बिजली, पानी की समस्या से जूझ रहा है देश: गडकरी

बिजली, पानी की समस्या से जूझ रहा है देश: गडकरी

By: | Updated: 06 Aug 2012 05:34 AM


आगरा:
ताजनगरी आगरा में चल रही
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा)
की दो दिवसीय कार्ययोजना
बैठक के अंतिम दिन सोमवार को
पार्टी के राष्ट्रीय
अध्यक्ष नितिन गडकरी ने कहा
कि आजादी के 60 वषरें बाद भी
देश रोटी, बिजली और पानी की
समस्या से जूझ रहा है.

गडकरी
ने केंद्र सरकार पर परोक्ष
रूप से निशाना साधते हुए कहा,
"देश को आजाद हुए 60 वर्ष से
अधिक हो गए हैं. आज भी हम
बुनियादी जरूरतों के लिए ही
जूझ रहे हैं. अटल बिहारी
वाजपेयी के शासन के दौरान
भाजपा ने देश को एक अच्छा
सुशासन दिया था लेकिन
वर्तमान सरकार की नीतियों की
वजह से महंगाई अपने चरम पर है."

गडकरी
ने कहा, "अटल जी ने अपने
कार्यकाल के दौरान देश को एक
दिशा देने का काम किया था
लेकिन आज सरकार की गलत आर्थिक
नीतियों की वजह से किसान
आत्महत्या करने का मजबूर हो
रहे हैं."

उन्होंने कहा कि
देश में भुखमरी की समस्या है.
सरकार लगातार बहाने ही बना
रही है लेकिन बिजली, पानी और
सड़क की समस्या जस की तस बनी
हुई है. गडकरी के सम्बोधन की
साथ ही भाजपा की दो दिवसीय
बैठक समाप्त हो गयी.

इससे
पूर्व सूबे के वरिष्ठ भाजपा
नेता कलराज मिश्र ने जहां
नीतीश को हद में रहने की
नसीहत दी तो पार्टी की फायर
ब्रांड नेता उमा भारती ने
राज्य सरकार पर जमकर हमला
बोला.

बैठक के अंतिम दिन
पार्टी के राष्ट्रीय
उपाध्यक्ष कलराज मिश्र ने
नीतीश पर निशाना साधते हुए
कहा, "नरेंद्र मोदी को
प्रधानमंत्री पद का
उम्मीदवार घोषित किए जाने का
मुद्दा पार्टी का अंदरूनी
मामला है और नीतीश कुमार उनके
बारे में कुछ न बोलें तो ही
बेहतर होगा."

कलराज ने कहा
कि नीतीश कुमार भाजपा के
प्रमुख सहयोगी हैं. उन्हें हर
प्रक्रिया के बारे में अच्छी
तरह से पता है कि
प्रधानमंत्री पद के दावेदार
की घोषणा कैसे होती है.
उन्होंने कहा कि नीतीश बेवजह
मोदी के बारे में बयानबाजी कर
रहे हैं. मोदी नि:संदेह
पार्टी के एक प्रमुख नेता
हैं.

कलराज के बाद
कार्ययोजना बैठक को
सम्बोधित करते हुए भाजपा की
राष्ट्रीय नेता उमा भारती ने
समाजवादी पार्टी पर खुलकर
निशाना साधा. उमा ने कहा कि
सरकार हर मोर्चे पर विफल
साबित हुई है. सपा की सरकार
बनने के बाद से राज्य में
अराजकता का माहौल पैदा हुआ
है.

उमा ने राज्य के लोगों
से अपील करते हुए कहा, "राज्य
सरकार आपको सुरक्षा नहीं दे
सकती. जिस प्रकार सरकारी बसों
में लिखा रहता है कि यात्री
अपने सामान की सुरक्षा स्वयं
करें उसी तरह अब राज्य के
लोगों को अपने सम्मान की
सुरक्षा स्वयं करनी होगी."




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story ED ने पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम से 11 घंटे तक की पूछताछ