लौटन राम भाजपा छोड़ सपा में शामिल

लौटन राम भाजपा छोड़ सपा में शामिल

By: | Updated: 04 May 2014 02:31 PM
लखनऊ: भाजपा नेता और राष्ट्रीय निषाद संघ (एनएएफ) के सचिव लौटन राम निषाद भाजपा को अलविदा कहकर समाजवादी पार्टी (सपा) में शामिल हो गए. भाजपा मछुआरा प्रकोष्ठ के पूर्व प्रदेश संयोजक निषाद ने पार्टी छोड़ने का कारण 17 अतिपिछड़ी जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल करने की मांग को पार्टी के घोषणापत्र में शामिल न किया जाना बताया है.

 

खास बात यह कि अब तक सपा और मुलायम सिंह यादव की कड़ी आलोचना करने वाले निषाद ने अब निषाद, बिंद, केवट, मल्लाह, धीवर, कश्यप, कहार, राजभर व प्रजापति समाज से सपा प्रत्याशियों को जिताने की अपील की है. निषाद ने आरोप लगाया कि भाजपा में काम करने वालों को नहीं, गणेश परिक्रमा करने वालों को स्थान व पद मिलता है.

 

उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में किसी भी प्रजापति, कायस्थ, जायसवाल, चौहान या बिंद को भाजपा ने टिकट नहीं दिया और पूर्वाचल में इनके साथ निषाद को भी खारिज कर दिया, जबकि पूर्वाचल की 33 लोकसभा क्षेत्रों में 1.5 से 4.00 लाख तक निषाद, बिंद, कश्यप, केवट, मल्लाह व चौहान मतदाता हैं.

 

निषाद ने कहा कि वह पार्टी नेतृत्व से सामाजिक समीकरण को साधने व अतिपिछड़ों के आरक्षण के मुद्दे को घोषणा-पत्र में शामिल करने की बात करते रहे, लेकिन पार्टी ने नजरअंदाज कर दिया.

 

निषाद ने पार्टी के टिकट वितरण पर सवाल उठाया कि जब मोदी के नाम पर लहर चल रही है तो 17 दलबदलुओं व दागियों को टिकट क्यों दिया गया?

 

उन्होंने कहा कि पूर्वाचल की 15-16 सीटों पर प्रभावी कुर्मी जाति को भी भाजपा ने दरकिनार कर दिया. वाराणसी में 1.72 लाख से अधिक निषाद, केवट, मल्लाह, बिंद मतदाता हैं. पर वाराणसी में मोदी को जिताने के लिए 1.50 लाख वोट के चक्कर में अपना दल से गठबंधन कर मिर्जापुर में ओम प्रकाश सिंह पटेल को दरकिनार कर दिया गया.

 

निषाद ने यह सवाल भी उठाया कि जब पार्टी कह रही है कि मोदी की लहर है, सुनामी है तो उसे अपना दल से गठबंधन की जरूरत क्यों पड़ी?

 

उन्होंने आरोप लगाया कि मीडिया पर अरबों रुपया खर्च कर प्रायोजित तरीके से मोदी का साक्षात्कार प्रसारित कर जनता को बेवकूफ बनाया जा रहा है, जबकि सच्चाई कुछ और है. गुजरात मॉडल 'दूर के ढोल सुहाने' जैसा है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story जम्मू कश्मीर में आतंकी हमला, दो पुलिसकर्मी शहीद