ममता के गढ़ कोलकाता में नरेंद्र मोदी ने कहा- 2004 में प्रणब सबसे ज्यादा अनुभवी फिर मनमोहन सिंह को पीएम क्यों बनाया?

By: | Last Updated: Wednesday, 5 February 2014 5:02 AM
ममता के गढ़ कोलकाता में नरेंद्र मोदी ने कहा- 2004 में प्रणब सबसे ज्यादा अनुभवी फिर मनमोहन सिंह को पीएम क्यों बनाया?

कोलकाता: बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी ने आज गांधी परिवार पर आरोप लगाया कि उन्होंने प्रणब मुखर्जी को दो बार देश का प्रधानमंत्री बनने के अवसर से वंचित किया.

 

यहां ब्रिगेड परेड मैदान में पार्टी की एक रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, ‘जब इंदिरा गांधी की हत्या हुई राजीव गांधी कोलकाता में थे और वह वापस लौटे. लोकतंत्र के तहत, उस समय इंदिरा गांधी सरकार में सबसे वरिष्ठ मंत्री प्रणब मुखर्जी थे. अच्छा होता अगर वह देश के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ लेते.’

 

उन्होंने कहा, ‘उन्होंने ऐसा नहीं किया. यही नहीं परिवार (गांधी) को लगा कि कुछ चल रहा है, इसलिए जब राजीव गांधी की सरकार बनी तो वरिष्ठतम मंत्री प्रणब को मंत्री के तौर पर भी नहीं लिया गया.’

 

मोदी ने कहा, ‘2004 में फिर प्रणब दा सबसे वरिष्ठ राजनीतिज्ञ थे. . यह बहुत स्वाभाविक है कि जब सोनिया गांधी खुद (प्रधानमंत्री) नहीं बनना चाहती थीं तो यह मौका प्रणब दा को दिया जाना चाहिए था, लेकिन मनमोहन सिंह जी प्रधानमंत्री बनाए गए. प्रणब दा को मौका नहीं दिया गया.’

 

उन्होंने बंगाल की जनता से कहा कि इस बात को भूलें नहीं.

 

गुजरात के मुख्यमंत्री ने कहा, ‘बंगाल की जनता को इसे भूलना नहीं चाहिए. मैं आपसे आग्रह करता हूं.’

 

तीसरे मोर्चे पर हमला

 

तीसरे मोर्चे के घटक दलों को आड़े हाथ लेते हुए मोदी ने कहा, ‘तीसरे मोर्चे के पीछे जो विचार काम कर रहा है वह भारत को तीसरे दर्जे का देश बनाने का है. पूर्वी राज्य पिछड़े बने हुए हैं क्योंकि इनमें तीसरे मोर्चे की पार्टियों ने शासन किया है. भारतीय राजनीति से तीसरे मोर्चे के विचार को सदा के लिए अलविदा कहने का वक्त आ गया है.’

 

तीसरे मोर्चे के घटक दलों की आज दिल्ली में बैठक हुई.

 

बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार ने कहा, ‘पश्चिमी राज्यों में तीसरे मोर्चे में शामिल दल सत्ता में कभी नहीं रहे. वे पूर्वी क्षेत्र में सत्ता में रहे और इसे विकास से वंचित कर दिया तथा राज्यों को पीछे ले गए.’

 

सांप्रदायिकता विरोधी और एक संघीय एजेंडे पर संसद में एक मोर्चा बनाने के लिए 11 गैर कांग्रेस और गैर बीजेपी पार्टियों के आज औपचारिक तौर पर दिल्ली में हाथ मिलाने के मद्देनजर मोदी के ये हमले मायने रखते हैं.

 

मोर्चे में माकपा और भाकपा सहित चार वाम दल, समाजवादी पार्टी, जदयू, अन्नाद्रमुक, एजीपी, झारखंड विकास मोर्चा, जद :से: और बीजद शामिल है.

 

मोदी के साथ अच्छा समीकरण रखने वाली तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता ने भाकपा और माकपा के साथ अपने राज्य में एक गठबंधन बनाने की पहल की है, जो कांग्रेस और बीजेपी से मुकाबला करने के लिए अखिल भारतीय स्तर पर उनके एकजुट होने की आहट कही जा सकती है.

 

धर्मनिरपेक्षता के मुद्दे पर तीसरे मोर्चे को आड़े हाथ लेते हुए मोदी ने कहा, ‘जब कभी चुनाव आता है, वे :तीसरे मोर्चे के घटक दल: गरीबों की बात करना शुरू कर देते हैं और धर्मनिरपेक्षता का राग अलापने लगते हैं.’

 

उन्होंने कहा, ‘इन लोगों ने कभी भी यह सुनिश्चित करने की कोशिश नहीं की कि विकास का लाभ मुसलमानों तक पहुंचे. उन्होंने इन्हें सिर्फ मतदाता के रूप में देखा है.’

 

मोदी ने अल्पसंख्यकों की प्रति व्यक्ति आय गुजरात में सर्वाधिक होने का दावा करते हुए कहा, ‘सरकार के पास धर्म की सिर्फ एक पुस्तक होनी चाहिए..वह है संविधान और राष्ट्रवाद में विश्वास रखना चाहिए.’

 

अपने घंटे भर के भाषण में मोदी ने तृणमूल कांग्रेस और इसकी नेता ममता बनर्जी के खिलाफ कुछ मीठी कुछ कड़वी बातें कही. जाहिर तौर पर चुनाव के बाद उन्हें रिझाने की कोशिश के तहत मोदी ने ऐसा किया.

 

भाषण के शुरू में बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार ने ममता के प्रति थोड़ा सख्त रूख अपनाते हुए लोगों से पूछा कि क्या ‘पोरिवर्तन’ हुआ है और क्या उन्हें लगता है कि चीजें बदल गई हैं. ‘लोग अभी तक इसका इंतजार कर रहे हैं.’

 

हालांकि, बाद में उन्होंने थोड़ा नरम रूख अपनाते हुए कहा कि विधानसभा चुनाव के बाद आपके पास ममता के नेतृत्व में एक निर्वाचित सरकार है. उन्होंने कहा कि लोग सभी 42 लोकसभा सीटों पर बीजेपी के उम्मीदवारों को चुनकर प्रयोग कर सकते हैं.

 

मोदी ने कहा, ‘बंगाल ने हमेशा देश को रास्ता दिखाया है. आप सभी लोकसभा सीटों पर बीजेपी उम्मीदवारों को चुनिए. तृणमूल यहां अपना काम करेगी. आप उन्हें राज्य में काम के लिए जवाबदेह ठहराइए और मुझे देश में काम के लिए. मुकाबला होने दीजिए..पश्चिम बंगाल सरकार अकेले राज्य की किस्मत नहीं बदल सकती. आपको दिल्ली की मदद की जरूरत पड़ेगी.’

 

उन्होंने कहा कि केंद्र में मेरे साथ, राज्य में ममता बनर्जी के साथ..यह आपके लिए बहुत बढ़िया स्थिति होगी और प्रणब दा को निगरानी करने दीजिए.

 

मोदी ने बंगाल के लोगों के साथ भावनात्मक संबंध बनाने की कोशिश करते हुए आरोप लगाया कि कांग्रेस ने प्रणब मुखर्जी को 2004 में प्रधानमंत्री नहीं बनने दिया जबकि वह इस पद के हकदार थे.

 

मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने 1984 में इंदिरा गांधी की हत्या के बाद मुखर्जी को प्रधानमंत्री बनाने से इनकार कर दिया, हालांकि उस वक्त वह कैबिनेट के सर्वाधिक वरिष्ठ मंत्री थे. वहीं, राजीव गांधी ने उन्हें अपनी कैबिनेट से हटा दिया.

 

उन्होंने कहा, ‘जब 2004 में सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री बनने से इनकार कर दिया, तब यह स्वभाविक था कि प्रणब दा को मौका दिया जाता लेकिन एक बार फिर उन्हें अस्वीकार दिया गया.

 

मोदी के भाषण के प्रमुख अंश

 

# इंदिरा गांधी की मौत के बाद प्रणब मुखर्जी दावेदार थे. लेकिन राजीव गांधी को बनाया गया. यहां तक कि सरकार में मंत्री भी नहीं बनाया. 2004 में प्रणब मुखर्जी सबसे ज्यादा अनुभवी इसके बावजूद मनमोहन सिंह को प्रधानमंत्री क्यों बनाया? गांधी परिवार ने पीएम नहीं बनने दिया.

 

# सरकार का एक ही मजहब..नेशन फस्ट..सरकार की भक्ति..राष्ट्र भक्ति..सरकार की शक्त..सवा सौ करोड़ देशवासी..

 

# थर्ड फ्रंट का इरादा भारत को थर्ड रेट बनाने का है. मैं इस इलाके को पिछड़ा नहीं रहने दूंगा. देश के इस पूर्वी इलाके का विकास क्यों नहीं? क्योंकि यहां थर्ड फ्रंट की सरकारें रही हैं.

 

# बंगाल के सिर्फ 60 प्रतिशत शौचालय. बिजली के कारखाने बंद हैं. बंगाल के 35 प्रतिशत बिजली कनेक्शन. गुजरात में 24 घंटे तो पश्चिम बंगाल में क्यों नहीं?

 

# वाम दलों पर मोदी ने साथा निशाना. 35 साल तक मजदूरों के नाम पर वोट बदलने वालों ने मजदूरों के लिए कुछ नहीं किया है. मजदूरों के गीत गाने वालों ने क्या दिया?

 

# हम विकास के काम का हिसाब देंगे. बीजेपी की सरकार पश्चिम बंगाल की भलाई करेगी. सभी सीटें बीजेपी को जीता कर दें.

 

# पश्चिम बंगाल में बदलाव लाना है. मैं यह संकल्प लेकर आया हूं.

# पश्चिम बंगाल में 30 से 35 साल से विकास नहीं हुआ.

# विकास भी, ईमान भी और गरीबों का सम्मान भी..हम यह मंत्र लेकर चुनाव में उतरे हैं.

 

# राजनीतिक पंडितों का अनुमान गलत होगा. ये चुनाव देश की जनता लड़ रही है. देश की एक ही मांग है हमें विकास चाहिए. बीमार मां बाप को दवाई चाहिए. नौजवान को रोजगार मिजली चाहिए. बच्चों को शिक्षा मिलनी चाहिए.

 

# भारत को विश्व गुरू बनाने के लिए बंगाल को राष्ट्र गुरू बनना होगा.

 

# बंगाल आधुनिक भारत बनाने की भूमि है.

# मंच पर राजनाथ सिंह भी हैं. ऐसा जनसैलाब पहली बार देखा. लेफ्ट के नेता इस जनसैलाब को देखें. भीड़ देखकर हवा का रूख पता चलता है. इस भीड़को दखें थर्ड फ्रंट के नेता.

 

# सुभाष चंद्र बोष के भाई की भूमिका टेक्सटाइल के उद्योग को बढ़ाने में रही है.

 

 

मोदी की रैली में बड़ा सवाल ये है कि वह कोलकाता में ममता बनर्जी पर नरमी दिखाए. मोदी ने अपनी पिछली कोलकाता यात्रा में ममता की तारीफ की थी और लेफ्ट के गड़्ढे भरने के लिए तारीफ की थी.

 

लेकिन गुरुवार को अपनी रैली में ममता बनर्जी ने बिना नाम लिए ही मोदी पर निशाना  साधा था और कहा था कि दिल्ली में दंगाईयों की सरकार नहीं बनने देंगे.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ममता के गढ़ कोलकाता में नरेंद्र मोदी ने कहा- 2004 में प्रणब सबसे ज्यादा अनुभवी फिर मनमोहन सिंह को पीएम क्यों बनाया?
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

यूपी: मदरसों को लेकर योगी सरकार का दूसरा बड़ा फैसला, अब जरुरी होगा रजिस्ट्रेशन
यूपी: मदरसों को लेकर योगी सरकार का दूसरा बड़ा फैसला, अब जरुरी होगा...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने एक अहम फैसले के तहत शुक्रवार से प्रदेश के सभी...

बाढ़ का कहर जारी: बिहार में अबतक 153  तो असम में 140 से ज्यादा की मौत
बाढ़ का कहर जारी: बिहार में अबतक 153 तो असम में 140 से ज्यादा की मौत

पटना/गुवाहाटी: बाढ़ ने देश के कई राज्यों में अपना कहर बरपा रखा है. बाढ़ से सबसे ज्यादा बर्बादी...

CM योगी का राहुल गांधी पर निशाना, बोले- 'गोरखपुर को पिकनिक स्पॉट न बनाएं'
CM योगी का राहुल गांधी पर निशाना, बोले- 'गोरखपुर को पिकनिक स्पॉट न बनाएं'

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज स्वच्छ यूपी-स्वस्थ...

नेपाल, भारत और बांग्लादेश में बाढ़ से ‘डेढ़ करोड़’ से अधिक लोग प्रभावित: रेड क्रॉस
नेपाल, भारत और बांग्लादेश में बाढ़ से ‘डेढ़ करोड़’ से अधिक लोग प्रभावित: रेड...

जिनेवा: आईएफआरसी यानी   ‘इंटरनेशनल फेडरेशन आफ रेड क्रॉस एंड रेड क्रीसेंट सोसाइटीज’ ने...

‘डोकलाम’ पर जापान ने किया था भारत का समर्थन, चीन ने लगाई फटकार
‘डोकलाम’ पर जापान ने किया था भारत का समर्थन, चीन ने लगाई फटकार

बीजिंग:  चीन ने शुक्रवार को जापान को फटकार लगाते हुए कहा कि वह चीन, भारत सीमा विवाद पर ‘बिना...

यूपी: मथुरा में कर्जमाफी के लिए घूस लेता लेखपाल कैमरे में कैद, सस्पेंड
यूपी: मथुरा में कर्जमाफी के लिए घूस लेता लेखपाल कैमरे में कैद, सस्पेंड

मथुरा: योगी सरकार ने साढ़े 7 हजार किसानों को बड़ी राहत देते हुए उनका कर्जमाफ किया है. सीएम योगी...

JDU राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक शुरु, शरद यादव पर बड़ा फैसला ले सकते हैं नीतीश
JDU राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक शुरु, शरद यादव पर बड़ा फैसला ले सकते हैं...

पटना: बिहार की राजनीति में आज का दिन बेहद अहम माना जा रहा है. पटना में (जनता दल यूनाइटेड) जेडीयू की...

बिहार: सृजन घोटाले में बड़ा खुलासा, सामाजिक कार्यकर्ता का दावा- ‘नीतीश को सब पता था’
बिहार: सृजन घोटाले में बड़ा खुलासा, सामाजिक कार्यकर्ता का दावा- ‘नीतीश को सब...

पटना:  बिहार में सबसे बड़ा घोटाला करने वाले सृजन एनजीओ में मोटा पैसा गैरकानूनी तरीके से सरकारी...

यूपी: वाराणसी में लगे PM मोदी के लापता होने के पोस्टर, देर रात पुलिस ने हटवाए
यूपी: वाराणसी में लगे PM मोदी के लापता होने के पोस्टर, देर रात पुलिस ने हटवाए

वाराणसी: उत्तर प्रदेश में वाराणसी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र है. यहां पर कुछ...

एबीपी न्यूज़ की खबर का असर, गायों की मौत के मामले में बीजेपी नेता गिरफ्तार!
एबीपी न्यूज़ की खबर का असर, गायों की मौत के मामले में बीजेपी नेता गिरफ्तार!

रायपुर: एबीपी न्यूज की खबर का असर हुआ है. छत्तीसगढ़ में गोशाला चलाने वाले बीजेपी नेता हरीश...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017