वाराणसी: घाटों पर टॉक शो पर प्रतिबंध, बुद्धिजीवियों ने कहा अलोकतांत्रिक

वाराणसी: घाटों पर टॉक शो पर प्रतिबंध, बुद्धिजीवियों ने कहा अलोकतांत्रिक

By: | Updated: 28 Apr 2014 04:48 AM

वाराणसी: वाराणसी में गंगा घाटों पर टीवी चैनलों द्वारा आयोजित किए जा रहे राजनीतिक टॉक शो पर जिला प्रशासन ने प्रतिबंध लगा दिया है. जिला प्रशासन के इस कदम को शहर के बुद्धिजीवियों ने हालांकि अलोकतांत्रिक करार दिया है. जिला प्रशासन ने यह कदम, पिछले गुरुवार को अस्सी घाट पर एक टॉक शो के दौरान आम आदमी पार्टी (आप) के नेता सोमनाथ भारती पर कथित रूप से बीजेपी कार्यकर्ताओं द्वारा किए गए हमले के बाद उठाया है.

 

प्रशासन ने पुलिस अधिकारियों को जारी संदेश में कहा है कि 24 अप्रैल की रात अस्सी घाट पर घटी घटना के मद्देनजर अब गंगा घाटों पर कोई राजनीतिक टॉक शो नहीं होगा. प्रशासन द्वारा जारी निर्देश में यह भी कहा गया है कि कुछ चैनलों द्वारा टॉक शो आयोजित करने की तैयारी करने की जानकारी मिली है. यदि ऐसा होता है तो संबंधित थानों के प्रभारी जिम्मेदार होंगे.

 

अपर जिलाधिकारी नगर, एम.पी. सिंह के कार्यालय से जारी निर्देश में कहा गया है कि बिना अनुमति के किसी ने भी गंगा घाट पर टॉक शो किया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. वरिष्ठ कवि, विचारक ज्ञानेंद्र पति ने जिला प्रशासन के इस कदम को अलोकतांत्रिक करार दिया है. उन्होंने आईएएनएस से कहा, "आखिर लोकतंत्र में बहस की गुंजाइश तो होनी चाहिए. रही सुरक्षा की बात तो वह प्रशासन की जिम्मेदारी है और वह तय करे कि कोई कार्यक्रम सुरक्षित तरीके से कैसे हो सकता है. लेकिन किसी आयोजन पर प्रतिबंध लगा देना पूरी तरह अलोकतांत्रिक है."

 

काशी हिंदू विश्वविद्यालय के भूगोल विभाग में प्रोफेसर, समाजवादी चिंतक आनंद दीपायन कहते हैं कि जिस तरीके से टीवी चैनल टॉक शो कर रहे हैं, वह गलत है. वाराणसी इस समय संवेदनशील है, और सुरक्षा का बड़ा प्रश्न है. टॉक शो हों लेकिन उसका तरीका प्रशासन तय करे. वरिष्ठ कवि, गीतकार हरिराम द्विवेदी भी प्रोफेसर आनंद से सहमति जताते हैं. वह कहते हैं, "वाराणसी में जो कुछ हो रहा है, ठीक नहीं है. प्रशासन से लेकर, नागरिक और मीडिया, राजनेता, हर जगह गड़बड़ी है. ऐसे में सुरक्षा का बड़ा सवाल है. लेकिन लोकतंत्र भी है. सबका समुचित ख्याल रखा जाना चाहिए."

 

बहरहाल, प्रशासन के इस कदम के बाद गंगा घाटों पर रात की रौनक समाप्त हो गई है. वाराणसी में लोकसभा चुनाव 12 मई को होना है. बीजेपी के नरेंद्र मोदी, 'आप' के अरविंद केजरीवाल और कांग्रेस के अजय राय प्रमुख उम्मीदवार के रूप में मैदान में हैं.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story नसीमुद्दीन सिद्दीकी की 'घरवापसी' के बाद कांग्रेस में उठने लगे विरोध के स्वर