लालू और मुलायम पिंक रिवॉल्यूशन करने वालों का साथ दे रहे हैं: मोदी

By: | Last Updated: Wednesday, 2 April 2014 12:56 PM

नवादा: चुनाव के दिन नज़दीक आने के साथ ही बीजेपी के पीएम पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी का हमला अपने विरोधियों पर तेज़ और तीखे होते जा रहे हैं.

 

मोदी बिहार के नवादा में तथाकथित ‘गुलाबी क्रांति’ के बहाने मुसलमानों का वोट पाने वाली पार्टियों पर जमकर बरसे.

 

मोदी मांस निर्यात का ज़िक्र करते हुए यूपीए सरकार पर जमकर बरसे. उन्होंने कहा, “आज की दिल्ली की सरकार को न हरित क्रांति चाहि, न श्वेत क्रांति चाहिए. उसका बीड़ा उठाया है पिंक रिवॉल्यूशन. आपको मालूम है कि पिंक रिवॉल्यूशन क्या है? जरा बताई.. मालूम है? मालूम है? यह तो इनका कमाल है देश को अंधेरे में रखा है. उनको समर्थन करने वाले उत्तर प्रदेश के मुलायम सिंह जी से मैं पूछना चाहता हूं. बिहार के लालू जी से पूछना चाहता हूं. आप ऐसे लोगों को समर्थन क्यों करते हो जो पिंक रिवॉल्यूशन करना चाहते हैं.”

 

मोदी आगे कहते हैं, “पिंक रिवॉल्यूशन का मतलब होता है. वह इस देश में गुलाबी क्रांति करना चाहते हैं. और गुलाबी क्रांति का मतलब होता है. जब पशु काटते हैं और उसके मांस का जो कलर होता है ना . उसको ये पिंक रिवॉल्यूशन कहते हैं.”

 

मोदी ने कहा है कि देश के कई हिस्सों में बड़े बड़े कसाईखाने हैं.

 

बीजेपी के पीएम पद के उम्मीदवार ने कहा, “दिल्ली सरकार उस शख्स को सब्सिडी नहीं देती जो गाय पालना चाहती है, लेकिन जो लोग कसाईखाने को बढ़ावा देते हैं, उन्हें सब्सिडी दी जाती है.”

 

मोदी के इस बयान पर एबीपी न्यूज़ के कार्यकारी संपादक विजय विद्रोही का कहना है कि देश में कई ऐसे बुचड़खाने हैं जिनके मालिक हिंदू हैं. लेकिन मोदी का यह बयान सांप्रदायिकता को हवा देने वाला है.

 

लेकिन बीजेपी के नेता प्रभात झा का कहना है कि इसमें सांप्रदायिकता जैसी बात कोई नहीं है.