यौन शोषण के आरोपों से घिरे पूर्व जस्टिस गांगुली के खिलाफ प्रेसिडेंशियल रेफरेंस पर आज हो सकता है फैसला

By: | Last Updated: Thursday, 2 January 2014 3:51 AM

नई दिल्ली: यौन शोषण के आरोपों से घिरे पूर्व जस्टिस गांगुली के खिलाफ प्रेसिडेंशियल रेफरेंस पर आज फैसला हो सकता है. यह फैसला आज शाम पांच बजे कैबिनेट की मीटिंग में हो सकता है.

 

पहले ही सरकार के सबसे बड़े वकील अटॉर्नी जनरल वाहनवती ने ये साफ कर दिया है कि जस्टिस गांगुली के खिलाफ केस बनता है. लॉ इंटर्न के आरोपों के बाद सुप्रीम कोर्ट की जांच कमेटी ने अपनी जांच में पाया कि जस्टिस गांगुली का आचरण सही नहीं था.

 

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस गांगुली पर एक लॉ इंटर्न ने दिसंबर 2012 में दिल्ली के एक होटल में यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था.

क्या हैं आरोप-

कोलकाता स्थित राष्ट्रीय न्यायिक विज्ञान विश्वविद्यालय की छात्रा रह चुकी पीड़िता ने आरोप लगाया है कि जब वह दिसंबर 2012 में प्रशिक्षण ले रही थी तब शीर्ष अदालत के (अब) सेवानिवृत्त न्यायाधीश ने उनका यौन उत्पीड़न किया था.

पीड़ित इंटर्न ने क्या कहा है:

24 दिसंबर 2012 की रात जस्टिस गांगुली ने होटल के कमरे न सिर्फ मुझे शराब पीने को कहा बल्कि मना करने के बावजूद एक गिलास में शराब निकालकर दी. बार बार मुझे होटल में रूकने की जिद कर रहे थे. बाद में कहा कि दूसरे कमरे में रूक जाओ फिर कहा कि होटल में दूसरा कमरा नहीं है इसलिए साथ रूक जाओ. मैं बार-बार कह रही थी कि मैं जाऊंगी. इस दौरान उन्होंने खुद कई ग्लास शराब पी. पूरी खबर- ‘जस्टिस गांगुली ने होटल के कमरे में गलत नीयत से मेरे हाथ छुए…’ उधर दिल्ली पुलिस की है ये मजबूरी, बीजेपी ने गांगुली से मांगा इस्तीफा

 

गांगुली ने कहा, मुझे बदनाम करने की साजिश

जस्टिस एके गांगुली ने मुख्य न्यायाधीश को चिट्ठी लिखकर कहा था कि उनका पक्ष नहीं सुना जा रहा है. न्यायमूर्ति गांगुली ने भारत के प्रधान न्यायाधीश पी सदाशिवम को एक पत्र लिखकर यह भी शिकायत की कि न्यायालय ने उनके पक्ष पर ठीक ढंग से ध्यान नहीं दिया. गांगुली ने अपने पत्र में कहा था, ‘‘मेरी छवि को धूमिल करने के संगठित प्रयास हो रहे हैं क्योंकि दुर्भाग्य से मेरा कार्य ऐसा रहा है, मैंने कुछ फैसले कुछ शक्तिशाली हितों के खिलाफ दिये हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं इस पूरे मामले को मेरी छवि धूमिल करने की स्पष्ट साजिश के तौर पर देखता हूं जो किन्हीं हितधारकों के इशारे पर रची गई है.’’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: यौन शोषण के आरोपों से घिरे पूर्व जस्टिस गांगुली के खिलाफ प्रेसिडेंशियल रेफरेंस पर आज हो सकता है फैसला
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ?????? ??????? ??????? ?????
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017