बीजेपी को दर्द देने वाले भाईचारे में उलझे वरुण राहुल की तारीफ करके पलटे

बीजेपी को दर्द देने वाले भाईचारे में उलझे वरुण राहुल की तारीफ करके पलटे

By: | Updated: 02 Apr 2014 08:10 AM

रायबरेली: क्या भाई-भाई के बीच नज़दीकियां बढ़ रही हैं? क्या गांधी परिवार के आपस की दशकों पुरानी रंज़ीश की दीवारें टूट रही हैं?

 

अभी ऐसे होने सवाल शुरू ही हुए कि बीजेपी को दर्द देने वाले भाईचारे में उलझे वरुण गांधी राहुल की तारीफ से पलट गए. वरुण गांधी ने एबीपी न्यूज़ से बातचीत में कहा कि उन्होंने जो कहा था उसका मतलब किसी पार्टी की तारीफ करना नहीं था.

 

इसके साथ ही वरुण ने सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर कहा कि उनके बयान को किसी राजनीतिक पार्टी या कैंडिडेट की तारीफ के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए.

 

दरअसल मामला यह है कि बीजेपी के 'फायरब्रैंड' नेता के रूप में पहचान बनाने वाले वरुण गांधी ने सुल्तानपुर की एक सभा में राहुल की जमकर तारीफ की थी. वरुण ने कहा कि सुल्तानपुर में लघु उद्योगों को उसी तरह बढ़ावा देने की जरूरत है, जैसे अमेठी में राहुल ने सेल्फ हेल्प ग्रुप का सफल प्रयोग किया.

 

कल बीजेपी के नेता और राहुल के चचेरे भाई वरुण गांधी ने राहुल की तारीफ की तो आज राहुल ने भी बड़े भाई का हक़ अदा कर दिया.

 

रायबरेली में राहुल ने मां सोनिया गांधी के सामने वरुण की तारीफ की और मीडिया के एक सवाल के जवाब में कहा, "जो कुछ वरुण कह रहे हैं वह बिल्कुल सही कह रहे हैं."

 

वरुण गांधी ने की राहुल गांधी की तारीफ  

 

गौरतलब है वरुण बीजेपी से उम्मीदवार हैं और उनकी मां मेनका गांधी भी बीजेपी के टिकट पर ही चुनाव लड़ रही हैं.

 

भाई-भाई की नज़दीकियों के बीच सवाल यह भी है कि कुछ दिन पहले ही मेनका गांधी ने सोनिया गांधी पर निशाना साधते हुए कहा था कि वह बताएं कि आखिर उनके पास इतने पैसे कहां से आए और वह दुनिया की छठी सबसे अमीर महिला कैसे बन गई?

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story बिहार में बेकाबू बोलेरो ने स्कूली बच्चों को रौंदा, 9 की मौत, 20 से अधिक जख्मी