यूपी के खाद्य मंत्री राजा भैया ने दिया इस्‍तीफा

By: | Last Updated: Sunday, 3 March 2013 11:59 PM

लखनऊ:
उत्तर प्रदेश के कुंडा में
सर्किल ऑफिसर जिया-उल-हक की
हत्या मामले में केस दर्ज
होने के बाद यूपी के
खाद्यमंत्री राजा भैया ने
इस्तीफा दे दिया है.

राजा भैया ने आज सुबह
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से
उनके लखनऊ स्थित आवास पर
मुलाकात करने पहुंचे थे.
मुलाकात के बाद उन्होंने
मुख्यमंत्री को अपना
इस्तीफा सौंप दिया.

अभी
इसकी आधिकारिक जानकारी नहीं
है कि मुख्यमंत्री ने राजा
भैया का इस्तीफा स्वीकार कर
लिया है या नहीं. समाजवादी
पार्टी के अध्यक्ष मुलायम
सिंह यादव ने हालांकि दिल्ली
में कहा कि राजा भैया का
इस्तीफा मंजूर होगा.

राजा भैया पर आरोप है कि
प्रतापगढ़ के सीओ की हत्या
में करवाने में उनका हाथ है
और उनके खिलाफ आपराधिक साजिश
का केस दर्ज किया गया है.
लेकिन सवाल ये है कि इस्तीफा
होने के बाद क्या राजा भैया
गिरफ्तार होंगे?

हालांकि
मारे गए सीओ के परिवारवाले इस
केस की जांच सीबीआई से कराने
की मांग कर रहे हैं. आरोपों
में घिरे राजा भैया ने रविवार
को कहा है कि उन्हें सीबीआई
जांच से कोई एतराज नहीं है.

वहीं, प्रतापगढ़ में सीओ
जिया-उल-हक की हत्या के केस
में तीन पुलिस वालों को
सस्पेंड कर दिया गया है.
कुंडा के कोतवाल सर्वेश
मिश्रा, सीनियन सब
इंस्पेक्टर विनय कुमार और
सीओ के गनर इमरान को सस्पेंड
किया गया है. यूपी के एडीजी
अरुण कुमार ने कहा है कि जो
लोग सीओ को छोड़कर भाग गए थे
उनपर कार्रवाई होगी.

मामला शनिवार रात का है.
कुंडा के बलीपुर गांव में
प्रधान की हत्या के बाद
हंगामे की खबर पाकर सीओ
जिया-उल हक मौके पर गए थे.
प्रधान की हत्या के बाद
हंगामे में सीओ जिय़ा-उल-हक की
हत्या कर दी गई थी.

इस
मामले में अब तक राजा भैया के
करीबी कहे जाने वाले गुड्डू
सिंह और अजित सिंह को
गिरफ्तार किया गया है. लेकिन
राजा भैया को गिरफ्तार किया
जाना बाकी है. मुख्यमंत्री
अखिलेश यादव पहले ही कह चुके
हैं कि दोषियों को बख्शा नहीं
जाएगा.

लेकिन यूपी सरकार
के अहम और वरिष्ठ सदस्य आजम
खान ने तो यहां तक कह दिया है
कि कुंडा की घटना ने उन्हें
मुहं दिखाने लायक नहीं छोड़ा
है. अब लाज बचाने के लिए किसी
भी हद तक जाना पड़े तो जाएंगे.

विपक्ष के निशाने पर यूपी
सरकार

सीओ हत्याकांड के
बाद यूपी सरकार विपक्ष के
निशाने पर है. बीएसपी ने यूपी
में राष्ट्रपति शासन लागू
करने की मांग की है.

सरकार
पर मायावती का निशाना साधना
मुलायम को अखर गया. मायावती
बोलीं तो समाजवादी पार्टी के
अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव
बिफर उठे.

मुलायम ने कहा
कि मायावती खुद भी कौन सी दूध
की धुली हैं. उनके राज में भी
उनके विधायकों पर जमकर आरोप
लगे हैं.

पूर्व यूपी
कांग्रेस अध्यक्ष रीता
बहुगुणा जोशी का आरोप है कि
सीओ जिया-उल-हक को साजिश के
तहत मारा गया है.

उधर,
बीजेपी ने कहा है कि यूपी की
जनता मुख्यमंत्री से जवाब
मांग रही है

कौन हैं राजा भैया?
बाहुबली
नेता रघुराज प्रताप सिंह को
लोग राजा भैया के नाम से
जानते और पहचानते हैं. राजा
भैया कुंडा से लगातार
पांचवीं बार विधायक बने हैं.
वे कुंडा के राज परिवार से
आते हैं.

लेकिन राजा के
परिवार से आने वाले राजा भैया
से यूपी की प्रजा परेशान हैं.
समाजवादी पार्टी के करीबी
रहने वाले राजा भैया हमेशा ही
विवादों में रहे हैं.

फिलहाल
राजा भैया यूपी के खाद्य
मंत्री हैं. राजा भैया सबसे
पहले 1993 में कुंडा से
निर्दलीय विधायक चुने गए थे.
साल 2002 में तत्कालीन
मुख्यमंत्री मायावाती ने
राजा भैया को जेल के अंदर भेज
दिया था.

मायावती सरकार ने
बाद में राजा भैया पर आतंकवाद
निरोधक कानून यानी पोटा भी
लगा दिया था,  लेकिन एक साल
बाद साल 2003 में यूपी में
मुलायम सिंह यादव की सरकार
आते ही राजा भैया पर से पोटा
हटा लिया गया.

मुलायम की
मेहरबानी से राजा भैया जेल से
बाहर आए और साल 2005 में मुलायम
सरकार में खाद्य मंत्री बने.
राजा भैया उनके घर पर छापा
मारने वाले पुलिस ऑफिसर आर एस
पांडे की सड़क हादसे में मौत
मामले में भी संदेह के घेरे
में रहे हैं.

साल 2007 में
मायावती के सत्ता में आने के
बाद राजा भैया पर माया सरकार
की खास निगरानी रही. पिछले
साल जब यूपी में समाजवादी
पार्टी की सरकार बनी, तो राजा
भैया को जेल मंत्री के साथ
खाद्य मंत्री भी बना दिया
गया.

लेकिन इसी साल फरवरी
में हुए मंत्रीमंडल में हुए
फेरबदल में अखिलेश यादव ने
राजा भैया से जेल मंत्रालय तो
ले लिया, लेकिन बाकी मंत्रालय
उनके पास अब भी हैं.

संबंधित ख़बरें

कब
होगी राजा भैया की गिरफ्तारी?

आखिर
कौन हैं बाहुबली राजा भैया?

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: यूपी के खाद्य मंत्री राजा भैया ने दिया इस्‍तीफा
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017