मोदी के विरोध में उतरे पुरी और द्वारका के शंकराचार्य करेंगे प्रचार

मोदी के विरोध में उतरे पुरी और द्वारका के शंकराचार्य करेंगे प्रचार

By: | Updated: 01 May 2014 02:46 PM
नई दिल्ली: दो प्रमुख हिन्दू धर्मगुरूओं ने वाराणसी से लोकसभा चुनाव लड़ रहे भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी के खिलाफ प्रचार करने की घोषणा की है.

 

पुरी के शंकराचार्य स्वामी अधोक्षजानंद देवतीर्थ और द्वारका के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने वाराणसी में मोदी का विरोध करने की योजना बनाई है.

 

स्वामी अधोक्षजानंद देवतीर्थ ने आज कहा कि वह धर्म गुरूओं से नरेन्द्र मोदी का विरोध करने को कहने के लिए वाराणसी जाएंगे शंकराचार्य मोदी को 2002 के गुजरात दंगों के लिए जिम्मेदार मानते हैं .

 

शंकराचार्य ने यहां संवाददाताओं से बातचीत करते हुए दावा किया कि मोदी वाराणसी के लोगों को गुमराह करने का प्रयास कर रहे हैं .

 

शंकराचार्य ने कहा, ‘‘एक नामी गुनहगार वाराणसी से चुनाव लड़ रहा है और मैं वहां उसका विरोध करने जाउंगा .’’ उन्होंने कहा कि ‘‘सत्ता में आने के लिए जो लोगों को बांट रहे हैं उनका पर्दाफाश किया जाना चाहिए .’’ उधर स्वामी स्वरूपानंद के सहायकों ने कहा कि वयोवृद्ध धर्मगुरू स्वयं मोदी के विरूद्ध प्रचार में नहीं उतर सकेंगे और उनके नजदीकी सहयोगी स्वामी अवी मुक्तेश्वरानंद उनकी ओर से वाराणसी जाकर भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के विरूद्ध मोर्चा संभालेंगे.

 

‘हर हर मोदी’ नारे को लेकर उन्होंने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से कड़ी आलोचना करते हुए कहा था कि यह ‘‘व्यक्ति पूजा’’ के समान है और अगर इस नारे को बंद नहीं किया गया तो ‘‘भगवान मोदी को रोकेंगे’’.

 

उक्त नारे को लेकर उठे धार्मिक विवाद पर मोदी ने तुरंत ऐसे नारे नहीं लगाने का निर्देश दिया था.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story जम्मू कश्मीर में आतंकी हमला, दो पुलिसकर्मी शहीद