प्रियंका ने किया स्मृति ईरानी, कुमार विश्वास पर हमला, कहा-सिर्फ राहुल के कारण आए अमेठी, बाद में भाग जाएंगे

By: | Last Updated: Saturday, 26 April 2014 7:06 AM
प्रियंका ने किया स्मृति ईरानी, कुमार विश्वास पर हमला, कहा-सिर्फ राहुल के कारण आए अमेठी, बाद में भाग जाएंगे

नई दिल्ली: आज अमेठी में कांग्रेस उम्मीदवार और अपने भाई राहुल गांधी के प्रचार के लिए प्रियंका गांधी पहुंची.  प्रियंका गांधी को रास्ते में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने अपनी पार्टी के झंडे दिखाए. प्रियंका ने लोगों से राहुल को भारी मतों से जिताने की अपील की. प्रियंका ने आज खुलकर बीजेपी की अमेठी से उम्मीदवार स्मृति ईरानी और आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार कुमार विश्वास पर हमला बोला. प्रियंका ने कहा कि इन लोगों को अमेठी की जनता से  प्यार नहीं है, ये लोग तो सिर्फ राहुल गांधी को यहां हराने के लिए आए हुए हैं.

 

अमेठी में माइक संभालते ही प्रियंका ने मंच छोड़ा, जनता के बीच जाकर लोगों को संबोधित किया.

 

प्रियंका गांधी के भाषण की मुख्य बातें-

  • स्मृति ईरानी पर निशाना साधते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि चांदनी चौक से चुनाव लड़ने के बाद वो कभी लौटकर वहां नहीं गईं. प्रियंका ने  कहा- जो चांदनी चौक से चुनाव लड़ी थीं, क्या वों चांदनी चौक दुबारा गईं?
     

  • आप नौटंकी समझते हैं और सच्चाई जानते हैं. आप अपने क्षेत्र में विकास चाहते हैं. आपको ऐसे नेता की जरूरत है जो दूरदर्शी हो. जब आप वोट देंगे तो याद रखें कि हम आपके लिए समर्पित हैं.
     

  • स्मृति ईरानी पर निशाना साधते हुए प्रियंका गांधी ने कहा कि चांदनी चौक से चुनाव लड़ने के बाद वो कभी लौटकर वहां नहीं गईं.
     

  • आलोचना करना बहुत आसान है. जो दूसरी पार्टियों के लिए प्रचार करने आए हैं उनके दिल में जनता के लिए प्रेम है इसलिए आए हैं? नहीं, वो सिर्फ राहुल गांधी को हराने आए हैं. मैं जहां भी काम करूं, मेरा दिल यहां है, मैं यहां आकर खुश हो जाती हूं.
     

  • राहुल गांधी ने आपके लिए इसलिए काम नहीं किया है कि वो नेता है बल्कि वो आपसे प्यार करते हैं इसलिए किया है. जो दिया है हमें देश की जनता ने दिया है, अमेठी ने दिया है. अमेठी की जनता से बढ़कर कोई नहीं है हमारे लिए
     

  • मुझे याद है कि मेरे पिता राजीव गांधी के दिल में आप लोगों के लिए कितना प्रेम था. जितना प्यार मैंने राहुल ने दिया उतना ही प्यार अमेठी के लोगों ने उन्हें दिया. वो एक नेक इंसान थे, मधुर भाषी थे. जो भी उन्होंने अपने क्षेत्र के लिए किया प्रेम से किया. वे दूरभाषी थे. उन्होंने विकास किया तो वह क्षेत्र के दायरे तक सीमित नहीं थी.
     

  • राहुल जी की दुरदर्शी सोच है. राहुल ने जब अमेठी के विकास का काम शुरू किया तो आगे का सोचकर किया कि आगे 10 दस सला में क्या होगा.
     

  • जिस तरह राजीव जी की आलोचना की थी वैसे राहुल जी की आलोचना करते है वो लोग.  जो काम अमेठी में राहुल जी ने किया है उसीक मैं एक लंबी लिस्ट लाई हूं. क्योंकि इतना काम मुझे याद ही नहीं रहेगा.