मोदी ने शादीशुदा जीवन पर चुप्पी तोड़ी, जशोदाबेन को माना अपनी पत्नी

मोदी ने शादीशुदा जीवन पर चुप्पी तोड़ी, जशोदाबेन को माना अपनी पत्नी

By: | Updated: 10 Apr 2014 01:17 AM

नई दिल्ली: बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने आखिरकार अपने शादीशुदा जीवन पर चुप्पी तोड़ दी है. वडोदरा से लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए उन्होंने चुनाव आयोग को जो हलफनामा दिया है उसमें उन्होंने पत्नी के कॉलम में जशोदा बेन का नाम लिखा है.



मोदी ने पहली बार अपनी पत्नी का नाम दुनिया के सामने लिया है. चुनाव आयोग को दिए गए हलफनामे में नरेंद्र मोदी ने जशोदा बेन को अपनी पत्नी बताया है. कांग्रेस उनसे इस बारे में कई बार सवाल खड़े कर चुकी है लेकिन मोदी ने कभी इसका जवाब कभी नहीं दिया.

 

चुनाव आयोग को दिए हलफनामे में मोदी ने गुजराती में 'लग्नसाथी' वाले कॉलम में जशोदा बेन का नाम लिखा है. उन्होंने पहली बार हलफनामे में जशोदा बेन का नाम लिखा है. इससे पहले जब भी उन्होंने विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए हलफनामा दायर किया है उसमें वो पत्नी के नाम के कॉलम को खाली छोड़ दिया करते थे.

 

हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने निर्देश दिया था कि कोई भी उम्मीदवार चुनाव आयोग को दिए हलफनामे में पत्नी की संपत्ति के कॉलम को खाली नहीं छोड़ सकता. ऐसा करने पर उसकी उम्मीदवारी खारिज हो सकती है. यही वजह है कि मोदी को इस बार जशोदा बेन का नाम लिखना पड़ा है. हालांकि मोदी ने हलफनामे में पत्नी जशोदा बेन की संपत्ति के बारे में कोई जानकारी नहीं होने की बात लिखी है.

 

मोदी की निजी जिंदगी पर कांग्रेस ने पहली बार हमला तब किया था जब 2012 में हिमाचल प्रदेश के चुनाव के दौरान नरेंद्र मोदी ने एक रैली में यूपीए सरकार में मंत्री शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर को लेकर टिप्पणी की थी. सुनंदा पुष्कर का नाम तब आईपीएल विवाद में आया था. उस समय मोदी ने सुनंदा थरूर को 50 करोड़ की गर्लफ्रेंड बताया था. जवाब में शशि थरूर ने कहा था कि सुनंदा उनके लिए अनमोल हैं और जो प्यार करता है वही इस बात को समझ सकता है.

 

शशि थरूर और नरेंद्र मोदी के बीच वाद-विवाद पर कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने नरेंद्र मोदी पर सीधे निशाना साधते हुए जसोदा बेन के बारे में सफाई देने को कहा था. दिग्विजय ने कहा था कि मोदी पत्नी को लेकर चुप क्यों है. मैरिटल स्टेटस के कॉलम को खाली क्यों छोड़ते हैं. मोदी ने इसपर खुलकर कभी सफाई नहीं दी लेकिन वाड्रा डीएलफ विवाद पर उन्होंने चुटकी लेते हुए ये जरूर कहा था कि वो अकेले हैं.

 

मोदी ने कभी अपने मुंह से जशोदा बेन के बारे में कुछ नहीं कहा है. उनकी पार्टी के नेताओं ने भी हमेशा दिग्विजय सिंह की बातों को खारिज किया है.

 

हांलाकि इस साल फरवरी में द इंडियन एक्सप्रेस को दिए इंटरव्यू में जशोदा बेन ने मोदी के साथ शादी होने की बात की पुष्टि की थी. उन्होंने कहा था कि 1968 में जब वो 17 साल की थीं तब उनकी शादी नरेंद्र मोदी से हुई थी. उन्होंने कहा कि वो दोनों तीन साल साथ भी रहे थे. इतने साल अलग रहने के बावजूद दोनों का औपचारिक तलाक कभी नहीं हुआ.

 

इस साल एक फरवरी को द इंडियन एक्प्रेस अखबार ने नरेंद्र मोदी की पत्नी जशोदा बेन का इंटरव्यू छापा था. उस इंटरव्यू में जशोदाबेन ने कहा था कि वो मोदी को पीएम बनते देखना चाहती है. यहां पढ़ें जशोदाबेन का पूरा इंटरव्यू.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story गृह मंत्रालय की ब्लैकलिस्ट में नहीं है खालिस्तानी आतंकी जसपाल अटवाल का नाम