राहुल का मैजिक फेल, नहीं बदली कांग्रेस की तकदीर

राहुल का मैजिक फेल, नहीं बदली कांग्रेस की तकदीर

By: | Updated: 03 Mar 2012 09:15 AM


नई दिल्ली: स्टार
न्यूज़-नीलसन एग्जिट पोल के
मुताबिक यूपी विधानसभा
त्रिशंकु होने जा रही है,
लेकिन जहां एसपी के 'उम्मीद
की साइकल' पर जनता मंत्र
मुग्ध है वहीं कांग्रेस के
'ज़रा सोचिय' के नारा का कुछ
खास असर नहीं दिखा.




कांग्रेस को सबसे गहरा झटका
लगा है, हालांकि उसकी सीटें
लगभग तीन गुना बढ़ी हैं लेकिन
2009 के लोकसभा चुनावों के
मुकाबले करीब चालीस सीटें कम
हुई हैं.




राहुल गांधी पर जीत का सेहरा
बंधना था लेकिन अब हार का
ठीकरा अपने सिर पर फोड़ने के
लिए दिग्विजय सिंह से लेकर
अन्य नेताओं की कतार लगेगी.




कांग्रेस के एक धड़े में ये
आवाज उठेगी कि राहुल गांधी
चमत्कार नहीं कर सकते. लिहाजा
2014 के लोकसभा चुनावों में
उन्हें प्रधानमंत्री के रुप
में पेश करने की रणनीति पर
फिर से विचार हो.




राहुल गांधी की
प्रधानमंत्री पद पर ताजपोशी
की लगातार उठती मांग पर रोक
लगेगी. बहुत संभव है कि
कांग्रेस में एक धड़ा
प्रियंका लाओ का नारा बुलंद
करना शुरु कर दे.




राहुल गांधी ने ही अजित सिंह
के साथ गठजोड़ करने का फैसला
किया था लेकिन इसका कोई लाभ
कांग्रेस को नहीं मिला है.
इससे राहुल की गठबंधन
राजनीति की रणनीति और सोशल
इंजिनियरिंग पर सवाल
उठेंगें.




राहुल गांधी की व्यक्तिगत
प्रतिष्ठा जरुर मिल हुई है
लेकिन मनमोहन सिंह सरकार को
फायदा हो सकता है. मायावती
मजबूरी में समर्थन जारी
रखेगी. उधर मुलायम को
कांग्रेस का राज्य में
समर्थन लेने के बदले में
मनमोहन सिंह सरकार को बिना
शर्त समर्थन देना पड़ेगा. ऐसा
होने पर कांग्रेस सरकार को
कुछ राहत मिलेगी. ममता बनर्जी
का दबाव कम होगा.




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story पाकिस्तान फिर बेनकाब, पीएम अब्बासी ने आतंकी हाफिज सईद को ‘साहेब’ कहकर दी क्लीन चिट