रामलीला मैदान की रैली में कांग्रेस ने गिनाईं अपनी उपलब्धियां

रामलीला मैदान की रैली में कांग्रेस ने गिनाईं अपनी उपलब्धियां

By: | Updated: 04 Nov 2012 02:03 AM














नई दिल्ली: भ्रष्टाचार
के अनेक आरोपों  में घिरी
सत्ताधारी कांग्रेस पार्टी
ने रामीलला मैदान में एक बड़ी
जनसभा की, जिसमें सोनिया
गांधी, मनमोहन सिंह और राहुल
गांधी ने सरकार की
उपलब्धियां गिनाईं और कहा कि
विपक्ष झूठे प्रचार कर रहा
है.




सोनिया गांधी ने यूपीए सरकार
पर लगातार लग रहे भ्रष्टाचार
के आरोपों के बीच कहा कि
कांग्रेस की नीयय और उसका
दामन दोनों साफ हैं.




इस रैली को सोनिया गांधी,
प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह,
कांग्रेस महासचिवा राहुल
गांधी के अलावा कांग्रेस के
कई बड़े दिग्गज नेताओं ने
संबोधित किया.




एक अनुमान के मुताबिक
रामलीला मैदान में करीब एक
लाख लोगों की भीड़ थी जिनमें
कांग्रेस के कार्यकर्ताओं
के साथ-साथ एक बड़ी संख्या आम
जनता की थी.




कांग्रेस की इस रैली को उसके
शक्ति प्रदर्शन के तौर पर
देखा जा रहा है, क्योंकि इन
दिनों कांग्रेस लगातार
विपक्षी पार्टियों के
साथ-साथ सिविल एक्टिविस्ट्स
के निशाने पर है.




सोनिया गांधी की ललकार





सोनिया गांधी ने कहा कि
कांग्रेस पार्टी ग़रीबों और
आम जनता के लिए काम करती है और
इसलिए सत्ता में है.




उन्होंने कांग्रेस के
सेकुलर छवि की गुणगान गाते
हुए कहा कि देश की कोई भी
पार्टी धर्मनिरपेक्षता के
मुद्दे पर उनका मुक़ाबला
नहीं कर सकती.




भ्रष्टाचार में अनेक आरोपों
में घिरे होने के बावजूद
सोनिया ने अपने समर्थकों को
उम्मीद की किरण दिखाई और कहा
कि उन्हें आशा है कि चुनाव
में उनकी पार्टी एक बार फिर
जीतेगी.




उन्होंने कहा, "कांग्रेस के
खिलाफ आरोप लगे, लेकिन साल 2004
और  साल 2009 में आप ने अपना
विश्वास कांग्रेस के साथ
जताया. कुछ पार्टियाँ इसे
हज़म नहीं कर पा रही हैं. कई
महत्वपूर्ण बिल और अहम
चर्चाओं को विपक्ष ने नकारा
है और वे लोकतंत्र को कमजोर
कर रहे हैं, लेकिन हम उन्हें
ऐसा नहीं कर देंगे."




विपक्ष पर संविधान और
परंपरा विरोधी होने का आरोप
लगाते हुए सोनिया ने कहा,
"विपक्ष ने अनेक बार संसद की
कार्यवाही ठप की, वे बहस से
भागते हैं, वे खुद भ्रष्टाचार
में डूबे हुए हैं, इसलिए वह
ग़लत आरोप मढ़ रहे हैं."




सोनिया ने बीजेपी का नाम लिया
बिना कहा, "वे हमें प्रवचन
देती है, लेकिन खुद ही भ्रष्ट
हैं. जो दूसरों के लिए गड्ढे
खोदते हैं उसके लिए कुंआ
तैयार रहता है. हम लोकपाल बिल
लाने चाहते हैं, लेकिन विपक्ष
इसकी इजाज़त नहीं दे रहा है."




यूपीए सरकार की उपलब्धियाँ
पर मनमोहन सिंह की पीठ
थपथपाते हुए सोनिया ने कहा,
"हमने मनमोहन सिंह के नेतृत्व
में बहुत ही अच्छे काम किए
हैं. हमारे सामने कई
चुनौतियाँ हैं, हम जानते हैं
कि मंगाई से आम जनता परेशान
है, लेकिन इसकी वजह
अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में
तेल के बढ़े भाव हैं और हम 80
फीसदी तेल बाहर से आयात करते
हैं."




सोनिया ने आम आदमी को
कांग्रेस का वफादार बनाए
रखने का भी तरीका पेश किया और
कहा कि उनकी सरकार जल्द ही
खाद्य सुरक्षा बिल लाने जा
रही है जिससे गरीब जनता को
मुफ्त या बहुत ही कम कीमत पर
अनाज दिए जाएंगे.




कांग्रेस का
दामन-नीयत साफ: सोनिया






प्रधानमंत्री का एलान




प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह
ने रविवार को एक बार फिर जोर
देकर कहा कि संयुक्त
प्रगतिशील गठबंधन की सरकार
भ्रष्टाचार को समूल नष्ट
करने को लेकर दृढ़ प्रतिज्ञ
है.









उन्होंने यह भी कहा कि इस
दौरान साथ ही यह ध्यान रखा
जाना चाहिए कि ईमानदारी
लोगों को काम करने से भय न
सताने लगे. रामलीला मैदान में
यहां कांग्रेस की महारैली को
सम्बोधित करते हुए
प्रधानमंत्री ने कहा, "यह
हमारा कर्तव्य है कि हम
भ्रष्टाचार न होने दें और साथ
ही सुनिश्चित करें कि
भ्रष्टाचार करने वालों को
कड़ा दंड मिले. लेकिन हमें यह
ध्यान भी रखना होगा कि हम भय
का ऐसा माहौल न खड़ा करें
जिससे कि विकास के काम
प्रभावित हों."




उन्होंने भ्रष्टाचार को
समूल नष्ट करने के लिए सरकार
की प्रतिबद्धता दोहराई.




गत 10 अक्टूबर को केंद्रीय
जांच ब्यूरो और राज्यों की
भ्रष्टाचार विरोधी शाखाओं
के अधिकारियों को सम्बोधित
करते हुए प्रधानमंत्री ने
कहा था कि भ्रष्टाचार पर
नकारात्मकता और हताशा से देश
की छवि को नुकसान पहुंच सकता
है और उसके मनोबल का कम कर
सकता है.




ज्ञात हो कि संप्रग की मौजूदा
सरकार भ्रष्टाचार के चौतरफा
आरोपों का सामना कर रही है.
पहले 2जी घोटाला सामने आया और
फिर कोयला ब्लॉक आवंटन में
घोटाला उजागर हुआ. हाल ही में
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया
गांधी के दामाद रॉबर्ट
वाड्रा पर इंडिया अगेंस्ट
करप्शन ने भ्रष्टाचार के
आरोप लगाए थे.




निवेश
बढ़ाने की जरूरत है: पीएम






राहुल का हमला




कांग्रेस महासचिव राहुल
गांधी ने रविवार को आरोप
लगाया कि विपक्षी दल खुदरा
क्षेत्र में प्रत्यक्ष
विदेशी निवेश (एफडीआई) पर
किसानों से झूठ बोल रहे हैं.




उन्होंने कहा कि कांग्रेस के
नेतृत्व वाली संयुक्त
प्रगतिशील गठबंधन सरकार की
नीतियों से किसानों को फायदा
होगा. रामलीला मैदान में
कांग्रेस की रैली को
सम्बोधित करते हुए राहुल ने
कहा कि सरकार की एफडीआई नीति
से किसानों के लिए शीत भंडारण
सुविधाओं के साथ-साथ खाद्य
प्रसंस्करण केंद्र भी
उपलब्ध होंगे.




बीजेपी का नाम लिए बगैर राहुल
ने कहा, "विपक्षी दल एफडीआई पर
किसानों को गुमराह कर रहे
हैं, खासकर हिमाचल प्रदेश में
(जहां विधानसभा चुनाव के लिए
मतदान जारी हैं)."




उन्होंने कहा, "एफडीआई से
किसानों को नजदीकी स्थान पर
शीत भंडारण सुविधाएं और
खाद्य प्रसंस्करण केंद्र
मुहैया कराए जाएंगे, जिनसे
उन्हें लाभ होगा."




कांग्रेस महासचिव ने यह भी
कहा कि संप्रग की सरकार ही
वर्ष 2005 में सूचना का अधिकार
(आरटीआई) कानून लेकर आई, जिससे
लोगों को सरकार से कोई भी
सूचना प्राप्त करने का हक
मिला.




उन्होंने यह भी कहा कि मनरेगा
भी कांग्रेस लेकर आई और जल्द
ही खाद्य सुरक्षा बिल लाने जा
रही है जिससे देश में अब कोई
भूखा नहीं रहेगा.




कांग्रेस
आम जन के साथ है: राहुल




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story दिल्ली: पटाखा फैक्ट्री में आग से 17 की मौत, BJP मेयर प्रीति अग्रवाल के बयान पर बवाल