मेट्रो रेल से शहरी परिवहन का समाधान संभव: प्रधानमंत्री

मेट्रो रेल से शहरी परिवहन का समाधान संभव: प्रधानमंत्री

By: | Updated: 22 Sep 2013 06:15 AM


जयपुर: देश में
बढ़ते शहरीकरण से उत्पन्न
सार्वजनिक परिवहन के संकट के
समाधान में मेट्रो रेल
परियोजना एक कारगर विकल्प हो
सकती है. यहां मेट्रो फेस-1 की
आधारशिला रखते हुए
प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह
ने शनिवार को यह बात कही.





राजस्थान
की राजधानी में जवाहरलाल
नेहरू राष्ट्रीय सौर अभियान
के तहत स्थापित सौर ऊर्जा
संयंत्र को भी उन्होंने
राष्ट्र को समर्पित किया.





जयपुर
मेट्रो का भूमिगत गलियारा
शहर के चांदपोल से बड़ी चौपड़
के बीच प्रस्तावित है.
अनुमानित 507 करोड़ रुपये की
लागत से होने वाला यह कार्य
शीघ्र शुरू किया जाएगा





मनमोहन
ने कहा, "शहर देश में आर्थिक
विकास के इंजन हैं. जीडीपी
में साठ प्रतिशत योगदान
शहरों का है. एक अनुमान के
मुताबिक वर्ष 2031 तक शहरों में
करीब 60 करोड़ लोग रहने
लगेंगे." 





शहरीकरण
का विस्तार कई तरह की
चुनौतियां भी पैदा कर रहा है.
सार्वजनिक परिवहन उनमें से
एक है.उन्होंने उल्लेख किया
कि मेट्रो सार्वजनिक परिवहन
की कमी के समाधान में एक
कारगर विकल्प है.





प्रधानमंत्री
ने कहा, "मैंने सुना है कि
जयपुर में पूरे देश में सबसे
ज्यादा दो पहिया वाहन हैं.
इससे सार्वजनिक परिवहन की
कमी का पता चलता है. जयपुर
मेट्रो यहां सार्वजनिक
परिवहन की समस्या को खत्म
करेगा."





उन्होंने
देश के त्वरित विकास के लिए
मुनासिब दाम पर ऊर्जा की
उपलब्धता के अनिवार्य होने
पर भी जोर दिया.उन्होंने कहा,
"पिछले दशक में ऊर्जा की
दरकार बढ़ी है. 





जलवायु
परिवर्तन की समस्या से
निपटने के लिए राष्ट्रीय
कार्य योजना के तहत शुरू किए
गए आठ अभियानों में से
जवाहरलाल नेहरू राष्ट्रीय
सौर अभियान भी एक है. यह योजना
2010 में शुरू की गई. 2020 तक हमारा
लक्ष्य सौर ऊर्जा से 20,000
मेगावाट बिजली उत्पादन करना
है."




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story JNU Entrance Exam के नतीजे घोषित, ऐसे देखें रिजल्ट