पीएम के सलाहकार ने भांजी को गलत ढंग से दिलवाए प्‍लॉट

पीएम के सलाहकार ने भांजी को गलत ढंग से दिलवाए प्‍लॉट

By: | Updated: 28 Apr 2012 10:56 PM


नई
दिल्‍ली:
अंग्रेजी
अख़बार 'द हिन्दू'
ने दावा
किया है कि प्रधानमंत्री
मनमोहन सिंह के सलाहकार
टीकेए नायर की भांजी और उनकी
एक करीबी दोस्‍त को गलत ढंग
से प्लॉट आवंटित करके फायदा
पहुंचाया गया था और बाद में
शिकायत होने पर दोनों प्लॉट
लौटा दिए गए. वहीं, तहलका की
खबर में कहा गया है कि
सोसायटी में खुद सीएमडी
वीआरएस नटराजन ने भी नाजायज
तरीके से प्लॉट लिए. 




अंग्रेजी
अख़बार 'द हिन्दू'
का दावा है
कि प्रधानमंत्री मनमोहन
सिंह के सलाहकार टीकेए नायर
की भांजी प्रीति प्रभा और
उनकी एक करीबी महिला उमा देवी
नांबियार को बैंगलोर के
दक्षिणी इलाके में गलत ढंग से
प्लॉट आवंटित किए गए थे.

अखबार
के मुताबिक
इस धांधली में
टाट्रा घोटाले में शिकायत का
सामना कर रहे बीईएमएल के
सीएमडी वीआरएस नटराजन का भी
हाथ था. आरोप है कि बीईएमएल
कर्मचारियों की हाउसिंग
सोसाइटी में नियमों को ताक पर
रखकर ये प्लॉट दिए गए. ये
आवंटन दिसंबर 2008 में किए गए थे.


जब बीईएमएल के एक
पूर्व-कर्मचारी ने इसकी
शिकायत प्रधानमंत्री और
राष्ट्रपति से की तो दिसंबर
2010 में बिना कोई कारण बताए
दोनों प्लॉट लौटा दिए गए.

दक्षिण
बैंगलोर के पॉश इलाके की
सोसाइटी के ये प्लॉट नायर के
करीबियों को सिर्फ 450 रुपये
प्रति वर्गफुट की दर से दे
दिए गए, जबकि उस वक्त इनकी
बाजार में कीमत 2500-3000 रुपये
प्रति वर्गफुट थी.

यानी 60
से 72 लाख रुपये के ये प्लॉट
सिर्फ 10 लाख 80 हज़ार रुपये में
दे दिए गए थे. पीएम और
राष्ट्रपति से इस मामले की
शिकायत करने वाले के एस
पेरियास्वामी का दावा है कि
ये आवंटन टाट्रा घोटाले में
पीएमओ को खामोश रखने के इरादे
से किया गया था.

वीआरएस
नटराजन पर आरोप

बीईएमएल
के सीएमडी वीआरएस नटराजन पर
भी बीईएमएल कर्मचारियों के
लिए बनी हाउसिंग सोसाइटी में
घोटाला करने का आरोप लगा है.
तहलका का दावा है कि बतौर
चेयरमैन नटराजन ने अपने पद का
दुरुपयोग करते हुए सोसाइटी
में कई प्लॉट झपट लिए.

तहलका
के मुताबिक नटराजन 2002 से
बीईएमएल के सीएमडी हैं, लेकिन
वो कंपनी के कर्मचारी नहीं
हैं. इस नाते हाउसिंग सोसाइटी
में उन्हें कुछ नहीं मिलना
चाहिए था, लेकिन उन्‍हें
सिर्फ 8.5 लाख में 6,000 हजार वर्ग
फुट के दो प्लॉट मिले. जिस साल
वो सीएमडी बने थे तभी उन्‍हें
ये फ्लैट दिए गए थे.

साल 2005
में फिर से सोसाइटी के नियमों
की अनदेखी करते हुए नटराजन को
एक और प्लॉट 5330 वर्गफुट का
मिला. नियम के मुताबिक
सोसाइटी में जिसके पास प्लॉट
है, उसे फिर से प्लॉट नहीं मिल
सकता है.

नटराजन का नाम
आजकल चर्चा में है. टाट्रा
ट्रक घोटाले में सीबीआई उनसे
पूछताछ कर चुकी है.




वीआरएस नटराज की सफाई
इस
खबर पर बीईएमएल के चेयरमैन
वीआरएस नटराजन का कहना है कि
आरोप पूरी तरह बेबुनियाद है.

नटराजन
के मुताबिक हो सकता है कि
टीकेए नायर की भांजी और दोस्त
को सोसाइटी की एसोसिएट
मेंबरशिप दी गई है. जमीन के
जिस मालिक से जमीन खरीदी गई
है, उसे दिए जाने वाले प्लॉट
के हिस्से को वो जिसे कहता है
उसे अलॉट कर दिया जाता है.
अलॉटी सोसाइटी के एसोसिएट
मेंबर हो सकते हैं.

शिकायतकर्ता
करने वाले केएस
पेरियास्वामी को अभद्र
बर्ताव और सहकर्मियों के साथ
झगड़े की कई शिकायतों के बाद
बर्खास्त किया गया था. इसी के
कारण वो ऐसे आरोप लगा रहे हैं.
बर्खास्तगी के खिलाफ उनकी
याचिका पर सुनवाई लेबर कोर्ट
में चल रही है.

नटराजन का
कहना है कि बीईएमएल की तीन
कोऑपरेटिव हाउसिंग सोसाइटी
हैं. तीनों की मॉनिटरिंग और
कंट्रोल पर बीईएमएल
मैनेजमेंट का कोई दखल नहीं
है. रजिस्ट्रार ऑफ सोसाइटीज़
कंट्रोल करती है.




वहीं, अंग्रेजी अखबार 'द
हिंदु' से बात करते हुए
प्रीति प्रभा ने माना है कि
उन्होंने विवादों के चलते
प्लॉट वापस कर दिए. उन्होंने
यह भी बताया कि नटराजन उनके
पारिवारिक दोस्त हैं और वो
उन्‍हें अंकल कहा करती हैं,
लेकिन प्लॉट नटराजन से
संपर्क के कारण नहीं मिले थे.




कौन हैं टीकेए नायर
टीकेए
नायर इस समय प्रधानमंत्री
मनमोहन सिंह के सलाहकार हैं.
नायर को राज्यमंत्री का
दर्जा मिला हुआ है. उनका नाम
पीएमओ के अधिकारियों की
लिस्ट में सबसे ऊपर है. केरल
के रहने वाले नायर 1963 बैच के
पंजाब कैडर के आईएएस अधिकारी
हैं. वे पंजाब के मुख्य सचिव
रह चुके हैं.

टीकेए नायर
मनमोहन सिंह से पहले पूर्व
प्रधानमंत्री आईके गुजराल
और पूर्व प्रधानमंत्री अटल
बिहारी वाजपेयी के साथ भी
प्रधानमंत्री कार्यालय में
काम कर चुके हैं.

साल 2008
में जब उनकी भांजी प्रीति
प्रभा और करीबी उमादेवी को
प्लॉट मिले थे तब वो
प्रधानमंत्री कार्यालय में
प्रमुख सचिव हुआ करते थे.
नायर के बाद पुलक चटर्जी इस
समय प्रधानमंत्री के प्रमुख
सचिव हैं.











संबंधित खबरें




बैंगलोर
में नटराजन के घर सीबीआई का
छापा






टाट्रा
ट्रक मामले में बीईएमएल
प्रमुख से पूछताछ






टाट्रा
की खरीद को लेकर सीबीआई की
छापेमारी











फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story मुंबई: बेबी मोशे के साथ नरीमन हाउस पहुंचे इजरायल के पीएम नेतन्याहू