यूपी में बाढ़ का संकट गहराया, राहत कार्य जारी

यूपी में बाढ़ का संकट गहराया, राहत कार्य जारी

By: | Updated: 27 Jul 2013 02:59 AM


लखनऊ: उत्तर
प्रदेश के कई जिलों में
उत्तराखंड व नेपाल के
बैराजों से पानी छोड़े जाने
के कारण बाढ़ का संकट और गहरा
गया है.




पश्चिमी उत्तर प्रदेश सहित
पूर्वाचल के कई जिलों में
बाढ़ प्रभावित लोगों की
संख्या लगातार बढ़ती जा रही
है. इस बीच प्रशासन की तरफ से
भी बाढ़ प्रभावित इलाकों में
युद्धस्तर पर काम किया जा रहा
है.




मौसम विभाग ने भी अगले दो
दिनों के भीतर उत्तर प्रदेश
के कुछ जिलों में बारिश होने
की संभावना जतायी है, जिसके
बाद हालात और बिगड़ने की
आशंका है.

राज्य के
बहराइच जिले में घाघरा नदी
महसी तहसील के बांसगढ़ी में
तबाही मचा रही है. गांव में
कटान की वजह से 30 से अधिक मकान
बाढ़ में डूब गए हैं और लगभग 90
बीघा कृषि भूमि घाघरा में
समाहित हो गई है.

बलरामपुर
के गौर क्षेत्र के करमहना
गांव में भी बाढ़ का पानी
प्रवेश कर गया है. गांव में
फंसे लोगों को बाहर निकालने
का काम जारी है.

बहराइच के
अलावा गोंडा, कानपुर,
अयोध्या, गाजीपुर, वाराणसी और
बलिया में भी सभी प्रमुख
नदियां उफान पर हैं. वाराणसी
में नाविकों को नदी में न
उतरने की सलाह दी गयी है.
नदियों का रौद्र रूप देखते
हुए प्रशासन भी सतर्क हो गया
है. वाराणसी के घाटों पर कई
बाढ़ चौकियां स्थापित की गई
हैं और स्थिति पर लगातार नजर
रखी जा रही है.

कानपुर में
गंगा नदी खतरे के निशान से
ऊपर बह रही है. बलिया में
प्रमुख नदियों का जलस्तर
लगातार बढ़ रहा है. बाढ़
नियंत्रण विभाग अधिकारियों
के मुताबिक प्रमुख नदियों के
जलस्तर पर लगातार नजर रखी जा
रही है और संबंधित इलाकों में
जरूरी दिशा-निर्देश जारी किए
जा रहे हैं.

इस बीच पूरे
प्रदेश में बाढ़ प्रभावित
इलाकों में प्रशासनिक स्तर
पर भी निर्देश जारी किए गए
हैं. जिलाधिकारियों को सतर्क
रहने का आदेश दिया गया है.

पिछले
24 घंटों के दौरान बाढ़ की वजह
से बलरामपुर में एक और
गोरखपुर में तीन व्यक्तियों
की मौत हो चुकी है.




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story पाकिस्तान ने पीएम मोदी की उड़ान पर लगाया 'रूट नैविगेशन' फीस, भेजा 2.86 लाख रुपये का बिल