भारत की बढ़ी ताकत, अग्नि मिसाइल का पहली बार रात में सफल परीक्षण

भारत की बढ़ी ताकत, अग्नि मिसाइल का पहली बार रात में सफल परीक्षण

By: | Updated: 12 Apr 2014 05:36 AM

बालेश्वर: भारत ने परमाणु युद्ध-सामग्री ले जाने में सक्षम देश में विकसित अग्नि 1 बैलिस्टिक मिसाइल का ओड़िशा तट के पास रात के समय में पहली बार सफल परीक्षण किया. इसकी मारक क्षमता 700 किलोमीटर तक है.

 

सेना द्वारा उपयोगकर्ता परीक्षण के तहत इसका रात्रिकालीन परीक्षण किया गया. सतह से सतह से पर मार करने वाली एकल चरण की मिसाइल ठोस प्रणोदक से संचालित होती है.

 

रक्षा सूत्रों ने बताया कि यहां से करीब 100 किलोमीटर दूर व्हीलर द्वीप पर समन्वित परीक्षण रेंज (आईटीआर) से रात 11 बजकर 10 मिनट पर इसे एक मोबाइल लांचर से दागा गया.

 

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन के प्रवक्ता रवि कुमार गुप्ता ने बताया, ‘‘परीक्षण सफल रहा और मिशन के सारे उद्देश्य पूरे हो गए.’’ आईटीआर निदेशक एमवीकेवी प्रसाद ने बताया कि मिसाइल विशेष रूप से गठित सेना के सामरिक बल कमान ने उपयोगकर्ता परीक्षण के तहत दागी गई.

 

यह पहला मौका है जब अग्नि 1 रात के समय दागी गई. इसकी जरूरतों को ध्यान में रखकर और किसी भी स्थिति से निपटने की तैयारियों की जरूरत को लेकर एसएफसी ने यह फैसला किया.

 

गौरतलब है कि इससे पहले 18 फरवरी और 19 फरवरी को इसका रात्रिकालीन परीक्षण टाल दिया गया था.

 

12 टन वजनी और 15 मीटर लंबी अग्नि 1 मिसाइल 1,000 किलोग्राम तक पेलोड ले जा सकती है. इसे सेना में पहले ही शामिल किया जा चुका है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story बिहार में बेकाबू बोलेरो ने स्कूली बच्चों को रौंदा, 9 की मौत, 20 से अधिक जख्मी