ममता बनर्जी का यूपीए से समर्थन वापसी का ऐलान

By: | Last Updated: Tuesday, 18 September 2012 9:27 AM
ममता बनर्जी का यूपीए से समर्थन वापसी का ऐलान

कोलकाता:
सरकार के तीन बड़े फैसलों
से नाराज तृणमूल कांग्रेस
अध्‍यक्ष और पश्चिम बंगाल की
मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी
ने यूपीए-2 से समर्थन वापस ले
लिया है.

ममता ने कहा है कि शुक्रवार
को उनके मंत्री दिल्‍ली में
प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह
को अपना इस्‍तीफा सौंप देंगे.
यानी कि सरकार के पास अभी दो
दिन का समय है.

ममता ने यह फैसला कोलकाता में
पार्टी के सांसदों और
मंत्रियों की बैठक में विचार
के बाद किया. इसके बाद
संवाददाताओं से बातचीत में
उन्होंने केंद्र सरकार पर कई
आरोप भी लगाए.

समर्थन वापसी का ऐलान करते
हुए ममता ने कहा, ‘मैंने देश के
मतदाताओं से वादा किया था कि
मैं यूपीए को पूरे पांच साल
तक समर्थन दूंगी. लेकिन मैं
बेहद दुख के साथ यूपीए से
समर्थन वापसी का ऐलान कर रही
हूं. आज कड़ा फैसला नहीं लिया
गया तो कल ये सरकार पेंशन
विधेयक लेकर आएगी और आपका
सारा पेंशन ले लेंगे. इसी तरह
दाम बढ़ाए जाते रहेंगे.’

ममता ने कहा, ‘इस सरकार ने कई
बार पेट्रोल और डीजल के दाम
बढ़ाए. बार-बार हमने ऐसा न
करने का अनुरोध किया लेकिन
हमारी एक न सुनी गई. हमारी
बातों को नजरअंदाज किया गया.
सरकार के फैसलों से आम आदमी
परेशान है.’

उन्होंने कहा,
‘सरकार के फैसलों से आम आदमी
मर जाएगा. यह आपदा होगी।
साधारण लोगों को क्यों मारा
जा रहा है. आर्थिक सुधार के
अन्य उपाय भी हैं.’

ममता ने
केंद्र सरकार पर खुलकर आरोप
लगाया कि कोयला ब्लॉक आवंटन
से देश का ध्यान हटाने के लिए
सरकार ने एफडीआई और मूल्य
वृद्धि का फैसला किया.

ममता ने सरकार के रवैये पर
नाराजगी जताते हुए कहा, ‘हम
यूपीए की दूसरी सबसे बड़ी
पार्टी हैं, लेकिन इसके
बावजूद हमारी कोई इज्‍जत
नहीं.’ पढ़ें:
ममता ने कब-कब दी सरकार को
धमकी

ममता ने अपना साफ संदेश सरकार
तक पहुंचा दिया है, लेकिन
उन्होंने अभी भी समझौते की एक
गुंजाइश रखी है. उन्होंने कहा
कि अगर सरकार उनकी तीनों
मांगों को शुक्रवार तक मान
लेती है तो वो पहले की तरह
सरकार के साथ रहेंगी.

ममता के मुताबिक अगर सरकार
एलपीजी सिलेंडर की संख्‍या
में इजाफा, डीजल के दामों में
कमी और एफडीआई के मुद्दे पर
पूरी तरह से रोल बैक करे तो वो
अपने फैसले पर फिर से विचार
कर सकती हैं.

ममता ने ये भी साफ कर दिया कि
वो 20 सितंबर को होनेवाले भारत
बंद का हिस्सा नहीं बनेंगी
क्योंकि इससे राज्य को
आर्थिक नुकसान होगा.

ममता ने सरकार के सामने अपने
पत्ते खोल दिए हैं. अब देखना
है कि सरकार ममता के इस रुख के
बाद क्या फैसले लेती है?

ममता बहुमूल्‍य सहयोगी:
कांग्रेस

उधर, कांग्रेस ने कहा है कि
ममता बनर्जी अब भी यूपीए की
बहुमूल्‍य सहयोगी हैं.

बनर्जी के समर्थन वापसी के
ऐलान के बाद कांग्रेस के
प्रवक्‍ता जर्नादन द्विवेदी
ने कहा, ‘हमने तृणमूल
कांग्रेस को हमेशा अपना
बहुमूल्‍य सहयोगी माना है.
ममता बनर्जी ने जो कुछ कहा है
उसके बावजूद जब तक कोई अंतिम
परिणाम सामने नहीं आ जाता तब
तक हम उन्‍हें अपना सहयोगी
मानते रहेंगे. उन्‍होंने कुछ
मुद्दे उठाए हैं उन पर चर्चा
होगी.’ वीडियो
देखें

मनमोहन सरकार में टीएमसी
कोटे से एक कैबिनेट मंत्री और
पांच राज्यमंत्री हैं.  ये
मंत्री हैं रेल मंत्री मुकुल
रॉय, स्वास्थ्य एवं परिवार
कल्याण राज्य मंत्री सुदीप
बंद्योपाध्याय, पर्यटन
राज्य मंत्री सुल्तान अहमद,
शहरी विकास राज्य मंत्री
सौगत रॉय, सूचना एवं प्रसारण
राज्य मंत्री सी एम जटुआ और
ग्रामीण विकास राज्य मंत्री
शिशिर अधिकारी.

सरकार पर फिलहाल खतरा नहीं

ममता बनर्जी के यूपीए टू का
साथ छोड़ने से फिलहाल सरकार
पर कोई खतरा नहीं है. लेकिन
अगर बाहर से समर्थन दे रही
पार्टियों ने साथ छोड़ा तो
सरकार के लिए मुसीबत हो सकती
है.

ममता बनर्जी की टीएमसी को
मिला कर यूपीए के पास कुल 325
सांसदों का समर्थन था, लेकिन
ममता के समर्थन वापस लेने से
अब यूपीए में 306 सांसद रह गए
हैं.

यानी अभी तक सरकार पर कोई
खतरा नहीं है. लेकिन अगर बाहर
से समर्थन दे रही समाजवादी
पार्टी ने साथ छोड़ा तो यूपीए
के पास सिर्फ 284 सांसदों का
समर्थन रह जाएगा.

अब तक तो सरकार सुरक्षित दिख
रही है. लेकिन अगर मायावती की
पार्टी बीएसपी ने साथ छोड़ा
तो यूपीए के पास सिर्फ 263
सांसदों का साथ रह जाएगा यानी
बहुमत के आंकड़े से आठ सांसद
कम.

अब सरकार के लिए मुसीबत बढ़
जाएगी और अगर एफडीआई का विरोध
कर रहे जेडीएस के तीन सांसदों
ने भी साथ छोड़ दिया तो सरकार
के पास सिर्फ 260 सांसदों का
समर्थन रह जाएगा.

 इसका
मतलब साफ है कि सरकार को एक एम
यानी ममता बनर्जी के साथ
छोड़ने के बाद बाकी दोनों एम
यानी मुलायम और मायावती को
मना कर रखना होगा.

राजनीतिक दलों की
प्रतिक्रियाएं

समाजवादी पार्टी के नेता
रामगोपाल यादव के मुताबिक,
‘तृणमूल कांग्रेस के फैसले से
समाजवादी पार्टी प्रभावित
नहीं होगी.’  वीडियो
देखें

बीजेपी ने सरकार पर निशाना
साधते हुए कहा, ‘यह कांग्रेस
के डीएनए का अहंकार है कि वो
अपने सहयोगियों से संवाद
नहीं करती है.  साबित हो गया
है कि यह यूपीए की नहीं
कांग्रेस की सरकार है. ममता
ने जो कहा वो हम कब से कह रहे
हैं कि सरकार ने कोलगेट से
ध्‍यान हटाने के लिए एफडीआई
का गेट खोल दिया है.’ वीडियो
देखें

जेडीयू अध्यक्ष शरद यादव ने
भी ममता के फैसले का स्वागत
करते हुए यूपीए सरकार पर
निशाना साधा है.

उन्‍होंने कहा, ‘ममता ने ठीक
कहा कि सरकार इतने बड़े फैसले
ले रही है लेकिन न तो संसद और न
ही सहयोगियों से बात कर रही
है.  ममता का कदम एकदम सही है.
मुझे उन लोगों की बुद्धि पर
तरस आता है जो टेप लेकर ममता
के पीछे पड़े हुए थे. ममता की
ताकत यह है कि वो ईमान की
महिला है और ईमान वाला आदमी
फकीर होता है और वो किसी से
नहीं डरता.’ वीडियो
देखें

संबंधित खबरें

हमारी कोई इज्‍जत
नहीं: ममता
|ममता
बहुमूल्‍य सहयोगी: कांग्रेस

|कांग्रेस
के डीएनए में अहंकार: बीजेपी
|फैसलों
पर अडिग मनमोहन सिंह
|ममता
की धमकियों पर एक नजर
| ममता
ईमान की महिला हैं: शरद यादव
|
सरकार
के साथ समाजवादी पार्टी

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ममता बनर्जी का यूपीए से समर्थन वापसी का ऐलान
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

बड़ा फैसला: योगी सरकार ने की गोमती रिवर फ्रंट में हुए घोटाले की CBI जांच की सिफारिश
बड़ा फैसला: योगी सरकार ने की गोमती रिवर फ्रंट में हुए घोटाले की CBI जांच की...

नई दिल्ली: अखिलेश यादव के ड्रीम प्रोजेक्ट पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने पहला बड़ा फैसला लिया है....

यूपी का वो कॉलेज जहां से देश के प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति दोनों ने की पढ़ाई
यूपी का वो कॉलेज जहां से देश के प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति दोनों ने की पढ़ाई

लखनऊ: देश के 14वें राष्ट्रपति पद के लिए हुए चुनाव में रामनाथ कोविंद के जीतते ही एक ऐसा एतिहासिक...

कंटीली बॉर्डर पर स्लाइडर से फिसलती गायों का वायरल सच
कंटीली बॉर्डर पर स्लाइडर से फिसलती गायों का वायरल सच

नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर हर रोज कई फोटो, मैसेज और वीडियो वायरल होते हैं. इन वायरल फोटो, मैसेज और...

राष्ट्रपति चुनाव : गुजरात में क्रॉस वोटिंग से मिली राम नाथ कोविंद को मदद
राष्ट्रपति चुनाव : गुजरात में क्रॉस वोटिंग से मिली राम नाथ कोविंद को मदद

अहमदाबाद: बीजेपी की सरकार वाली गुजरात में कांग्रेस के कम-से-कम आठ विधायकों ने संभवत:...

राष्ट्रपति चुनाव में जमकर दिखी क्रॉस वोटिंग, यूपी में रहा सबसे ज्यादा असर
राष्ट्रपति चुनाव में जमकर दिखी क्रॉस वोटिंग, यूपी में रहा सबसे ज्यादा असर

नई दिल्ली: राष्ट्रपति चुनाव में कई राज्यों में बड़े पैमाने पर क्रॉस वोटिंग भी देखने को मिली....

सीएम योगी ने दी बधाई, बोले- रामनाथ कोविंद के मार्गदर्शन में बढ़ेगा देश का गौरव
सीएम योगी ने दी बधाई, बोले- रामनाथ कोविंद के मार्गदर्शन में बढ़ेगा देश का...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद के...

लालू परिवार को एक और झटका, बड़े बेटे तेज प्रताप का पेट्रोल पंप होगा जब्त
लालू परिवार को एक और झटका, बड़े बेटे तेज प्रताप का पेट्रोल पंप होगा जब्त

नई दिल्ली: आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव और उनके परिवार की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं....

मीरा कुमार ने दी रामनाथ कोविंद को बधाई, बोलीं- संविधान की सुरक्षा करना राष्ट्रपति की जिम्मेदारी
मीरा कुमार ने दी रामनाथ कोविंद को बधाई, बोलीं- संविधान की सुरक्षा करना...

नई दिल्ली: राष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष की उम्मीदवार रहीं मीरा कुमार ने आज अपने प्रतिद्वंदी...

यूपी: विपक्ष ने योगी सरकार पर लगाया धमकी देने का आरोप, विधानसभा से किया वॉक आउट
यूपी: विपक्ष ने योगी सरकार पर लगाया धमकी देने का आरोप, विधानसभा से किया वॉक...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार पर विपक्ष को धमकी देने और असंसदीय भाषा का इस्तेमाल करने का आरोप लगाते...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. रामनाथ कोविंद आज देश के 14वें राष्ट्रपति चुने गए हैं. प्रेसिडेंट इलेक्शन में रामनाथ कोविंद को 7...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017