मंगल यान ने भेजी पहली तस्वीर,देखा उमड़ते हुए तूफान हेलन को

By: | Last Updated: Thursday, 21 November 2013 10:30 AM
मंगल यान ने भेजी पहली तस्वीर,देखा उमड़ते हुए तूफान हेलन को

<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
<b><b></b>चेन्नई: </b>लाल ग्रह के
लिए भेजे गये भारत के पहले
अभियान के तहत प्रक्षेपित
मंगल यान ने आंध्र प्रदेश के
तट की ओर बढ़ रहे भीषण
चक्रवाती तूफान ‘‘हेलन’’ की
तस्वीरें कैद कर भेजी हैं.<br />
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”></p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान
संगठन (इसरो) ने आज यहां बताया
कि मंगलयान ने पृथ्वी की
तस्वीरों का पहला सेट भेजा है
जिसमें भारतीय उपमहाद्वीप
एवं अफ्रीका के कुछ भागों की
तस्वीरों को कैद किया गया है.
तूफान की तस्वीरें मंगलवार
को ली गयी थीं. यह तूफान कल
आंध्र तट पर पहुंचेगा.<br />
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
इसरो सूत्रों ने पीटीआई को
बताया, ‘‘हम अंतरिक्षयान पर
लगे उपकरणों की जांच कर रहे
हैं. ये तस्वीरें मार्स रिपीट
मार्स आर्बिटर अंतरिक्षयान
पर लगे मार्स कलर कैमरा से
मंगलवार को दोपहर एक बजकर 50
मिनट पर 67975 किमी की उंचाई एवं
3.53 किमी के रिजोल्यूशन से ली
गयी हैं. ’’
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
यह पूछे जाने पर कि क्या इन
तस्वीरों को योजना के अनुसार
खींचा गया क्योंकि अभियान तो
मंगल ग्रह के लिए है, सूत्रों
ने कहा कि यह अंतरिक्षयान पर
लगे उपकरण की जांच का अंग है.<br />
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
राष्ट्रीय अंतरिक्ष एजेंसी
को एक से अधिक तस्वीरें मिली
हैं. लेकिन उसने अपनी
आधिकारिक वेबसाइट पर इसकी
केवल एक तस्वीर जारी की है.
तस्वीर में भारतीय उप
महाद्वीप एवं अफ्रीका के
हिस्सों को कैद किया गया है
विशेषकर आंध प्रदेश तट पर आने
वाले चक्रवात हेलन को. <br />
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
मंगलयान को प्रक्षेपित किये
जाने के बाद पहली बार इसमें
लगे उपकरण के परिचालन की जांच
की गयी है. भारतीय मौसम विभाग
ने कहा है कि हेलन कल आंध्र
प्रदेश के तट को पार करेगा और
इसके प्रभाव से भारी वष्रा
होगी.<br />
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
इससे पूर्व इसरो ने मार्स
आर्बिटर की पांच बार कक्षा
बढ़ाये जाने के अभियान को
संपन्न किया था. अंतरिक्ष यान
के शिरोबिन्दु को 1.92 लाख किमी
उपर उठाया गया था. इन
अभियानों के सफलतापूर्वक
संपन्न होने के बाद मंगल
अभियान में एक दिसंबर को रात 12
बजकर 42 मिनट पर ट्रांस मार्स
इंजेक्शन के महत्वपूर्ण चरण
को अंजाम दिया जायेगा.<br />
</p>
<p xmlns=”http://www.w3.org/1999/xhtml”>
मंगल यान करीब 10 माह की
अंतरिक्ष यात्रा करने के बाद
24 सितंबर 2014 को लाल ग्रह की
कक्षा में पहुंचेगा. इसरो के
पीएसएलवी सी 25 ने 1350 किग्रा
वजन वाले मंगलयान आर्बिटर को
पांच नवंबर को श्रीहरिकोटा
के सतीश धवन अंतरिक्ष
केन्द्र से दोपहर दो बजकर 38
मिनट पर प्रक्षेपित किया था
और इसके करीब 44 मिनट बाद इसे
पृथ्वी के इर्दगिर्द कक्षा
में स्थापित कर दिया गया. इसी
के साथ 450 करोड़ रूपये की लागत
वाले इस अभियान का पहला चरण
सफलतापूर्वक संपन्न हो गया.<br />
</p>

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: मंगल यान ने भेजी पहली तस्वीर,देखा उमड़ते हुए तूफान हेलन को
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017