पाकिस्तान में हीरो बने मेरठ के कश्मीरी छात्र: आतंकी सरगना हाफिज सईद से लेकर पाक सरकार तक इन छात्रों के सरपरस्त बनने को बेकरार

By: | Last Updated: Friday, 7 March 2014 2:41 PM

नई दिल्ली: मेरठ में पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगाने वाले कश्मीरी छात्र पाकिस्तान में हीरो बन गए हैं. आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के सरगना हाफिज सईद ने मेरठ के कश्मीरी छात्रों को शाबाशी देते हुए उन्हें दुनिया में कहीं भी पढ़ने के लिए वजीफे की पेशकश की है. लेकिन बाद में पाकिस्तान सरकार भी हाफिज सईद के सुर में सुर मिलाती नजर आई. पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर मेरठ के कश्मीरी छात्रों को पाकिस्तान आकर पढ़ने की सलाह दी है. भारत ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया जताई है. 

 

आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा मेरठ में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने वाले कश्मीरी छात्रों का सरपरस्त बनकर सामने आया है. लश्कर के चीफ आतंकवादी हाफिज सईद ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने पर मेरठ में पढ़ रहे कश्मीरी छात्रों की दिल-खोलकर तारीफ की है और इन सभी छात्रों को भरपूर वजीफे बांटने की पेशकश की है, ताकि ये छात्र भारत को छोड़कर पूरी दुनिया में कहीं भी पढ़ सकें. 

 

हाफिज सईद की इस आतंकवादी पेशकश पर पाकिस्तान सरकार ने भी हां-में-हां मिलाई है. पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने बकायदा एक बयान जारी कर मेरठ के कश्मीरी छात्रों को अपना समर्थन दिया है. पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने इन छात्रों को पाकिस्तान आकर यहां पढ़ने का न्योता दिया है.

 

 भारत ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया जताई है. भारत ने कहा है कि पाकिस्तान दूसरे देशों के अंदरूनी मामलों में दखल न दे.

 

बीते रविवार को मेरठ की स्वामी विवेकानंद सुभारती यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले 60 कश्मीरी स्टूडेंट्स ने एशिया कप में खेले गए भारत और पाकिस्तान के मैच के दौरान पाकिस्तान के पक्ष में नारे लगाए थे और पाकिस्तान की जीत का जश्न मनाया था.

 

सबसे खास बात ये कि कश्मीर के इन छात्रों ने प्रधानमंत्री योजना के तहत केंद्र सरकार से वित्तीय मदद हासिलकर मेरठ में दाखिला लिया है. कश्मीरी छात्रों की इस हरकत पर यूनिवर्सिटी ने सभी स्टूडेंट्स को उनके घर भेज दिया और यूपी पुलिस ने देशद्रोह का मुकदमा दर्ज कर लिया था. बाद में देशद्रोह का केस वापस ले लिया गया.

 

इस बारे में पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता तस्नीम असलम ने कहा, ‘हमने भारतीय मीडिया में इस तरह की खबरें देखी हैं कि वहां पूरी रात जश्न मनाया गया और 67 कश्मीरी स्टूडेंट्स को निकाल दिया गया. अगर ये कश्मीरी स्टूडेंट्स पाकिस्तान में अपनी पढ़ाई पूरी करना चाहते हैं तो हमारे दिल और संस्थानों के दरवाजे हमेशा उनके लिए खुले हैं.’

 

असलम के इस बयान पर सख्त आपत्ति जताते हुए भारतीय विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा, ‘दूसरे देशों की समस्याएं सुलझाने की कोशिश करने से पहले उन्हें अपनी समस्याओं की ओर ध्यान देना चाहिए.’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: पाकिस्तान में हीरो बने मेरठ के कश्मीरी छात्र: आतंकी सरगना हाफिज सईद से लेकर पाक सरकार तक इन छात्रों के सरपरस्त बनने को बेकरार
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017