मेरठ में मोदी की रैली से पहले मंच पर नमाज़ पढ़ने से बीजेपी में विवाद 

By: | Last Updated: Wednesday, 29 January 2014 12:43 PM
मेरठ में मोदी की रैली से पहले मंच पर नमाज़ पढ़ने से बीजेपी में विवाद 

मेरठ. एक तरफ बीजेपी के पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की रैली में मुसलमानों को दिखाने की होड़ लगी है तो दूसरी तरफ यूपी बीजेपी से इस सोच से अलहदा खबर आ रही है.

 

बीजेपी के जिला अल्पसंख्यक मोर्चा के जिला अध्यक्ष और बीजेपी के अल्पसंख्यक कार्यकर्ताओं द्वारा एक कार्यक्रम के दौरान मंच पर नमाज़ पढ़ने को लेकर बीजेपी में विवाद खड़ा हो गया. विवाद इस कदर बढ़ गया कि बीजेपी के सूबे अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपई ने मंच पर नमाज़ पढ़ने का विरोध किया है. इतना ही नहीं जनाब नमाज पढ़ने की जुर्रत करने के बदले कार्रवाई की बात कही है.  

 

उधर, बीजेपी के ज़िला अल्पसंख्यक मोर्चा के जिला अध्यक्ष बासिद अली ने कहा कि कार्यक्रम शुरू होने में समय था और कार्यक्रम से पहले मंच पर नमाज़ पढ़ी गई थी. नमाज में मोदी के प्रधान मंत्री बनने के लिए दुआ मांगी गई थी और मंच पर नमाज पढ़ना सही है इसमें कोई गलत नहीं है.

 

दरअसल, 27 जनवरी को मेरठ में बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा की बैठक थी. इस बैठक को संबोधित करने बीजेपी के उत्तर प्रदेश महामंत्री स्वतंत्र देव सिंह आये थे. इस बैठक में बीजेपी के मुस्लिम कार्यकर्त्ता भी शामिल थे. बैठक का उद्देश्य आगामी 2 फरवरी को मेरठ में होने वाली नरेंद्र मोदी की रैली के लिए ज्यादा से ज्यादा भीड़ जुटाने के लिए कार्यकर्ताओं को प्रोत्साहित करने का था.

 

स्वतंत्र देव के आने से पहले बीजेपी के अल्पसंख्यकों ने मंच पर ही नामज़ पढ़ ली. यह बात बीजेपी के दूसरे खेमे को नागवार गुजरी और हद तो तब हो गई जब बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपई ने नमाज पढ़ने को लेकर नाराजगी व्यक्त की और मामले में कार्रवाई की बात की.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: मेरठ में मोदी की रैली से पहले मंच पर नमाज़ पढ़ने से बीजेपी में विवाद 
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017