पांच महीने से मोदी-गडकरी में दुआ सलाम तक नहीं

By: | Last Updated: Thursday, 19 April 2012 10:26 AM

नई दिल्ली: पिछले पांच
महीने के दौरान गुजरात के
मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी
और बीजेपी अध्यक्ष नितिन
गडकरी के बीच किसी तरह की
बातचीत नहीं हुई है.

इंडियन एक्सप्रेस अखबार के
मुताबिक खुद बीजेपी अध्यक्ष
नीतिन गड़करी ने ये स्वीकार
किया है. यह तथ्य ये बता देने
के लिए काफी है कि मोदी और
गड़करी के बीच रिश्ते कैसे
हैं.

गुजरात को छोड़ दीजिए तो
नितिन गडकरी और नरेंद्र मोदी
में मतभेद की स्थिति ये है कि
दोनों में पांच महीने में
मुलाकात तो जाने ही दीजिए,
बात की गुंजाइश भी नहीं बनी
है. कही सुनी बात नहीं है ये.
इंडियन एक्सप्रेस अखबार के
मुताबिक खुद गडकरी ने
कड़वाहट की ये कहानी बयान की
है.

गडकरी के मुताबिक उनकी आखिरी
मुलाकात शादी के एक रिसेप्शन
में हुई थी.

ये शादी थी जी समूह के मालिक
के परिवार में. और तारीख थी 22
नवंबर. गुड़गांव में ये
समारोह हुआ था और इसी में
दोनों का आखिरी बार आमना
सामना हुआ था. वो भी बस दुआ
सलाम की तरह.

30 जनवरी 2010 को आखिरी बार गडकरी
और मोदी ने मंच साझा किया था.
बापू के बलिदान दिवस पर.
पोरबंदर में. इसके चार महीने
बाद 21 अप्रैल 2010 को दिल्ली में
बीजेपी ने महंगाई पर रैली की
थी तो नरेंद्र मोदी नदारद थे.

अब ये तो नहीं पता कि गडकरी ने
मोदी को दिल्ली की रैली में
बुलाया नहीं था या मोदी ने
न्योता कबूल नहीं किया लेकिन
ये तो सच है कि लोकायुक्त की
नियुक्ति के मुद्दे पर
राज्यपाल पर हमला बोलने के
लिए मोदी ने अहमदाबाद में
महारैली की तो गड़करी को दूर
ही रखा.

मोदी और गडकरी के रिश्तों में
खटास की कहानी और आगे गई. 30
सिंतंबर 2011 को वो राष्ट्रीय
कार्यकारिणी की बैठक तक में
शामिल नहीं हुए. बहाना था
नवरात्रि का उपवास.

आखिरकार क्या वजह है कि
बीजेपी जैसी बड़ी पार्टी के
अध्यक्ष और उसी पार्टी के
मुख्यमंत्री के बीच इतनी
ऊंची दीवार खड़ी हो गई कि
दोनों मंथन छोड़िए
बात-मुलाकात तक से परहेज करने
लगे.

इसकी एक बड़ी वजह ये बताई
जाती है कि बीजेपी के पूर्व
संगठन महामंत्री संजय जोशी
के साथ गड़करी की दोस्ती.
गड़करी ने जोशी को संगठन में
बिना कोई बड़ा पद दिये हुए एक
तरह से यूपी चुनाव की कमान ही
सौंप दी थी. बची खुची असर
चुनाव के दौरान मोदी की यूपी
में नो एंट्री ने पूरी कर दी.

लेकिन इससे भी बड़ी वजह ये है
कि गडकरी ने कभी मोदी की
नाराजगी की परवाह नहीं की.
अध्यक्ष होने के बावजूद
उन्होंने ना तो मोदी को कभी
मनाया और ना ही अपनाया. ये अलग
बात है कि मंचों और मुलाकातों
से दूर-दूर रहने के बावजूद
गडकरी अपने बेटे की शादी में
नरेंद्र मोदी को बुलाने का मन
बना चुके हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: पांच महीने से मोदी-गडकरी में दुआ सलाम तक नहीं
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

कश्मीरी पंडितों के नरसंहार मामले की जांच से सुप्रीम कोर्ट का इंकार
कश्मीरी पंडितों के नरसंहार मामले की जांच से सुप्रीम कोर्ट का इंकार

नई दिल्लीः कश्मीर में 27 साल पहले हुए पंडितों के नरसंहार की जांच से सुप्रीम कोर्ट ने इंकार कर...

सरकार की अनदेखी की वजह से देश में बनते हैं बाढ़ के हालात : CAG रिपोर्ट
सरकार की अनदेखी की वजह से देश में बनते हैं बाढ़ के हालात : CAG रिपोर्ट

नई दिल्ली: इस समय देशभर का करीब का आधा हिस्सा बारिश औऱ बाढ़ की वजह से बेहाल है. सरकार की तरफ से हर...

इराक में लापता भारतीयों पर सरकार से अकाली का सवाल, बताएं जिंदा हैं या नहीं
इराक में लापता भारतीयों पर सरकार से अकाली का सवाल, बताएं जिंदा हैं या नहीं

शिरोमणि अकाली दल के प्रेम सिंह चंदूमाजरा ने सदन में शून्यकाल के दौरान यह मसला उठाते हुए कहा कि 39...

गोरक्षा पर स्पीकर की ओर कागज उछालने वाले सांसदों को सजा, 5 दिन तक संसद आने पर रोक
गोरक्षा पर स्पीकर की ओर कागज उछालने वाले सांसदों को सजा, 5 दिन तक संसद आने पर...

नई दिल्ली: भीड़ की हिंसा और गोरक्षा के मुद्दे पर आज लोकसभा में खूब हंगामा हुआ. कांग्रेस इस...

अचानक आई बाढ़ में फंसा टैंकर ड्राइवर, मुश्किल से बची जान
अचानक आई बाढ़ में फंसा टैंकर ड्राइवर, मुश्किल से बची जान

जम्मू: पानी की धार जब अपनी मनमौजी चाल में उफनती है तो पूरे आन बान शान से धरती का टीका और ध्वज बने...

मुश्किल में लालू की बेटी और दामाद, ‘मीसा और शैलेश का फार्म हाऊस जब्त करेगा ईडी’
मुश्किल में लालू की बेटी और दामाद, ‘मीसा और शैलेश का फार्म हाऊस जब्त करेगा...

नई दिल्ली: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की बेटी मीसा भारती और दामाद शैलेश कुमार...

मुंबई: सड़क के गड्ढे ने ली बाइकिंग की जुनूनी जागृति की जान
मुंबई: सड़क के गड्ढे ने ली बाइकिंग की जुनूनी जागृति की जान

मुंबई: मुंबई की एक महिला बाइकर जागृति होगले की ट्रक से कुचलने जाने की घटना में मौत हो गई है....

राष्ट्रपति के तौर पर अपनी यादों का एक झरोखा छोड़े जा रहे हैं प्रणब दा
राष्ट्रपति के तौर पर अपनी यादों का एक झरोखा छोड़े जा रहे हैं प्रणब दा

नई दिल्ली: 25 जुलाई 2012 को भारत के 13वें राष्ट्रपति के रूप में जिम्मेदारी संभालने वाले राष्ट्रपति...

चीन ने फिर दी भारत को युद्ध की धमकी, बोला- ‘हमारी सेना को हिला पाना मुश्किल’
चीन ने फिर दी भारत को युद्ध की धमकी, बोला- ‘हमारी सेना को हिला पाना मुश्किल’

बीजिंग:  चीन ने भारत को एक बार फिर युद्ध की धमकी दी है. चीन की सेना के प्रवक्ता ने कहा है कि चीन...

पहले सेटेलाइट 'आर्यभट्ट' बनाने वाले 'हॉल ऑफ फेम' वैज्ञानिक रामचंद्र राव नहीं रहे
पहले सेटेलाइट 'आर्यभट्ट' बनाने वाले 'हॉल ऑफ फेम' वैज्ञानिक रामचंद्र राव नहीं...

नई दिल्ली: जाने माने अंतरिक्ष वैज्ञानिक और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के पूर्व...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017