बटन दबाते ही हाजिर होंगे कंडोम

बटन दबाते ही हाजिर होंगे कंडोम

By: | Updated: 02 May 2014 11:25 AM
नई दिल्ली: आपको अब कंडोम खरीदने के लिए किसी दुकान पर जाने या शर्मिदगी महसूस करने की जरूरत नहीं पड़ेगी. अब आप राह चलते-फिरते कंडोम प्राप्त कर सकते हैं.

 

यहां तक कि आप विश्व स्तरीय दिल्ली मेट्रो में सफर करने के दौरान भी कंडोम खरीद सकते हैं, वह भी किसी से कहे बगैर. आपको दिल्ली मेट्रो के स्टेशनों पर लगी वेंडिंग मशीन में सिक्के या रुपये डालने होंगे और पलक झपकते ही आपके सामने कंडोम, नैपकिन एवं अनेक तरह के स्वास्थ्य संबंधी उत्पाद हाजिर हो जाएंगे.

 

दुनिया के सबसे बड़े गर्भनिरोधक उत्पादक एचएलएल लाइफकेयर लिमिटेड (एचएलएल) ने राष्ट्रीय राजधानी में अपने विशाल एवं फैले हुए स्टेशन परिसरों में पुरुष और महिला कंडोम उपलब्ध कराने के लिए दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) के साथ हाथ मिलाने का निर्णय किया है.

 

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के तहत कार्यरत मिनी रत्न पीएसयू केरल स्थित एचएलएल वेंडिंग मशीनों के जरिए कंडोम के अलावा सैनिटरी नैपकिन, खाई जाने वाली गर्भनिरोधक गोलियां, दरुगधनाशक (डियोडरेंट) और आयुर्वेदिक उत्पाद (जोड़ों का दर्द दूर करने वाली क्रीम और हेयर ऑयल) जैसे उत्पाद भी बेचेगा.

 

इस पहले बहुउद्देशीय वेंडिंग मशीन का उद्घाटन स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के सचिव लव वर्मा ने दिल्ली स्थित केंद्रीय सचिवालय मेट्रो स्टेशन पर किया. इस मौके पर एचएलएल के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक डॉ. एम. अयप्पन भी उपस्थित थे.

 

इस मौके पर लव वर्मा ने कहा, "दिल्ली मेट्रो से सफर करने वालों को गर्भनिरोधक एवं अन्य स्वास्थ्य संबंधी उत्पाद उपलब्ध कराने की यह अनूठी पहल है." उन्होंने कहा, "मुझे विश्वास है कि यह कोशिश जनसंख्या को स्थिर करने की दिशा में भारत सरकार की ओर से की जा रही पहल को और मजबूत करेगी."

 

दिल्ली मेट्रो भारत की पहली आधुनिक सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था है जो हर दिन करीब 2800 सेवाएं संचालित करती है और इससे रोजाना 24 लाख यात्री सफर करते हैं. एचएलएल की ऐसी पहल के प्रति यात्रियों का आकर्षित होना निश्चित है और इस पहल के जरिये उपभोक्ताओं को गर्भनिरोधक खरीदने में कोई दिक्कत नहीं होगी.

 

डॉ. अय्यप्पन ने कहा कि एचएलएल पहले चरण में विभिन्न मेट्रो स्टेशनों पर 21 स्थानों पर 25 वेंडिंग मशीनें स्थापित करेगी. उन्होंने कहा, "हमारा प्रयास दिल्ली मेट्रो के यात्रियों को कंडोम, सेनेटरी नैपकिन, डियोडरेंट और गर्भनिरोधक गोलियां उपलब्ध कराना है. दिल्ली मेट्रो के यात्री अब चलते-फिरते इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं. इस प्रयास से परिवार नियोजन, एचआईवी या एड्स की रोकथाम और समग्र स्वास्थ्य के लिये महिलाओं में स्वच्छता जैसे सामाजिक मुद्दों में भी योगदान मिलेगा."

 

इन वेंडिंग मशीन का संचालन भारत की प्रमुख वेंडिंग कंपनी इंस्टागो की ओर से किया जा रहा है. ये वेंडिंग मशीन पूर्णत: स्वचालित बहुउद्देशीय वेंडिंग मशीन हैं, जिसमें भारतीय मुद्रा डालने के बाद एक बटन को दबाना होता है और इस मशीन से वांछित उत्पाद निकल आता है. इस मशीन की खासियत यह है कि यह सिक्के एवं नोट दोनों स्वीकार करती है. अगर ज्यादा पैसे या अधिक मूल्य के रुपये या सिक्के डाले गए तो यह मशीन बाकी पैसे वापस कर देती है.

 

इस मशीन में 'वेंड सेंसर' का इस्तेमाल किया गया है. अगर किसी कारण से उपभोक्ता को उत्पाद नहीं मिलता है तो उसे पैसे वापस मिल जाते हैं.

 

एचएलएल ने कारपोरेट कार्यालयों, स्कूलों और कॉलेजों के वाश रूम तथा अन्य विभिन्न सार्वजनिक स्थलों पर लोगों को सैनिटरी नैपकिन एवं कंडोम उपलब्ध कराने के लिए दो वेंडिम मशीनें लगाने की भी योजना बनाई है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story राज्य सभा चुनाव: बंगाल से जया बच्चन का नाम अभी फाइनल नहीं?