यूपी: माया की हार, एसपी बनाएगी सरकार

यूपी: माया की हार, एसपी बनाएगी सरकार

By: | Updated: 03 Mar 2012 05:20 AM


लखनऊ: उत्तर प्रदेश में
समाजवादी पार्टी के 'उम्मीद
की साइकल' का नारा लोगों को
सबसे ज्यादा रास आया है.
स्टार न्यूज-नीलसन एग्जिट
पोल के मुताबिक यूपी में
मुलायम बहुमत से दूर रहेंगे,
लेकिन जोड़ तोड़ से उनकी
सरकार बन जाएगी है.




एसपी 183 सीटों के साथ सबसे
बड़ी पार्टी के तौर पर उभरेगी
और बहुमत के जादुई आंकड़े से
महज़ 19 सीटें दूर होगी.




जबकि पिछले पांच साल से सत्ता
पर काबिज़ मायावती की कुर्सी
छिन जाएगी और उन्हें 123 सीटों
को नुकसान होगा. बीएसपी 83
सीटों के साथ दूसरे स्थान पर
खिसकने को मजबूर होगी.




एग्जिट पोल के मुताबिक राज्य
में जनता ने किसी भी पार्टी
को पूर्ण बहुमत नहीं दिया,
लेकिन कांग्रेस और बीजेपी को
किंगमेकर के तौर पर सत्ता की
चाभी थमा दी. त्रिशंकु
विधानसभा में बीजेपी की 71 और
कांग्रेस की 51 सीटें होंगी.




कांग्रेस के युवराज राहुल
गांधी का जलवा कुछ खास नहीं
रहा. उनकी पार्टी की सीटों का
इज़ाफा तीन गुना जरूर होगा,
लेकिन 51 सीटों के साथ चौथे
स्थान पर ही बनी रहेगी, जबकि
इन चुनावों में आपसी फूट का
सामना कर रही बीजेपी तीसरे
स्थान पर बनी रहेगी. उसे 71
सीटें मिलेगी. अन्य की खाते
में 11 सीटें जाएंगी.




स्टार न्यूज-नीलसन ने यह
आंकड़े 202 विधानसभा चुनाव
क्षेत्रों में 44, 760 मतदाताओं
की राय पर वैज्ञानिक तरीके से
तैयार किया है.




ग़ौरतलब है कि वर्ष 2007 के
विधानसभा चुनाव में बीएसपी
ने बहुमत के साथ सत्ता संभाली
थी. बीएसपी को विधानसभा की 403
सीटों में से 206 सीटें मिली
थीं, जबकि एसपी के खाते में 97
सीटें गई थी. तीसरे नंबर पर
बीजेपी रही थी और वह महज़ 51
सीटों पर ही जीत हासिल कर सकी
थी.




पिछले विधानसभा चुनाव में भी
राहुल गांधी ने चुनाव प्रचार
किया था, लेकिन उनका करिश्मा
नहीं दिखा और कांग्रेस को
सिर्फ 22 सीटें मिली थी. अजित
सिंह की पार्टी राष्ट्रीय
लोकदल ने 10 सीटों पर अपना
कब्जा जमाया था. इस बार के
चुनाव में कांग्रेस और
आरएलडी एक साथ चुनाव लड़ रहे
हैं.




आए देखते हैं कि एग्जिट पोल
के क्षेत्रवार नतीजे:





बुंदेलखंड




कुल सीटें: 19




उत्तर प्रदेश के सबसे
पिछड़े इलाके माने जाने वाले
बुंदेलखंड से बीजीपी ने खासी
उम्मीद बना रखी है, लेकिन
स्टार न्यूज-नीलसन के एग्जिट
पोल के मुताबिक वहां बीजेपी
की स्थिति यहां खराब है.




बुंदेलखंड की 19 सीटों में
बीएसपी को पांच, एसपी को पांच
और कांग्रेस को चार सीटें मिल
सकती हैं. बीजेपी को तीन
सीटें मिलने का अनुमान जताया
गया है. जबकि अन्य के खाते में
दो सीटें जाती दिख रही हैं.




बीजेपी की फायर ब्रांड नेता
उमा भारती भी बुंदेलखंड की
चरखारी सीट से मैदान में हैं.
क्या उमा की बदौलत बीजेपी को
बुंदेलखंड में तीन सीटें मिल
रही हैं.




बुंदेलखंड में ही कांग्रेस
ने धुआंधार प्रचार किया था.
राहुल गांधी ने बुंदेलखंड को
दिए गए पैकेज के नाम पर खूब
वोट मांगे थे लेकिन इसका असर
ज्यादा नहीं दिख रहा है.





अवध प्रदेश: कुल सीटें- 63





अवध
प्रदेश जहां नवाबों का शहर
लखनऊ भी आबाद है और यहीं से कई
बार सांसद रहे अटल बिहारी
बाजपेयी, लेकिन नीसलन के
एग्जिट पोल के मुताबिक यहां
एसपी और कांग्रेस ज्यादा
अच्छा करेगी.




स्टार न्यूज का एग्जिट पोल
कहता है कि यूपी के अवध इलाके
में भी मुलायम सिंह की पार्टी
एसपी ही सबसे बड़ी खिलाड़ी बन
सकती है.




एग्जिट पोल के मुताबिक अवध की
कुल 63 विधानसभा सीटों में से
बीएसपी को केवल छह सीटों पर
जीत मिलती दिख रही है, जबकि
एसपी को 32 सीटों पर जीत मिल
सकती है.




बीजेपी को नौ सीटों पर जीत
मिल सकती है वहीं कांग्रेस के
खाते में कुल 16 सीटें जा सकती
हैं.





पश्चिमांचल: कुल सीटें- 145




पश्चिमांचल
यानी जाटलैंड में भी एसपी
पहले नंबर पर है. इन इलाकों
में मुसलमानों की बड़ी
संख्या आबाद है. आरएलडी के
नेता अजित सिंह की यहां खासी
पकड़ मानी जाती है और इसी
उम्मीद के साथ
कांग्रेस-आरएलडी ने साझा
चुनाव लड़ा था, लेकिन एग्जिट
पोल बताते हैं कि 145 विधानसभा
सीटों वाले पश्चिम प्रदेश
में उन्हें बड़ा फायदा नहीं
हो रहा है.




स्टार न्यूज एग्जिट पोल के
मुताबिक पश्चिमांचल में
अजित सिंह की पार्टी आरएलडी
और कांग्रेस गठबंधन को बड़ा
फायदा होता नजर नहीं आ रहा है.
आरएलडी को सिर्फ ग्यारह
सीटें मिलने की उम्मीद है.




पश्चिमांचल में भी मुलायम
सिंह की समाजवादी पार्टी है
सबसे बड़ी पार्टी बनेगी.
पश्चिम
प्रदेश में कुल 145 सीटें हैं.
एग्जिट पोल के मुताबिक यहां
पर बीएसपी को 32, समाजवादी
पार्टी को 59, बीजेपी को 34 और
कांग्रेस को 8 और उसकी सहयोगी
आरएलडी को 11 सीटें मिल सकती
हैं, जबकि एक सीट निर्दलीय के
खाते में जा सकती है.




स्टार न्यूज के एग्जिट पोल
कहता है कि बुंदेलखंड में
किसी एक पार्टी का बहुमत नहीं
होगा. बीएसपी और एसपी सबसे
बड़ी पार्टी बनती दिख रही
हैं.




पूर्वोवांचल




राज्य के सबसे बड़े इलाके
जहां कांग्रेस, बीएसपी, एसपी
औप बीजेपी के अलावा कई छोटी
बड़ी पार्टियां चुनाव मैदान
में थी, लेकिन यहां भी एसपी
सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर
उभर रही है.




यूपी में पूर्वांचल में हैं
सबसे ज्यादा सीटें. एग्जिट 
पोल कहता है कि यहां पर सबसे
बड़ी पार्टी समाजवादी
पार्टी बनने जा रही है. यानी
मुलायम सिंह का जादू
पूर्वांचल में चलता दिख रहा
है.




पूर्वांचल में विधानसभा की 176
सीटें आती हैं. स्टार न्यूज
नीलसन का एग्जिट पोल का
अनुमान है कि यहां समाजवादी
पार्टी को सबसे ज्यादा 87
सीटें मिलेंगी. मायावती की
बीएसपी को सिर्फ 40 सीटें
मिलने का अनुमान है. बीजेपी
को 25 सीटें मिल सकती हैं.




कांग्रेस को सिर्फ 23 सीटें
मिलने का अनुमान जताया गया
है, जबकि अन्य के खाते में जा
सकती है एक सीट.




एग्जिट पोल से साफ है कि
पूर्वांचल में सांसद योगी
आदित्यनाथ की नाराजगी
बीजेपी को महंगी पड़ती दिख
रही है और कांग्रेस का
मुस्लिम आरक्षण का दांव भी
ज्यादा असर नहीं दिखा पाया.




यहां से उलेमा काउंसिल और पीस
पार्टी ने भी अपने उम्मीदवार
उतारे हैं, और स्टार
न्यूज़-नीलसन पोल के मुताबिक
सिर्फ एक सीट अन्य के खाते
में जा रही हैं. ऐसे में साफ है
कि खुद को मुस्लिम पार्टियां
के तौर पर पेश करने वाली यह
पार्टियां अपनी जमीन तलाशने
में नाकाम रही हैं.




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story यूपी में पूर्व मुख्यमंत्रियों को बंगला देने का मामला, SC ने सभी राज्यों से पक्ष रखने को कहा