योजना आयोग के दो टॉयलेट्स पर 35 लाख खर्च

योजना आयोग के दो टॉयलेट्स पर 35 लाख खर्च

By: | Updated: 06 Jun 2012 01:02 AM


नई
दिल्ली:
दिल्ली में योजना
आयोग के मुख्यालय में दो
टॉयलेट पर 35 लाख रुपये खर्च
किए जाने के मुद्दे पर योजना
आयोग के उपाध्यक्ष मोंटेक
सिंह अहलूवालिया ने सफाई दी
है.




अहलूवालिया का कहना है कि
योजना आयोग के बजट के मुताबिक
ही सरकारी नियम कानूनों के
तहत टॉयलेट बनवाए गए हैं.




28 रुपये रोज़ाना खर्च करने
वालों को गरीब नहीं मानने
वाले योजना आयोग ने एक और
मज़ाक किया है. उसी योजना
आयोग के बाबूओं के महज दो
टॉयलेट के नवीकरण के लिए 35 लाख
रुपये फूंक दिये गये हैं.




योजना आयोग की इस शाहखर्ची का
खुलासा आरटीआई कार्यकर्ता
सुभाष अग्रवाल ने किया.




इन दोनों टायलट्स का
इस्तेमाल केवल कुछ खास लोग ही
करते हैं. दूसरे लोग इसका
इस्तेमाल नहीं कर सके इसके
लिए यहां पर खास एक्सिस
कंट्रोल सिस्टम लगाया गया है
और उस एक्सिस कंट्रोल सिस्टम
पर 5 लाख रुपया खर्च किया गया
है.




इन दोनों टायलट्स को
सीसीटीवी की निगरानी में भी
रखा गया है.




ग़ौरतलब है कि कुछ दिनों पहले
कैबिनेट में प्रस्ताव आया था
कि गांवों में टायलट्स बनाने
के लिए राशि 1500 से बढ़ाकर 3000 कर
दिया जाए लेकिन कैबिनेट ने
फंड की कमी का हवाला देते हुए 
प्रस्ताव को नामंजूर कर दिया
था, लेकिन योजना आयोग ने अपने
दो टायलट्स के नवीकरण के नाम
पर 35 लाख रुपए फूंक दिए.




टॉयलेट्स पर पैंतीस लाख के
खर्च पर बीजेपी का कहना है कि
ये चिराग तले अंधेरा है.
बीजेपी नेता बलबीर पुंज ने
इसके लिए कांग्रेस सरकार की
तीखी आलोचना की है.





http://www.youtube.com/watch?v=WIR7SNEaxUs




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story ED ने पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम से 11 घंटे तक की पूछताछ