रिटेल के बाद अब बीमा क्षेत्र में बढ़ेगा विदेशी निवेश?

रिटेल के बाद अब बीमा क्षेत्र में बढ़ेगा विदेशी निवेश?

By: | Updated: 03 Oct 2012 11:24 PM


नई दिल्ली: कैबिनेट आज
बीमा कंपनियों में 49 फीसदी
विदेशी निवेश की इजाज़त दे
सकती है, फिलहाल 26 प्रतिशत
विदेशी निवेश की इजाज़त है.




इसके अलावा कैबिनेट में
पेंशन फंड रेगुलेटरी
अथॉरिटी बिल पर भी चर्चा हो
सकती है, जिसमें पेंशन सेक्टर
को भी विदेशी निवेशकों के लिए
खोला जा सकता है.




अगर कैबिनेट बीमा क्षेत्र
में विदेशी निवेश की सीमा
बढ़ाने का फैसला लेती है तो
इसे लागू करने के लिए संसद से
पास कराने की जरूर नहीं
पड़ेगी. बीमा क्षेत्र में
पहले ही से 26 फीसदी एएफडीआई दी
जा रही है, सिर्फ सीमा बढ़ाई
जाएगी. लेकिन पेंशन फंड के
लिए सरकार को संसद की मुहर की
जरूरत पड़ेगी.





आर्थिक सुधारों को लेकर
यूपीए सरकार इन दिनों पूरे
फॉर्म में है. विदेशी किराना
और एविएशन के क्षेत्र में
विदेशी निवेश का रास्ता
खोलने के बाद अब सरकार बीमा
और पेंशन क्षेत्र में भी नए
रास्ते खोलने जा रही है.




आज होने वाली कैबिनेट की बैठक
में पेंशन सेक्टर में विदेशी
निवेश लागू करने और मौजूदा
इंश्योरेंस सेक्टर में 26
फीसदी विदेशी निवेश की सीमा
को बढ़ाकर 49 फीसदी करने की
तैयारी है.




बीमा क्षेत्र को रेगुलेट
करने वाली संस्था इरडा के
चेयरमैन जे हरिनारायन ने भी
विदेशी निवेश को बढ़ाने की
पुरजोर वकालत की है.




उद्योग जगत के प्रतिनिधियों
ने मौजूदा आर्थिक हालात और
सुधारों को लेकर बुधवार को
वित्तमंत्री पी चिदंबरम से
मुलाकात की और बैठक के बाद
उन्होंने कहा कि उन्हें इस
बारे में वित्तमंत्री से
आश्वासन मिला है.




इसके अलावा वित्त मामलों की
संसदीय समिति के अध्यक्ष और
बीजेपी नेता यशवंत सिन्हा ने
भी इस सेक्टर में विदेशी
निवेश की सीमा को बढ़ाकर 49
फीसदी किए जाने का विरोध किया
है. समिति के मुताबिक इसे 26
फीसदी ही रहने देना चाहिए.




लेकिन इरडा के मुताबिक 46
फीसदी विदेशी निवेश का
रास्ता खोलना वक्त की ज़रूरत
है, क्योंकि अगले पांच साल के
दरम्यान इस क्षेत्र को करीब 12
बिलियन डॉलर के निवेश की
दरकार है, जो विदेशी निवेश की
सीमा बढ़ाए बिना संभव नहीं
है. ऐसे में आज होने वाली
कैबिनेट की बैठक खासी
महत्वपूर्ण है.




http://www.youtube.com/watch?v=aeZgS2CpJ3Y




फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story ओम प्रकाश रावत होंगे नए मुख्य चुनाव आयुक्त, 23 जनवरी से संभालेंगे कामकाज