बस्तर हमले का राजनीति से कोई संबंध नहीं: CPI

By: | Last Updated: Thursday, 17 October 2013 12:39 AM

<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
<b>रायपुर:</b>
सीपीआई, जिसने 25 मई को
छत्तीसगढ़ के कई बड़े
कांग्रेसी नेताओं की जान
लेने वाले हमले की
जिम्मेदारी ली थी, ने आज कहा
कि हमले का राजनीति से कोई
लेना देना नहीं था.<br /><br />एक
प्रेस विज्ञप्ति में
प्रतिबंधित दल की
दण्डकारण्य स्पेशल जोनल
कमेटी के सचिव रामन्ना ने
हमले के पीछे किसी राजनीतिक
साजिश से इंकार किया और कहा
कि भाजपा और कांग्रेस
विधानसभा चुनाव से पहले
राजनीतिक महत्व हासिल करने
के लिए एक दूसरे को दोषी ठहरा
रही हैं.<br /><br />संगठन ने हमले
में प्रदेश कांग्रेस कमेटी
के अध्यक्ष नंद कुमार साय के
पुत्र दिनेश पटेल की मौत के
लिए माफी मांगी है.<br /><br />
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
हमले के लिए एक दूसरे पर
उंगलियां उठा रहीं भाजपा और
कांग्रेस ने ‘प्रेस
विज्ञप्ति’ की वैधता पर सवाल
उठाया है.<br /><br />छत्तीसगढ़
विधानसभा में विपक्ष के नेता
रवीन्द्र चौबे ने इसकी जांच
की मांग करते हुए आरोप लगाया
कि इस बयान के पीछे भाजपा है.<br /><br />चौबे
ने राज्य में अगले महीने होने
वाले विधानसभा चुनाव को
देखते हुए प्रेस विज्ञप्ति
जारी करने के समय पर भी
सवालिया निशान लगाया.
उन्होंने कहा, “आने वाले
चुनाव में भाजपा को बस्तर में
अपना आधार खिसकता नजर आ रहा
है और प्रेस विज्ञप्ति के
पीछे उसका हाथ होने से इंकार
नहीं किया जा सकता.” <br /><br />इसके
जवाब में भाजपा ने आरोप लगाया
कि चुनाव से पहले कांग्रेस ने
यह “साजिश” रची है.<br /><br />भाजपा के
राज्य प्रवक्ता श्रीचंद
सुंदरानी ने कहा, “रामन्ना को
सामने आकर यह स्पष्टीकरण
क्यों देना पड़ा कि यह
राजनीतिक हत्या नहीं थी?”
उन्होंने कहा कि कांग्रेस और
नक्सलवादियों के बीच भ्रम की
स्थिति है.<br /><br />उन्होंने आरोप
लगाया, “यह हमले में कथित रूप
से शामिल कांग्रेस के कुछ
चेहरों को बचाने की कोशिश है.”
विज्ञप्ति में सीपीआई (एम) की
दण्डकारण्य स्पेशल जोनल
कमेटी के सचिव रामत्रा ने कहा
कि बस्तर हमला सलवा जुडूम और
आपरेशन ग्रीनहंट के खिलाफ
प्रतिशोध के तौर पर अंजाम
दिया गया था.<br /><br />नक्सलियों ने
बस्तर में कांग्रेस पार्टी
के काफिले पर हमला कर 27 लोगों
को मौत के घाट उतार दिया था.
मरने वालों में पार्टी की
राज्य इकाई के प्रभारी नंद
कुमार पटेल, उनके पुत्र
दिनेश, आदिवासी नेता महेंद्र
करमा, जिन्होंने सलवा जुडूम
की शुरूआत की थी और पूर्व
विधायक उदय मुदलियार शामिल
थे.<br /><br />वरिष्ठ कांग्रेस नेता
विद्या चरण शुक्ल हमले में
गंभीर रूप से घायल हो गए और दो
सप्ताह बाद गुड़गांव के एक
अस्पताल में उनकी मौत हो गई.<br />
</p>

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: बस्तर हमले का राजनीति से कोई संबंध नहीं: CPI
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017