रोल्स रॉयस घूसकांड: सरकार ने इंग्लैंड से मांगी दलाल सुधीर चौधरी की जानकारी

By: | Last Updated: Tuesday, 4 March 2014 2:54 AM

नई दिल्ली: रॉल्स रॉयस सौदा मामले में रक्षा मंत्रालय ने इंग्लैंड से हथियारों की दलाली के एक संदिग्ध सुधीर चौधरी के बारे में जानकारी मांगी है. सुधीर चौधरी का नाम पहले बराक मिसाइल सौदे की दलाली में भी आया था लेकिन सीबीआई ने उस मामले में तत्कालीन रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस के खिलाफ क्लोज़र रिपोर्ट लगा दी थी जिससे जांच रुक गई थी.

 

सरकार ने ब्रिटिश कंपनी रोल्स रॉयस से जुड़े भ्रष्टाचार के आरोपों के मामले में सीबीआई जांच लंबित रहते कंपनी के साथ अपने सभी मौजूदा और भविष्य के सौदों पर आज रोक लगा दी और लंदन की कंपनी द्वारा कमीशन के तौर पर ली गयी रकम वसूलने का फैसला किया.

 

सूत्रों ने कहा कि भारत ब्रिटेन से भी जानकारी मांगेगा जहां सीरियस फ्रॉड ऑफिस चीन और इंडोनेशिया से संबंधित मामलों में रोल्स रॉयस के खिलाफ रिश्वतखोरी के आरोपों की जांच कर रहा है. इस बीच रोल्स रॉयस ने कहा कि वह कोई गलत आचरण बर्दाश्त नहीं करेगी और कथित रिश्वत मामले में भारतीय अधिकारियों को पूरी तरह सहयोग करेगी. रक्षा मंत्रालय के सूत्रों ने कहा कि सरकारी स्वामित्व वाली हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) को विमानों के इंजनों की आपूर्ति के लिए 10,000 करोड़ रूपये के ठेकों में रिश्वतखोरी के आरोपों में रक्षा मंत्री ए के एंटनी द्वारा सीबीआई जांच के आदेश के चलते रोल्स रॉयस के साथ सभी करारों पर रोक लगा दी गई है.

 

रोल्स रॉयस ने छह तरह के विमानों – एजेटी हॉक, जगुआर, एवरो, किरन एमके-2 और सी हैरियर तथा सी किंग हेलीकॉप्टरों के लिए इंजनों की आपूर्ति की थी और वायु सेना को इनके रखरखाव तथा मरम्मत के लिए कंपनी के साथ करार करना था.

 

रक्षा मंत्रालय के उच्च अधिकारियों ने यहां पीटीआई से कहा कि एचएएल से लंदन की कंपनी रोल्स रॉयस से वह रकम भी वसूलने के लिए कार्रवाई करने को कहा गया है जो उसने कमीशन एजेंटों को अदा की थी. लेकिन इस सौदे को रद्द करने का असर ये होगा कि जो इंजन आ चुके हैं उनका मेंटनेंस प्रभावित होगा. बताया जा रहा है कि 70 जेट ट्रेनर पर सौदा रद्द करने का असर होगा.