बस एक फोन ने बदल दी बिहार के मुख्यमंत्री की दुनिया

बस एक फोन ने बदल दी बिहार के मुख्यमंत्री की दुनिया

By: | Updated: 20 May 2014 12:32 PM
नई दिल्ली. जीतन राम मांझी ने बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में पद एवं गोपनीयता की शपथ ली. बिहार के राज्यपाल डा0 डी0 वाई पाटिल ने राजभवन परिसर स्थित राजेन्द्र मंडप में जीतन राम मांझी को मुख्यमंत्री के रूप में पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलायी.

 

68 साल के जीतन राम मांझी बिहार के नए मुख्यमंत्री बन गये हैं . जीतन राम मांझी के मुख्यमंत्री बनने की कहानी भी किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं है . जीतन सोमवार को शादी समारोह में शामिल होने के लिए गया जाने की तैयारी कर रहे थे . तभी मुख्यमंत्री निवास से फोन आया और फिर तो दुनिया ही बदल गई .

 

गया जिले के रहने वाले जीतन राम मांझी 1980 में पहली बार विधायक बने . अभी जहानाबाद जिले के मखदमपुर से विधायक हैं . नीतीश सरकार में पिछडा कल्याण मंत्री थे . इससे पहले वह लालू- राबड़ी सरकार में शिक्षा राज्य मंत्री रह चुके हैं . राजनीति में आने से पहले टेलीफोन विभाग में क्लर्क की नौकरी किया करते थे .

 

जीतन राम इससे पहले विवादों में भी रह चुके हैं . 2005 में जब नीतीश पहली बार सीएम बने थे तो जीतन राम को भी मंत्री बनाया था . लेकिन एक घोटाले में नाम होने की वजह से अगले दिन ही उन्हें इस्तीफा देना पड़ा था . बाद में जीतन फिर से मंत्री बने. लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद नीतीश ने इस्तीफा दिया था और तीन दिन के ड्रामे के बाद जीतन राम मांझी का नाम बिहार के नए मुख्यमंत्री के तौर पर सामने आया . फिलहाल मांझी ने अकेले ही शपथ ली है . 

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story घोटाले के बाद नीरव मोदी का पहला बयान, कहा- पीएनबी का बकाया नहीं चुका सकते