मुझे 14 करोड़ घूस देने की पेशकश की गई: सेनाध्‍यक्ष

मुझे 14 करोड़ घूस देने की पेशकश की गई: सेनाध्‍यक्ष

By: | Updated: 25 Mar 2012 09:56 PM








नई दिल्ली: उम्र विवाद के
मामले में सुप्रीम कोर्ट से
निराशा हाथ लगने के बाद थल
सेनाध्यक्ष जनरल वीके सिंह
ने एक बड़ा खुलासा किया है.




सेनाध्यक्ष ने दावा किया है
कि उन्हें 14 करोड़ रिश्व देने
की कोशिश की गई. यह मामला कोई
एक-दो साल पहले का है.




उनके खुलासे के बाद रक्षा
मंत्री एके एंटनी ने इसकी
सीबीआई जांच के आदेश दे दिए
हैं, हालांकि यह सवाल लाज़िमी
है कि आखिर जांच कराने में
इतनी देरी क्यों की गई.




इससे पहले विपक्ष ने संसद के
दोनों सदनों में भारी हंगामा
किया और प्रश्न काल को स्थगित
कर फौरी चर्चा कराने की मांग
की, विपक्ष के हंगामे और अपनी
मांग पर अड़े रहने के कारण
राज्यसभा और फिर लोकसभा की
कार्यवाही कई बार बाधित हुई.




दूसरी ओर संसद की कार्यवाही
स्थगित होने के बाद जैसे ही
रक्षा मंत्री एके एंटनी बाहर
निकले तो मीडिया से खुलकर बात
तो नहीं की, लेकिन इतना जरूर
कहा कि यह मामला बहुत ही
'गंभीर' है.




ग़ौरतलब है कि एक अखबार और
टेलीविजन चैनल को दिए गए एक
इंटरव्यू में जनरल वीके सिंह
ने आरोप लगाया है कि एक
लॉबिस्ट ने उन्हें 14 करोड़
रुपये घूस की पेशकश की थी.





मामला




जनरल ने कहा कि दोयम दर्जे
की छह सौ गाड़ियों का ऑर्डर
पास करने की एवज में घूस की ये
पेशकश की गई थी. सिंह के
मुताबिक इस वाकए की जानकारी
उन्होंने फौरन रक्षा मंत्री
एके एंटनी को दे दी थी.




जनरल सिंह ने ये भी कहा है कि
सात हजार गाड़ियाँ जो सेना के
उपयोग में थीं, उन्हें ऊँचे
दामों में बेच दिया गया.




सिंह ने यहां तक कहा है कि
पिछले दिनों उनकी जन्म तिथि
को लेकर उठे विवाद को तूल
देने के लिए भी कुछ लोगों ने
पैसों के लेन देन किए हैं और
इनमें से कुछ सेना में हैं और
कुछ सेना से रिटायर हो चुके
हैं.




सेना के भीतर गड़बड़ियों को
गिनाते हुए जनरल ने कहा कि ये
लोग इतना साहस रखते हैं कि वह
मेरे पास आ गए और कहा कि अगर आप
इस ऑर्डर को पास कर देंगे तो 14
करोड़ रुपए दिए जाएंगे.




जनरल वीके सिंह ने यह भी कहा
कि लॉबिस्ट उनके सामने यह भी
दावा किया उनसे पहले भी लोगों
ने पैसे लिए थे और बाद के
अधिकारी भी पैसे लेंगे.




संबंधित खबरें:





उम्र
के पीछे का विवाद






जनरल
वीके सिंह को कोर्ट ने दिया
झटका






उम्र
विवाद में सरकार के सामने
विकल्प






'सुप्रीम
कोर्ट के आदेश का पालन होगा'











फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story ओम प्रकाश रावत होंगे नए मुख्य चुनाव आयुक्त, 23 जनवरी से संभालेंगे कामकाज