बिहार: 47 मतदाताओं वाले परिवार को लुभाने में जुटी पार्टियां

बिहार: 47 मतदाताओं वाले परिवार को लुभाने में जुटी पार्टियां

By: | Updated: 30 Mar 2014 10:40 AM
पटना: मौजूदा चुनावी मौसम में बिहार के किशनगंज निर्वाचन क्षेत्र के एक परिवार की बड़ी पूछ हो रही है.

 

दरअसल, मामला यह है कि इस परिवार में कुल 85 सदस्य हैं, जिनमें से 47 मतदाता हैं. सभी राजनीतिक पार्टियों के नेता और कार्यकर्ता इन दिनों इस कुनबे को लुभाने और आवभगत में लगे हैं.

 

बिहार के संभवत: सबसे बड़े परिवार में 35 बच्चे, 30 महिलाएं और 55 पुरुष हैं, जो पूर्णिया जिले के जियागाछी गांव में एक साथ एक ही छत के नीचे रहते हैं.

 

परिवार के मुखिया मोहम्मद नजीर ने कहा, "हम लोगों की मांग काफी बढ़ गई है, क्योंकि एक ही परिवार से 47 लोग लोकसभा चुनाव में वोट देने वाले हैं."

 

उन्होंने कहा, "सारे नेता हमें विश्वास में लेने की होड़ में हैं, क्योंकि हमारा परिवार अकेले ही कई परिवारों के बराबर है."

 

नजीर के भाई मोहम्मद अशफाक की पत्नी अंजीरा खातून गांव की मुखिया हैं. उन्होंने कहा, "गांव की मुखिया भले ही वह हैं, लेकिन उनके परिवार के मुखिया उनके जेठ नजीर हैं."

 

एक पुलिस अधिकारी महेंद्र प्रसाद यादव ने कहा कि नजीर का परिवार गांव के विवादों और छोटे मोटे झगड़े सुलझाने में पुलिस की मदद भी करता है.

 

पटना से 350 किलोमीटर दूर पूर्णिया में भले ही यह परिवार बसा है, लेकिन परिसीमन के बाद यह इलाका किशनगंज संसदीय क्षेत्र के तहत आता है.

 

किशनगंज में मुस्लिम मतदाताओं की संख्या लगभग 66.7 प्रतिशत है. कांग्रेस ने यहां से अपने मौजूदा सांसद मौलाना असरारुल हक को चुनाव में उतारा है, जबकि सत्तारूढ़ जनता दल (युनाइटेट) ने राष्ट्रीय जनता दल के बागी नेता अख्तरुल इमान को और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने दिलीप जयसवाल को उम्मीदवार घोषित किया है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story मुख्य सचिव मामला: केजरीवाल और विधायकों से पूछताछ कर सकती है पुलिस,  CCTV रिकॉर्डिंग में मिली गड़बड़ी