पाक ने भारत की अग्रिम चौकियों को निशाना बनाया

पाक ने भारत की अग्रिम चौकियों को निशाना बनाया

By: | Updated: 17 Sep 2013 11:38 AM


जम्मू: जम्मू
कश्मीर के पुंछ सेक्टर में
नियंत्रण रेखा से लगी भारतीय
चौकियों पर बिना किसी उकसावे
के पाकिस्तानी सैनिकों
द्वारा की गई भारी गोलीबारी
में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ)
का एक जवान और एक नागरिक घायल
हो गया.





पुलिस
और बीएसएफ अधिकारियों ने आज
बताया कि भारतीय सैनिकों ने
कारगर जवाब दिया. उन्होंने
कहा कि सीमा पार से कल रात और
आज दोपहर की गई गोलीबारी में
बीएसएफ का एक कांस्टेबल घायल
हो गया.
साथ ही
एक नागरिक भी घायल हुआ है.





भारी मशीन गन का
इस्तेमाल करते हुए
पाकिस्तानी सैनिकों ने कल
रात साढ़े 11 बजे के करीब मेंढर
उप क्षेत्र में तीन भारतीय
चौकियों को निशाना बनाया.
इसमें बीएसएफ के
कांस्टेबल मोहम्मद अबु
सिद्दिकी घायल हो गए. बीएसएफ
अधिकारियों ने बताया कि
उन्होंने रॉकेट
प्रोजेक्टाइल ग्रेनेड भी
दागे.





उन्होंने
कहा कि घायल जवान को अस्पताल
में भर्ती कराया गया है.
उन्होंने कहा कि उनके शरीर
में घुसे र्छे को हटा दिया
गया और वह खतरे के बाहर है.
भारतीय सीमा
प्रहरियों ने मध्यम मशीन
गनों से 98 गोलियां दागीं और 34
ग्रेनेड दागे. इसके बाद दोनों
तरफ से गोलीबारी होती रही और
यह कुछ घंटे तक चलती रही.





रक्षा प्रवक्ता एस एन आचार्य
ने कहा कि पाकिस्तानी
सैनिकों ने कल रात तकरीबन नौ
बजकर 25 मिनट पर मेंढर के अन्य
क्षेत्रों में भी भारत की
अग्रिम चौकियों पर गोलीबारी
की.




उन्होंने कहा
कि भारत ने माकूल जवाब दिया.
गोलीबारी और मोर्टार से गोला
दागा जाना आज अपराह्न दो बजे
तक चलता रहा. पुलिस ने बताया
कि मेंढर के डेरा बासी में
पाकिस्तानी गोलीबारी में आज
दोपहर 40 वर्षीय ताज मोहम्मद
घायल हो गए और उन्हें अस्पताल
में भर्ती कराया गया.





गत
16 सितंबर को पुंछ जिले के मंडी
और गढ़ी क्षेत्रों में
पाकिस्तानी सैनिकों ने दो
बार संघर्ष विराम का उल्लंघन
किया. उन्होंने कहा कि इस साल
एक जनवरी से अब तक पाकिस्तान
ने 90 से अधिक बार संघर्ष विराम
का उल्लंघन किया है.










फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story नसीमुद्दीन सिद्दीकी की 'घरवापसी' के बाद कांग्रेस में उठने लगे विरोध के स्वर