमत हासिल है और अब फैसला राज्यपाल को करना है. 

 

आपको बता दें कि शनिवार को नीतीश कुमार ने लोकसभा चुनाव में जेडीयू की करारी हार के बाद हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए सीएम पद से इस्तीफा दे दिया था. रविवार और सोमवार को जेडीयू विधायक दल की बैठक हुई जिसमें नेताओं ने नीतीश कुमार को ही दोबारा सीएम बनने के लिए ज़ोर दिया, लेकिन नीतीश कुमार ने इनकार कर दिया.

 

नीतीश कुमार के इनकार के बाद विधायक दल ने उन्हें नया सीएम चुनने के लिए अधिकृत किया. जिसके बाद उन्होंने जीतन राम मांझी के नाम का एलान किया.

 

हालांकि, नीतीश के इस्तीफे के बाद उनके उत्तराधिकारी के तौर पर वशिष्ठ नारायण सिंह और आरसीपी सिंह के नाम चल रहे थे, लेकिन बाज़ी जीतन राम मांझी मार गए.

 

जीतन राम मांझी दलित समाज से आते हैं और इस चुनाव में उन्होंने गया (सुरक्षित ) लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा था, लेकिन वह तीसरे स्थान पर रहे थे.

 

इस समय जीतन राम मांझी नीतीश सरकार में एससी/एसटी वेलफेयर मिनिस्टर हैं.

 

कौन हैं जीतन राम मांझी 

 

जीतन राम मांझी का नाम बिहार की सियासत में यूं तो पुराना है, लेकिन बतौर मुख्यमंत्री उनकी तोजपोशी निश्चित तौर पर किसी चमत्कार से कम नहीं होगा.

 

कांग्रेस पार्टी से सियासत की शुरुआत करने वाले मांझी पहली बार 1980 में बिहार विधानसभा के सदस्य चुने गए और तीन साल बाद बिहार सरकार में उप मंत्री भी बने, लेकिन इन 35 सालों में उनका राजनीतिक कद कभी भी इतना बड़ा नहीं रहा है कि उन्हें कभी सीएम बनने वाले नेता के तौर पर देखा गया हो.

 

एक खेतिहर मज़दूर परिवार में जन्म लेने वाले मांझी का इस पद पर पहुंचना किसी करिश्मे से कम नहीं होगा.

 

जीतन राम मांझी का जन्म 6 अक्टूबर 1944 को गया जिले के मकहार गांव में हुआ. रामजीत राम मांझी के घर पैदा होने वाले जीतन राम मांझी ने स्नातक तक की पढ़ाई की है.

 

जीतन राम 35 साल पहले यानी 1980 में बिहार विधानसभा के लिए चुने गए. बीच में 1990 से 1996 तक वह विधानसभा के सदस्य नहीं रहे, इसके अलावा हमेशा वे  विधानसभा की शोभा बढ़ाते रहे हैं.  1983 से 1985 तक बिहार सरकार में उप मंत्री और 1985 से 1988 तक राज्य मंत्री रहे.

 

1998 से 2000 तक राबड़ी देवी सरकार में राज्य मंत्री रहे. 2008 से नीतीश कुमार की मंत्रिमंडल में कैबिनेट मंत्री हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: नीतीश का एलान, दलित नेता जीतन राम मांझी होंगे बिहार के अगले सीएम
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ele2014
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017