मोदी की शादी पर उनके भाई सोमा मोदी का ये है कहना

By: | Last Updated: Thursday, 10 April 2014 4:48 AM

वड़ोदरा:  बीजेपी के पीएम पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने बुधवार को चुनाव आयोग के समक्ष दाखिल अपने हलफनामे में खुद को शादीशुदा बता कर यह खुलासा किया कि उनकी पत्नी का नाम जशोदाबेन है.

 

अब तक अपनी शादीशुदा ज़िंदगी पर खामोशी अख्तियार करने वाले मोदी के इस कबूलनामे के बाद सियासी तूफान का उठना लाज़मी है.

 

सिसायी हमलों के बीच मोदी का परिवार उनके बचाव में आगे आया है. मोदी के सोमाभाई दामोदर दास मोदी का कहना है कि 40-50 साल पहले की घटना को मोदी की आज की प्रतिष्ठा के आधार पर मूल्यांकन करना सही नहीं है.

 

सोमाभाई दामोदार दास मोदी का कहना है कि उनके भाई मोदी ने सांसारिक भोगविलास को छोड़कर गृह त्याग कर रखा है.

 

मोदी के भाई ने कहा, “परिवर की करबद्ध प्रार्थना है कि मोदी की आज से बचपन की 40-50 साल पहले की घटना को आज की उनकी प्रतिष्ठा के आधार पर मूल्यांकित न किया जाए. 40-50 साल परिवार बहुत ही गरीब था और हम लोग रुढ़िवादी बंधनों में चलने वाले परिवार की संतान हैं. परिवार में शिक्षण नाम मात्र था.”

 

सोमाभाई दामोदार दास मोदी आगे कहते हैं, “हमारे माता-पिता ने छोटी उम्र में हमारे भाई श्रीनरेंद्र का विवाह करवाया. उनके लिए देश सेवा एकमात्र धर्म था. सांसारिक भोगविलास को छोड़कर गृह त्याग कर दिया. “

 

मोदी का जोरदार बचाव करते हुए सोमाभाई दामोदार दास मोदी ने कहा, “45-50 साल बाद भी नरेंद्र भाई परिवार से अलिप्त हैं. जशोदाबेन ने अपने पिता के घर रहकर शिक्षा में कार्य करके अपनी जीवनचर्या निभाई है. “

 

आपको बता दें कि वड़ोदरा लोकसभा सीट के लिए अपने नामांकन पत्र के साथ दाखिल किए गए हलफनामे में मोदी ने पहली बार खुद के शादीशुदा होने की बात कही है.

 

मोदी अभी तक पत्नी के बारे में जानकारी देने वाले कॉलम को खाली छोड़ देते थे.