राम मंदिर बनाने की चिट्ठी पर यूपी सरकार में हड़कंप, अब दे रही है सफाई

By: | Last Updated: Friday, 11 October 2013 10:34 PM

<p style=”text-align: justify;”>
<b>नई
दिल्ली: </b>क्या यूपी की
समाजवादी पार्टी की सरकार
अय़ोध्या में सोमनाथ मंदिर की
तर्ज पर राम मंदिर बनाने की
तैयारी कर रही है?  सोमवार को
बुलाई गई अफसरों की बैठक के
लिए जारी चिट्ठी में लिखा है
कि जिस तरह संसद से कानून
बनाकर गुजरात में सोमनाथ
मंदिर बना उसी तरह
श्रीरामजन्मभूमि पर राम
मंदिर बनाने के संबंध में
बैठक. <br />
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<b>यूपी सरकार ने दी सफाई-</b><br />अयोध्या
में सोमनाथ मंदिर की तर्ज पर
राम मंदिर बनाने के लिए
सोमवार की बैठक की चिट्ठी पर
यूपी सरकार ने सफाई दी है.
यूपी सरकार ने कहा है कि
चिट्ठी की सब्जेक्ट लाइन में
प्रिंटिंग की गलती हुई. बाद
में गलती सुधार ली गई. बैठक 18
अक्टूबर को बुलाई गई वीएचपी
की संकल्प यात्रा को लेकर
बुलाई गई है.  <br /><br /><b>क्या है
पूरी खबर-</b><br />एक अंग्रेजी
अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक
यूपी सरकार ने प्रमुख गृह
सचिव, फैजाबाद के डीएम और
डीजीपी समेत कई सीनियर पुलिस
अफसरों को चर्चा के लिए
बुलाया है.  बैठक सोमवार की
शाम लखनऊ में प्रमुख सचिव के
दफ्तर में बुलाई गई है.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<b>गृह विभाग जुटा तैयारियों
में-<br /></b>अयोध्या में
कारसेवकों पर गोलियां
चलवाने का दाग समाजवादी
पार्टी एक नई पहल के साथ न
केवल धुल जाएगा बल्कि सदा-सदा
के लिए राम मंदिर का मुद्दा
भी राजनीतिक दलों के हाथ से
निकल जाएगा.  उत्तर प्रदेश की
समाजवादी पार्टी की सरकार
गुजरात के सोमनाथ मंदिर
पुनरोद्धार की तर्ज पर
अयोध्या में रामजन्म भूमि पर
राम मंदिर का निर्माण कराने
जा रही है. इसके लिए शासन स्तर
पर खाका तैयार किया जाने लगा
है और इसे गृह विभाग की 14
अक्तूबर को होने वाली
महत्वपूर्ण बैठक में अंतिम
रखा जाएगा.<br /><br />गुजरात के
सोमनाथ मंदिर के पुनरोद्धार
की तरह ही उत्तर प्रदेश की
अखिलेश सरकार अयोध्या की
श्रीराम जन्मभूमि पर भगवान
श्रीराम का भव्य मंदिर
निर्माण कराने के लिए उत्तर
प्रदेश शासन ने प्रमुख सचिव
गृह की अध्यक्षता में 14
अक्तूबर को बैठक आहूत की है.<br /><br />9
अक्तूबर को जारी गृह अनुभाग 4
से निर्गत पत्र में उत्तर
प्रदेश शासन सचिव सर्वेश
चंद्र मिश्र ने पत्र संख्या
4622 ख/छ:-पु0-4-2013 द्वारा पुलिस
महानिदेशक उत्तर प्रदेश, अपर
पुलिस महानिदेशक कानून
व्यवस्था, अपर पुलिस
महानिदेशक अभिसूचना, पुलिस
महानिरीक्षक कानून
व्यवस्था, पुलिस
महानिरीक्षक रेलवे, पुलिस
महानिदेशक लखनऊ जोन, पुलिस
महानिरीक्षक फैजाबाद व
फैजाबाद के जिलाधिकारी और
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक
उपस्थित रहने के निर्देश दिए
गए हैं.<br />
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<b>कहां होगी बैठक-</b><br />यह बैठक 14
अक्तूबर को सायं 6 बजे लाल
बहादुर शास्त्री भवन
(मुख्यमंत्री कार्यालय) के
द्वितीय तल स्थित कमांड
सेंटर में बुलाई गई है.<br /><br />गौरतलब
है कि अयोध्या स्थित
राममंदिर के संबंध में
इलहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ
बेंच ने 30 सितंबर 2010 को फैसला
सुनाया था. जिसमें न्यायालय
ने विवादित स्थल को तीन
हिस्सों (हिन्दू, मुस्लिम और
निरमोही अखाड़ा) में बांट
दिया था. <br /><br />हिन्दू और
मुस्लिम दोनों पक्षों की ओर
से इस मामले में सुप्रीम
कोर्ट में अपील की गई थी.
मामले की सुनवाई करते हुए
सुप्रीम कोर्ट ने 9 मई 2011 को इस
फैसले पर रोक लगा दी. कोर्ट का
कहना था कि वहां विवाद ये था
कि यहां मंदिर था या मस्जिद न
कि जमीन किसकी है.<br />
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<br />
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<b>18 अक्टुबर को संकल्प दिवस के
लिए तैयार है वीएचपी-</b><br />वीएचपी
18 अक्टुबर को ‘संकल्‍प दिवस’
की तैयारी कर चुकी है. राम
मंदिर आंदोलन को हवा मिली तो
मुजफ्फरनगर दंगों के बाद
उत्‍तर प्रदेश में तनाव फिर
से बढ़ सकता है. वीएचपी पहले
से ही अयोध्‍या में राम मंदिर
निर्माण की मांग के लिए
आंदोलन चला रही है.
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<b>अवध बिहारी मिश्र, वीएचपी के
प्रांतीय महामंत्री</b><br />अगर
अयोध्या में राम जन्म भूमि
मंदिर का जो माडल हिन्दू समाज
के लोगों ने देखा है उसके
अतिरिक्त किसी भी माडल पर
मंदिर स्वीकार नहीं होगा.
उसका विरोध किया जायेगा यह
बात आज विश्व हिन्दू परिषद्
के प्रांतीय महामंत्री अवध
बिहारी मिश्र ने कही. <br /><br />उनसे
जब पूछा गया की प्रदेश सरकार
अयोध्या में सोमनाथ मंदिर की
तर्ज पर मंदिर निर्माण पर
विचार कर रही है और 14 अक्टूबर
को बैठक करने जा रही है तो
उन्होंने कहा की प्रदेश
सरकार अगर हिन्दू भावनाओं का
सम्मान करना चाहती है तो उसको
चाहिए की राम जन्मभूमि न्यास
द्वारा प्रस्तावित मंदिर के
माडल के अनुरूप मंदिर बनाने
में हिन्दू समाज का सहयोग
करे. अगर प्रदेश सरकार किसी
अन्य माडल पर मंदिर निर्माण
करवाती है तो उसका विरोध हर
स्तर पर किया जायेगा.<br />
</p>
<p style=”text-align: justify;”>
<b>यूपी सरकार की चिट्ठी में
क्या लिखा है?</b><br />यूपी सरकार
के सचिव सर्वेश  चंद्र मिश्र
की चिट्ठी के सब्जेक्ट लाइन
में लिखा है कि बैठक में इस
बात पर चर्चा होगी कि संसद से
कानून बनाकर सोमनाथ मंदिर की
तर्ज पर श्रीरामजन्मभूमि पर
फिर से मंदिर बनाया जाए. <br /><br />ये
गौर करने वाली बात ये है कि
विवादित स्थल को संघ परिवार
और बीजेपी ही श्री
रामजन्मभूमि कहते हैं.
सरकारी चिट्ठी में
श्रीरामजन्मभूमि कहा जाना
चौंकाने वाला है. हालांकि
यूपी सरकार कह रही है कि 18
अक्टूबर को विश्व हिंदू
परिषद के संकल्प दिवस को
टालने पर चर्चा के लिए बैठक
बुलाई गई है. अखबार का दावा है
कि यूपी के सचिव मिश्रा ने यह
बैठक मुजफ्फरनगर दंगों के
बाद शांति स्‍थापित करने के
मकसद से बुलाई है.
</p>

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: राम मंदिर बनाने की चिट्ठी पर यूपी सरकार में हड़कंप, अब दे रही है सफाई
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017