पिछली लोकसभा से पूरी तरह बदला था नई लोकसभा का नजारा

By: | Last Updated: Wednesday, 4 June 2014 9:53 AM

नई दिल्ली: नवनिर्वाचित 16वीं लोकसभा की आज शुरू हुई पहली बैठक का नजारा पिछली लोकसभा से एकदम बदला था. 15वीं लोकसभा में विपक्ष में बैठने वाली बीजेपी पूर्ण बहुमत हासिल करके एनडीए के अपने सहयोगी दलों के सदस्यों के साथ सत्ता पक्ष की सीटों पर विराजमान थी. वहीं अब तक की सबसे कम 44 सीटों पर सिमटी कांग्रेस के सदस्य विपक्षी बेंच पर बैठे थे.

 

सदन की कार्यवाही शुरू होने के कुछ मिनट पहले ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सदन में आये और सत्ता पक्ष के सदस्यों ने खडे होकर उनका स्वागत किया. मोदी विपक्षी बेंच की ओर गये और वहां समाजवादी पार्टी नेता मुलायम सिंह यादव, बीजू जनता दल के अजरुन चरण सेठी और तृणमूल कांग्रेस के सुदीप बंदोपाध्याय सहित विभिन्न नेताओं से हाथ मिला कर अभिवादन किया.

 

इतने में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सदन में प्रवेश किया. मोदी को सामने देख वह तेजी से उनकी तरफ बढीं. दोनों नेताओं ने हाथ जोडकर एक दूसरे का अभिवादन किया. सत्ता पक्ष की पहली पंक्ति में मोदी स्वाभाविक रूप से प्रधानमंत्री के लिए नियत सीट पर बैठे और उनके साथ एनडीए के कार्यकारी अध्यक्ष लालकृष्ण आडवाणी बैठे.

 

सत्ता पक्ष की अग्रिम पंक्ति में गृह मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, संसदीय कार्य मंत्री एम वेंकैया नायडू, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री राम विलास पासवान और बीजेपी के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी बैठे थे.

 

दूसरी ओर विपक्षी बेंच पर अगली पंक्ति में सदन में कांग्रेस के नेता चुने गये मल्लिकाजरुन खडगे और सोनिया बैठी नजर आयीं. सोनिया ने खडगे को नेता प्रतिपक्ष की सीट पर जाने का संकेत किया, जिसके बाद खडगे वहीं जाकर बैठे. विपक्ष की ओर पहली पंक्ति में सोनिया के बाद वीरप्पा मोइली और के एच मुनियप्पा बैठे थे. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी विपक्षी बेंचों पर नौवीं पंक्ति में बैठे थे.

 

इस बार सभी दलों के नेताओं की सीटें बदली हुइ’ थीं लेकिन सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव एकमात्र ऐसे नेता थे, जो उसी सीट पर बैठे, जिस पर वह 15वीं लोकसभा के समय बैठा करते थे. वहीं बीजू जनता दल के सदस्य भी लगभग उन्हीं स्थानों पर बैठे दिखे, जिन पर वे पिछली लोकसभा में बैठा करते थे.

 

पिछली लोकसभा में काफी सक्रिय रहने वाले कई सदस्य इस बार सदन में नजर नहीं आये. भाकपा के गुरूदास दासगुप्ता चुनाव नहीं लडे. माकपा के बासुदेव आचार्य तृणमूल की मुनमुन सेन से चुनाव हार गये. जेडीयू के शरद यादव और बीजेपी के निष्कासित नेता जसवंत सिंह भी चुनाव हार गये.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: पिछली लोकसभा से पूरी तरह बदला था नई लोकसभा का नजारा
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ??????
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017